भारत ने जीता चेन्नई टेस्ट, कप्तान कोहली ने तोड़ा कपिल देव का ये रिकॉर्ड

INR. चेन्नई में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को 317 रनों से हराकर भारत ने बड़ा कारनामा किया है। चेन्नई की टर्न होती इस पिच पर स्पिन गेंदबाजों का दबदबा रहा। मैच की दूसरी पारी में स्पिनर अक्षर पटेल ने 5 विकेट लिए।

अक्षर के अलावा अश्विन ने 3 और कुलदीप यादव ने भी 2 विकेट लिए। इंग्लैंड की ओर से दूसरी पारी में मोईन अली 43 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे।

भारत की इस जीत के बाद आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की रैंकिंग में भी काफी बदलाव देखने को मिले हैं। टीम इंडिया नंबर 4 से अब नंबर 2 पर के स्थान आ गई है, वहीं इंग्लैंड नंबर 2 से नंबर 4 पर नीचे खिसक गई है।

कोहली के नाम दर्ज हुआ ये अनूठा रिकॉर्ड
89 साल (1932-2021) के अपने टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में भारत की रनों के लिहाज से इंग्लैंड पर ये सबसे बड़ी जीत है।

टीम इंडिया ने इससे पहले साल 1986 में कपिल देव की कप्तानी में लीड्स में इंग्लैंड को 279 रनों से हराया था, लेकिन अब विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने इतिहास रचते हुए रनों के लिहाज से इंग्लैंड पर सबसे बड़ी टेस्ट जीत दर्ज कर ली है। इस मामले में विराट कोहली ने कपिल देव का रिकॉर्ड तोड़ दिया है।

अक्षर-अश्विन के स्पिन में फंसे इंग्लिश बल्लेबाज
अक्षर पटेल और रविचंद्रन अश्विन ने इंग्लैंड को अपने स्पिन जाल में फंसाकर भारत को दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच में 317 रनों से रिकॉर्ड जीत दिलाई, जिससे चार मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है। अक्षर पटेल ने दूसरी पारी 60 रन देकर पांच विकेट लिए।

ऐसा करने वाले वह छठे भारतीय हैं, जिन्होंने अपने पदार्पण मैच में पांच विकेट लिए हैं। भारत के लिए अपने डेब्यू टेस्ट में पांच विकेट लेने वाले सबसे पहले स्पिनर वीवी कुमार थे, जिन्होंने 1960/61 में दिल्ली में पाकिस्तान के खिलाफ 64 रन देकर पांच विकेट लिए थे।

भारत की और से दूसरी पारी में शतक जड़ने वाले अश्विन ने 53 रन देकर तीन विकेट हासिल किए जबकि कुलदीप यादव ने बाकी बचे दो विकेट लिए। जिसके बाद इंग्लैंड की टीम 482 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए चौथे दिन लंच के कुछ देर बाद 164 रन के कुल स्कोर पर ढेर हो गई।

धोनी के बराबर पहुंचे कोहली
भारत में अपनी कप्तानी में सबसे ज्यादा जीत का रिकॉर्ड इस जीत से पूर्व महेंद्र सिंह धोनी के नाम पर था। धोनी ने भारत को अपनी कप्तानी में 30 मैचों में से 21 में जीत दिलाई थी। विराट ने इस मामले में धोनी की बराबरी करते हुए अब 28 मैचों में ही 21वी जीत हासिल कर ली है।

कोहली अगले 2 टेस्ट मैचों में धोनी से आगे भी निकल सकते हैं। जीत के मामले में तीसरे पायदान पर मोहम्मद अजहरुद्दीन हैं, जिनके नाम 20 मैचों में 13 जीत है।

400 विकेट लेने के करीब पहुंचे अश्विन
पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट लेने के करीब पहुंच गए हैं।

इस टेस्ट मैच के बाद अश्विन के नाम अब 394 टेस्ट विकेट हो गए हैं, और 400 विकेट के आंकड़े तक पहुंचने में वे सिर्फ 6 विकेट दूर हैं। अश्विन से पहले भारत के लिए यह कारनामा अनिल कुंबले, हरभजन सिंह, और कपिल देव कर चुके हैं।

करिश्माई बल्लेबाज बने रोहित
सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने अपने टेस्ट करियर में अब तक सात शतक लगाए हैं और कमाल की बात यह है कि इन सातों शतक में भारत को जीत मिली है।

रोहित ने अपने टेस्ट क्रिकेट के सातों शतक अब तक भारत में ही लगाए हैं। 33 वर्षीय सलामी बल्लेबाज ने भारत के लिए अब तक कुल 36 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 61 पारियों में 45.83 की औसत से 2475 रन बनाए हैं।

संबंधित खबरें...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

अन्य खबरें