NEWS11 (न्यूज इलेवन) का ये कैसा आकड़ा

Share Button
झारखंड में भाजपा के समर्थन वापसी व राज्यपाल द्वारा मुख्यमंत्री शिबू सोरेन को एक सप्ताह के भीतर बहुमत साबित करने के बाद उत्पन्न राजनीतिक हालत को लेकर राँची के स्थानीय न्यूज चैनल “न्यूज इलेवन” पर पिछले चार-पांच घंटे से प्रसारित हो रहे ऐसे अनेक आकडे ऐसे है,जो मन -मस्तिष्क में काफी झुंझलाहट पैदा कर डालती है.

उदाहरणार्थ एक आंकड़ा देखिये जदयू के दो विधायक हैं लेकिन,पांच बताये जा रहे है.बंधू तिर्की अकेले निर्दलीय विधयक हैं लेकिन उनकी कंपनी में ६ विधायक घोषित है. तरस आता है न ऐसे प्रदर्शित आकड़े पर.
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

बिहारशरीफ में घुसा पंचाने नदी का पानी,नालंदा जिले में बाढ़ की स्थिति
शादी के बहाने बार-बार यूं बिकती हैं लड़कियां और नेता 'ट्रैफिकिंग' को 'ट्रैफिक' समझते
जंतर मंतर पर अब कैसे करेंगे अनशन अन्ना
पुलिस की पेशकश पर अब जेपी पार्क में अनशन करेगें अन्ना
राम ही खुद तय करेगें अयोध्या में मंदिर निर्माण की तारीखः योगी आदित्यनाथ
झारखंडी सत्ता का फिफ्टीकरण: ढाई साल तक "गुरूजी" मुख्यमंत्री और उसके बाद उनका बेटा हेमंत सोरेन बनेगा ...
पंचायत चुनाव और उग्रवाद पर दिखा झारखंड के "गुरूजी" का नया अन्दाज
बाबा रामदेव पर आया राखी सावंत का दिल, शादी की ईच्छा जताई
राहुल गांधी लापता !! अखबार में छपा विज्ञापन
बिहार:सुशासन मे छुपी है घोर कुशासन
कड़ी पुलिस व्यवस्था के बाबजूद पहुंच रहे अनशनकारियों का नजारा
झारखंड मे कांग्रेस ने कई इतिहास रचा : सुषमा स्वराज
आखिर खुद कायदा-क़ानून तोड़कर यह कैसा सन्देश देना चाहते हैं बिहार के " सुशासन बाबू" यानी मुख्यमंत्री नी...
मामला 365दिन चैनल के प्रमुख के अमर्यादित वयान का
नीतीश जी,ई नालंदा का डी.एम. का बोलता है?
'द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर' को लेकर हाई कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल
!!!!भारत को कहां ले जाना चाहती है ये अधकचरी महिलाएं!!!!
इस बार बड़े बदले नजर आए दिल्ली के हुजूर
प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !
वीडिय़ोः MP  ने मंत्री-पुलिस के सामने MLA को जूतों से यूं जमकर पीटा
श्रीलंका में 28 साल बाद खत्म हुआ आपातकाल
"मुख्यमंत्री शिबू सोरेन जी,ये आपके गांव के छोकडा लोग क्या कर रहा है? जरा बताईये न?
आखिर अन्ना इतने जिद्दी क्यों हैं !
सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बढेगी झारखण्ड मे सामाजिक कटुता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter