रेलवे ने देश में कहीं भी ट्रेन सेवाएं बंद करने को लेकर कह दी बड़ी बात

नई दिल्ली (इंडिया न्यूज रिपोर्टर)। देश में कोरोना की दूसरी लहर और कई राज्यों में कर्फ्यू के बाद रेल मंत्रालय स्पष्ट किया है कि इसका असर फिलहाल रेल सेवाओं पर नहीं पड़ेगा।

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने जानकारी देते हुए कहा कि रेल मंत्रालय के समक्ष अभी तक किसी भी राज्य ने रेलगाड़ियों के परिचालन को स्थगित करने की मांग नहीं उठाई है। ट्रेन सेवाओं को कोविड से पूर्व स्तर के 70 प्रतिशत तक बहाल कर दिया है।

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि देशभर के विभिन्न स्थानों पर कोविड-19 के मरीजों को रखने के लिए 4000 आइसोलेशन कोच तैयार किए हैं।

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने कहा कि राज्यों ने जहां कहीं भी कंटेनमेंट जोन वाले स्थानों को लेकर चिंता जताई है, रेलवे ने ऐसे स्थानों पर जाने वाले यात्रियों को राज्य सरकारों के दिशा निर्देशों का पालन करने की सलाह दी है।

उन्होंने कहा कि रेलवे आईआरसीटीसी की ई-टिकटिंग वेबसाइट के माध्यम से यात्रियों को राज्य सरकारों की मांग के अनुरूप यात्रा करते समय आरटी-पीसीआर परीक्षण या कोविड-19 की जांच की नकारात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए जागरूक कर रहा है।

भारतीय रेलवे वर्तमान में प्रतिदिन औसतन 1,490 मेल और एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनें और 5,397 उपनगरीय ट्रेन सेवाएं चला रही है। उन्होंने कहा कि हम अधिक मांग वाली ट्रेनों की 28 क्लोन ट्रेनें और 947 यात्री ट्रेनों भी चला रहे हैं। कुल मिलाकर ट्रेन सेवाओं को कोविड से पूर्व स्तर के 70 प्रतिशत तक बहाल कर दिया है।

उन्होंने कहा, देश भर में अतिरिक्त भीड़ की सुविधा के लिए रेलवे 140 अतिरिक्त ट्रेनों का संचालन कर रहा है। यह रेलगाड़ियां अप्रैल-मई के दौरान 483 फेरे लगाएंगी। यह रेलगाड़ियां अधिक मांग वाले शहरों जैसे गोरखपुर, पटना, दरभंगा, वाराणसी, गुवाहाटी, मंडुआडीह, बरौनी, प्रयाग राज, बोकारो, रांची, लखनऊ, कोलकाता और भागलपुर के लिए चलाई जा रही हैं।

इसके अलावा पिछले वर्ष की तर्ज पर श्रमिकों को उनके गृह राज्य तक पहुंचाने के लिए एक बार फिर श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने संबंधी एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है। जहां भी मांग और आवश्यकता होगी, वहां ट्रेनें चलाई जाएंगी।

शर्मा ने कहा कि इस वर्ष भी रेलवे ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर देशभर के विभिन्न स्थानों पर कोविड-19 के मरीजों को रखने के लिए 4000 आइसोलेशन कोच तैयार किए हैं।

उन्होंने कहा, हमें महाराष्ट्र के नंदुरबार से 100 से अधिक आइसोलेशन कोच की मांग मिली है और हमने 20 आइसोलेशन कोच उपलब्ध करा दिए हैं। रेलवे मुंबई, गुजरात, कर्नाटक के सभी स्टेशनों पर कड़ी नजर रखे हुए है और जहां भी मांग अधिक है, जोनल महाप्रबंधकों को और ट्रेनें चलाने के लिए अधिकृत किया गया है।

लेट्स्ट न्यूज़

EMN_Youtube वीडियो न्यूज़
Video thumbnail
कौन है यह युवती, जो सीएम-पीएम की बजाकर सोशल मीडिया पर गरदा मचा रही है ?
05:18
Video thumbnail
एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क टीम से जुड़े, साथ चलें-आगे बढ़ें....
00:22
Video thumbnail
देखिए अपराधियों के हवाले सीएम नीतीश का नालंदा...
03:07
Video thumbnail
वीकली वायरल हिट वीडियो- "आया कोरोना काल रे"
03:27
Video thumbnail
नालंदाः सरेराह अपहरण, लूट, गैंगरेप, हत्या
03:29
Video thumbnail
नालंदाः पंच को ही सरेराह गोली मारकर कर दी हत्या
02:21
Video thumbnail
सीएम नीतीश कुमार का नालंदाः महादलित बेटी संग गेंगरेप, हत्या, रेलवे ट्रैक पर फेंकी शव, आक्रोश
03:09
Video thumbnail
देखिए वीडियोः महिला संग छेड़खानी-अर्धनग्न कर पिटाई के विरोध में सड़क जाम, पथराव, 4 पुलिसकर्मी जख्मी
03:35
Video thumbnail
देखिए वीडियोः मेला बंद कराने प्रशासन टीम और ग्रामीणों के बीच जबरदस्त भिड़ंत, थानेदार समेत कई जख्मी
02:32
Video thumbnail
सीएम हेमंत सोरेन की जुबानी सुनिए, 22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक कैसा होगा लॉकडाउन
04:14