अन्य

    रेलवे ने देश में कहीं भी ट्रेन सेवाएं बंद करने को लेकर कह दी बड़ी बात

    नई दिल्ली (इंडिया न्यूज रिपोर्टर)। देश में कोरोना की दूसरी लहर और कई राज्यों में कर्फ्यू के बाद रेल मंत्रालय स्पष्ट किया है कि इसका असर फिलहाल रेल सेवाओं पर नहीं पड़ेगा।

    रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने जानकारी देते हुए कहा कि रेल मंत्रालय के समक्ष अभी तक किसी भी राज्य ने रेलगाड़ियों के परिचालन को स्थगित करने की मांग नहीं उठाई है। ट्रेन सेवाओं को कोविड से पूर्व स्तर के 70 प्रतिशत तक बहाल कर दिया है।

    इसके साथ ही उन्होंने बताया कि देशभर के विभिन्न स्थानों पर कोविड-19 के मरीजों को रखने के लिए 4000 आइसोलेशन कोच तैयार किए हैं।

    रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने कहा कि राज्यों ने जहां कहीं भी कंटेनमेंट जोन वाले स्थानों को लेकर चिंता जताई है, रेलवे ने ऐसे स्थानों पर जाने वाले यात्रियों को राज्य सरकारों के दिशा निर्देशों का पालन करने की सलाह दी है।

    उन्होंने कहा कि रेलवे आईआरसीटीसी की ई-टिकटिंग वेबसाइट के माध्यम से यात्रियों को राज्य सरकारों की मांग के अनुरूप यात्रा करते समय आरटी-पीसीआर परीक्षण या कोविड-19 की जांच की नकारात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए जागरूक कर रहा है।

    भारतीय रेलवे वर्तमान में प्रतिदिन औसतन 1,490 मेल और एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनें और 5,397 उपनगरीय ट्रेन सेवाएं चला रही है। उन्होंने कहा कि हम अधिक मांग वाली ट्रेनों की 28 क्लोन ट्रेनें और 947 यात्री ट्रेनों भी चला रहे हैं। कुल मिलाकर ट्रेन सेवाओं को कोविड से पूर्व स्तर के 70 प्रतिशत तक बहाल कर दिया है।

    उन्होंने कहा, देश भर में अतिरिक्त भीड़ की सुविधा के लिए रेलवे 140 अतिरिक्त ट्रेनों का संचालन कर रहा है। यह रेलगाड़ियां अप्रैल-मई के दौरान 483 फेरे लगाएंगी। यह रेलगाड़ियां अधिक मांग वाले शहरों जैसे गोरखपुर, पटना, दरभंगा, वाराणसी, गुवाहाटी, मंडुआडीह, बरौनी, प्रयाग राज, बोकारो, रांची, लखनऊ, कोलकाता और भागलपुर के लिए चलाई जा रही हैं।

    इसके अलावा पिछले वर्ष की तर्ज पर श्रमिकों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने के लिए एक बार फिर श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने संबंधी एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है। जहां भी मांग और आवश्यकता होगी, वहां ट्रेनें चलाई जाएंगी।

    शर्मा ने कहा कि इस वर्ष भी रेलवे ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर देशभर के विभिन्न स्थानों पर कोविड-19 के मरीजों को रखने के लिए 4000 आइसोलेशन कोच तैयार किए हैं।

    उन्होंने कहा, हमें महाराष्ट्र के नंदुरबार से 100 से अधिक आइसोलेशन कोच की मांग मिली है और हमने 20 आइसोलेशन कोच उपलब्ध करा दिए हैं। रेलवे मुंबई, गुजरात, कर्नाटक के सभी स्टेशनों पर कड़ी नजर रखे हुए है और जहां भी मांग अधिक है, जोनल महाप्रबंधकों को और ट्रेनें चलाने के लिए अधिकृत किया गया है।

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Expert Media News_Youtube
    Video thumbnail
    झारखंड की राजधानी राँची में बवाल, रोड़ेबाजी, लाठीचार्ज, फायरिंग
    04:29
    Video thumbnail
    बिहारः 'विकासपुरुष' का 'गुरुकुल', 'झोपड़ी' में देखिए 'मॉडर्न स्कूल'
    06:06
    Video thumbnail
    बिहारः विकास पुरुष के नालंदा में देखिए गुरुकुल, बेन प्रखंड के बीरबल बिगहा मॉडर्न स्कूल !
    08:42
    Video thumbnail
    राजगीर बिजली विभागः एसडीओ को चाहिए 80 हजार से 2 लाख रुपए तक की घूस?
    07:25
    Video thumbnail
    देखिए लालू-राबड़ी पुत्र तेजप्रताप यादव की लाईव रिपोर्टिंग- 'भागा रे भागा, रिपोर्टर दुम दबाकर भागा !'
    06:51
    Video thumbnail
    गुजरात में चरखा से सूत काट रहे हैं बिहार के मंत्री शहनवाज हुसैन
    02:13
    Video thumbnail
    एक छोटा बच्चा बता रहा है बड़ी मछली पकड़ने सबसे आसान झारखंडी तारीका...
    02:21
    Video thumbnail
    शराबबंदी को लेकर अब इतने गुस्से में क्यों हैं बिहार के सीएम नीतीश कुमार ?
    01:30
    Video thumbnail
    अब महंगाई के सबाल पर बाबा रामदेव को यूं मिर्ची लगती है....!
    00:55
    Video thumbnail
    यूं बेघर हुए भाजपा के हनुमान, सड़क पर मोदी-पासवान..
    00:30