ट्रम्प की टिप्पणी के बाद टीवी चैनलों ने अचानक बंद कर दी चुनाव की लाइव कवरेज

ट्रंप ने ‘झूठ पर झूठ बोलने के बाद चुनाव चोरी होने के बारे में’ बिना किसी सबूत के ‘सिर्फ मुस्कुराते हुए’ बताया, जो खेदजनक है...

राजनामा.कॉम। अमेरिका के कई बड़े टीवी चैनल्स ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा चुनाव को लेकर की जा रही टिप्पणियों को सुनकर लाइव कवरेज को अचानक से बंद कर दिया।

अमेरिका के कई बड़े टीवी चैनल्स ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा चुनाव को लेकर की जा रही टिप्पणियों को सुनकर लाइव कवरेज को अचानक से बंद कर दिया।

टीवी चैनलों का आरोप है कि राष्ट्रपति ट्रम्प चुनावों में हो रही हार को देखते हुए कई मनगढ़ंत आरोप लगा रहे थे और चैनलों के जरिए झूठी सूचनाएं दे रहे थे।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव संपन्न होने के बाद यह डोनाल्ड ट्रंप का पहला सार्वजनिक संबोधन था।  अपने 17 मिनट के भाषण के दौरान ट्रम्प ने कई बार भड़काऊ बयान दिए और तथ्‍यहीन दावे किए थे।

उन्होंने जोर देकर कहा कि डेमोक्रेट्स ‘अवैध वोट’ का इस्तेमाल कर ‘हमसे चुनाव चोरी करने’ की कोशिश कर रहे हैं। ट्रम्प का यह बयान ऐसे समय में आया है जब चुनावी मैदान में उनके प्रतिद्वंद्वी और डेमोक्रेट्स उम्मीदवार जो बाइडेन जीत की ओर अग्रसर हैं।

MSNBC टीवी चैनल के एंकर ब्रेन विलियम्स ने लाइव कवरेज के दौरान दखल देते हुए कहा, ‘ठीक है, यहां हम फिर से अमेरिकी राष्ट्रपति के लाइव टेलिकास्ट को न सिर्फ बाधित कर रहे हैं, बल्कि उनकी बात दुरुस्त भी कर रहे हैं।’ इसके बाद नेटवर्क ने फौरन राष्ट्रपति के लाइव प्रोग्राम को बंद कर दिया।’

इस चैनल के अलावा NBC और  ABC न्यूज ने  भी राष्ट्रपति ट्रम्प के लाइव प्रोग्राम को बंद कर दिया।

CNN के जेक टैपर ने कहा, ‘संयुक्त राज्य अमेरिका के लोगों के लिए यह दुखद रात थी, जब लोगों ने राष्ट्रपति को चुनाव चोरी करने का झूठा आरोप लगाते देखा।’

उन्होंने कहा, राष्ट्रपति ने ‘झूठ पर झूठ बोलने के बाद चुनाव चोरी होने के बारे में’ बिना किसी सबूत के ‘सिर्फ मुस्कुराते हुए’ बताया, जो खेदजनक है।

कई अन्य चैनल्स का कहना है कि राष्ट्रपति ट्रम्प की बातों से ऐसा लग रहा था कि वो ‘पोस्टल मतों’ को ‘फ़्रॉड’ यानी धोखाधड़ी ठहरा रहे हैं और पूरी चुनाव प्रक्रिया पर ही सवाल खड़े कर रहे हैं।

ट्रम्प ने कहा था कि ये मेरी और पूरी दुनिया की जंग है। ये मेरे या बाइडन के चुनाव जीतने का मसला नहीं है, ये पूरी प्रक्रिया ही आज सवालों के घेरे में है।

ट्रम्प मतदान से पहले से ही अपने समर्थकों से कहते रहे हैं, वो पोस्टल वोट ना डालें, बल्कि खुद जाकर मतदान करें।

वहीं जो बाइडन ने अपने समर्थकों से कहा था वो कोरोना महामारी को देखते हुए अधिक-से-अधिक संख्या में पोस्टल मतों से ही वोटिंग करें।

संबंधित खबरें...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

अन्य खबरें