» ‘राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से SDO-DSP हटायेगें अतिक्रमण और DM-SP करेंगे मॉनेटरिंग’   » नालोशिप्रा का राजगीर सीओ को अंतिम आदेश, मलमास मेला सैरात भूमि को 3 सप्ताह में कराएं अतिक्रमण मुक्त   » नालंदा जिप अध्यक्षा के मनरेगा योजना के निरीक्षण के दौरान मुखिया सब लगे गिड़गिड़ाने, पूर्व विधायक लगे दबाने   » राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से हर हाल में हटेगा अतिक्रमण, प्रशासन सक्रिय   » JUJ के पत्रकारों को सुरक्षा और न्याय के संदर्भ में झारखंड DGP ने दिये कई टिप्स   » हदः रांची के एक अखबार के रिपोर्टर की हत्या कर उसके घर में यूं टांग दिया   » नालंदा लोशिनिप संजीव सिन्हा ने कहाः रेकर्ड सुरक्षित होगें, अगली तिथि जल्द, न्याय होगा   » रिटायर्ड सिपाही का बेटा लेफ्टिनेंट बन नगरनौसा का नाम किया रौशन   » नालंदा में गजब हो गया, अंतिम सुनवाई के दिन लोशिनिका से रेकर्ड गायब, मामला राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि का   » महागठबंधन की सरकार में महादलितों पर अत्याचार बढ़ाः जीतनराम मांझी  

JUJ के पत्रकारों को सुरक्षा और न्याय के संदर्भ में झारखंड DGP ने दिये कई टिप्स

Share Button

रांची (INR)। झारखंड के डीजीपी डी के पाण्डेय ने आज पत्रकारों को अपनी सुरक्षा और न्याय के हित में कई टिप्स दिये। डीजीपी ने आज राज्य में पत्रकारों की हो रही हत्या और उन पर बढ़ते हमले को लेकर मिलने आये झारखंड यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट के प्रतिनिधिमंडल से कहा कि इसके लिये सरकार और पुलिस विभाग की ओर से हर स्तर पर ऐसी व्यवस्था वहाल है, जिसका लाभ उठाया जाना चाहिये ।

उन्होंने पत्रकारों के 15 सदस्यीय सदस्य को संबोधित करते हुये कहा कि पत्रकारों की सुरक्षा को अपनी सुरक्षा के लिये विधि सम्मत प्रावधानों का भी सहारा लेनी चाहिये, जो कि व्यवस्था के हर स्तर पर खुला द्वार है।

उन्होनें कहा कि पत्रकारो की कलम जब अंग्रेजों को खदेड़ सकती है तो फिर ये असमाजिक लोग क्या बला हैं, चाहे वह पुलिस-प्रशासन से जुड़े हुये लोग ही क्यों न हों। पत्रकारों को मजबूती से खड़े होने की जरुरत है। 

जब संगठन के प्रतिनिधिमंडल ने डीजीपी से मांग किया कि झारखंड के सम्पूर्ण थानों को पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश भी लिखित रूप से दिया जाए तो इसकी प्रतिपुष्टि करते हुये डीजीपी ने कहा कि अगर संगठन के इस तरह के किसी भी सुझाव का स्वागत है और ऐसे प्रस्ताव विवरण प्राप्त होते ही झारखंड के सारे थानों को अपेक्षित ढंग से पुलिस मुख्यालय के द्वारा निर्देश जारी कर दिये जाएगें।

उन्होंने पत्रकारों की सुरक्षा के प्रति अपनी गंभीरता का परिचय देते हुये संगठन को अपना नीजि व्हाट्सएप्प नंबर भी दिया और कहा कि संगठन या उससे जुड़े कोई भी पत्रकार कभी भी कोई जरुरी सूचना सीधे भेज सकते हैं। उसे वे प्राप्त होते ही गंभीरता से लेगें और  ठोस समाधान करने की दिशा में हरसंभव कदम उठायेगें।

प्रतिनिधिमंडल में जेयूजे के प्रदेश अध्यक्ष रजत कुमार गुप्ता, महासचिव शिवकुमार अग्रवाल, वरिष्ठ पत्रकार लालन पांडेय, टीवी जर्नलिस्ट अरविंद प्रताप, राजनामा के सम्पादक मुकेश भारतीय, वरिष्ठ पत्रकार प्रताप सिंह, लालन पांडेय, रंगनाथ चौबे , रजनीकांत चौबे ,चंद्रकांत गिरी , काली चरण साहू, जावेद अख्तर , विजय मिश्रा सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X

Pin It on Pinterest

X
error: Content is protected ! india news reporter