More
    10.1 C
    New Delhi
    Monday, January 17, 2022
    अन्य

      जगन्नाथ मंदिर 25 जुलाई तक बंद, इस दौरान 8 दरवाजों पर चढ़ेगी 2 टन चांदी की परत

      इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। हिन्दू श्रद्धालुओं का विश्व प्रसिद्ध पुरी जगन्नाथ मंदिर के दरवाजे आम लोगों के लिए अब 25 जुलाई को खुलेंगे।

      इसकी जानकारी देते हुए मुख्य प्रशासक कृष्ण कुमार ने बताया कि यह निर्णय श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) की बैठक में लिया गया।

      उन्होंने कहा कि मंदिर 15 जून तक भक्तों के लिए बंद था, जिसे 25 जुलाई तक बढ़ा दिया गया। रथ यात्रा उत्सव पूरा होने के दो दिन बाद मंदिर जनता के लिए खुलेगा। भगवान बलभद्र, देवी सुभद्रा और भगवान जगन्नाथ 23 जुलाई को नौ दिवसीय रथयात्रा उत्सव के बाद मंदिर लौटेंगे।

      उन्होंने कहा, ‘‘भक्तों को दो दिन बाद मंदिर में प्रवेश करने का अवसर मिलेगा।’’ हालांकि, एसजेटीए 24 या 25 जुलाई को फिर से बैठक करेगा और मौजूदा स्थिति के आधार पर जनता को अनुमति देने पर फैसला करेगा।

      24 जून को स्नान यात्रा (स्नान उत्सव) और 12 जुलाई को रथ यात्रा राज्य सरकार के निर्णय के अनुसार भक्तों के बिना, कोविड-19 दिशानिर्देशों के पालन के साथ आयोजित की जाएगी। रथ यात्रा सुरक्षा कर्मियों की मौजूदगी में सेवादारों की भागीदारी से होगी।

      उन्होंने कहा कि उत्सव में भाग लेने वाले सेवकों को टीकाकरण की दोनों खुराकों का प्रमाण पत्र या कोविड निगेटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी।

      जिलाधिकारी समर्थ वर्मा के अनुसार त्योहार के दौरान पुरी में निषेधाज्ञा लागू की जाएगी। एसजेटीए ने एक अलग बैठक में जगन्नाथ मंदिर में आठ दरवाजों पर चांदी की परत चढ़ाने के लिए दो समितियों का गठन करने का भी निर्णय लिया।

      उन्होंने बताया कि उनमें से एक तकनीकी समिति होगी और दूसरी सेवादारों का प्रतिनिधित्व करेगी। एक दानदाता चांदी प्रदान करेगा। लगभग दो टन धातु का उपयोग होने की संभावना है।

      LEAVE A REPLY

      Please enter your comment!
      Please enter your name here