Home India पश्चिम बंगालः ब्रजपात से 20 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया...

पश्चिम बंगालः ब्रजपात से 20 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

0
63

आगामी 11 जून को पश्चिम बंगाल की खाड़ी के उत्तर में निम्न दबाव के क्षेत्र की उत्पत्ति होगी। उसी निम्न दबाव के साथ मानसूनी बारिश पश्चिम बंगाल में दस्तक देगी.

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। कोलकाता समेत पश्चिम पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों में सोमवार शाम हुई बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से छह लोगों की मौत हो गई। मुर्शिदाबाद में पांच व हुगली में एक व्यक्ति की मौत की खबर है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मरने वाले सभी खेतों में काम कर रहे थे।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : कोलकाता समेत पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों में सोमवार शाम हुई बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से 20 लोगों की मौत हो गई जबकि कई जख्मी हो गए। दक्षिण पश्चिम बंगाल के कोलकाता समेत कई जिलों में भारी वज्रपात और तेज बारिश भी हुई है। बिजली गिरने से राज्य के मुर्शिदाबाद में 9, हुगली में 9 और पश्चिम मिदनापुर जिले में 2 लोगों की मौत हुई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वज्रपात से हुई मौतों पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि पश्चिम बंगाल में वज्रपात में अपने प्रियजनों को खोने वालों के प्रति मेरी संवेदनाएं। मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

दूसरी तरफ बारिश होने से कोलकाता समेत विभिन्न जिलों के लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिली है। अलीपुर मौसम कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार आगामी 11 जून को पश्चिम बंगाल की खाड़ी के उत्तर में निम्न दबाव के क्षेत्र की उत्पत्ति होगी। उसी निम्न दबाव के साथ मानसूनी बारिश पश्चिम बंगाल में दस्तक देगी।

मौसम कार्यालय के अनुसार मानसून इस साल देशभर में सामान्य रहेगा, हालांकि पश्चिम बंगाल, बिहार व असम के कुछ जिलों में सामान्य से थोड़ी कम बारिश हो सकती है। कोलकाता में सोमवार दोपहर बाद से आसमान में काले बादल घुमड़ने लगे थे और थोड़ी देर में बादलों की गरज के साथ बारिश शुरू हो गई।

इस दौरान तेज हवाएं चलीं। इससे पहले दिन भर लोग उमह भरी गर्मी से परेशान थे। कुछ जिलों में आंधी-तूफान भी आया, जिससे कुछ घरों को नुकसान पहुंचा है।

गौरतलब है कि चक्रवात ‘यास’ के बाद से ही पश्चिम बंगाल में उमस भरी गर्मी का दौर शुरू हो गया था। कोलकाता में लोग पसीने से तरबतर हो रहे थे। पारा भी दिन-ब-दिन चढ़ता जा रहा था। मानसून के आगमन से पहले हुई इस बारिश से लोगों को थोड़ी राहत मिली है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here