अन्य

    अंततः जिंदगी के ‘कुरुक्षेत्र’ का ‘दंगल’ हार गए के रोहित सरदाना

    आजतक के प्राइम टाइम शो ‘दंगल’ के एंकर के तौर पर रोहित ने टीवी एंकरिंग में वह मुकाम हासिल किया, जो बहुत कम लोगों को हासिल हुआ है….

    इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। जाने-माने टीवी जर्नलिस्ट एवं ‘आजतक’ के मूविंग एंकर रोहित सरदाना का शुक्रवार को निधन हो गया है। कोरोनावायरस (कोविड-19) की चपेट में आने के बाद उन्हें गुरुवार को मेट्रो अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां शुक्रवार की सुबह उन्हें दिल का दौरा पड़ा और निधन हो गया। उनके परिवार में उनकी पत्नी और दो बेटियां हैं।

    मूल रूप से हरियाणा के कुरुक्षेत्र के रहने वाले सरदाना ने अपनी माध्यमिक शिक्षा यहां के गीता निकेतन आवसीय विद्यालय से की। सरदाना मनोविज्ञान में स्नातक और गुरु जम्भेश्वर यूनिवर्सिटी से मासकॉम में पोस्ट ग्रेजुएट (परास्नातक) थे।

    न्यूज एंकर होने के साथ-साथ वे एक स्तंभकार भी थे। देश के चर्चित मुद्दों पर डिबेट शो के साथ-साथ वे उन पर अपनी कलम भी लगातार चलाते रहते थे।

    मार्च 2002 से जुलाई 2003 तक सरदाना ने एक ट्रेनी कॉपी एडिटर के रूप में ईटीवी के साथ अपने पत्रकारिता करियर की शुरुआत की थी। ट्रेनी कॉपी एडिटर के तौर पर सरदाना ने एंकरिंग, कापी राइटिंग, एडिटिंग, प्रॉडक्शन और पोस्ट-प्रॉडक्शन वर्क की बारिकियों को सीखा।

    साल 2003 से 2004 तक वे ‘सहारा समय’ में असिसटेंट प्रड्यूसर के तौर रहे, लेकिन 2004 में वे जी न्यूज में आ गए थे और खुद को एग्जिक्यूटिव एडिटर और एंकर के रूप में स्थापित किया।

    ‘ईटीवी’, ‘सहारा समय’ और ‘जी न्यूज’ के अतिरिक्त सरदाना ने ‘आकाशवाणी’ के लिए भी काम किया था। करियर के शुरुआत में उन्होंने कई अखबारों के लिए लेख भी लिखे थे।  2017 में ‘आजतक’ के साथ जुड़ गए थे और तब से वे यहीं थे।

    हिंदी, अंग्रेजी और हरियाणवी के अतिरिक्त वे गुजराती भी जानते थे। पत्रकारिता में बेहतरीन योगदान के लिए उन्हें बेस्ट न्यूज एंकर का ENBA अवॉर्ड, माधव ज्योति सम्मान, सैनसुई बेस्ट न्यूज प्रोग्राम अवॉर्ड समेत कई पुरस्कारों से नवाजा जा चुका था।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here