INR डेस्क. यह बस कोलकाता से अमृतसर, लाहौर, पेशावर, ईरान फिर तुर्की से यूरोप जाती थी, उस समय इस बस का किराया एक सौ पचास पाउंड्स था और यह 48 दिनों में पूरा सफ़र करती थी।

ऐसी ही एक ट्रेन सेवा ट्रांस साइबेरियाई है जो साइबेरिया से चीन तक चलती है। यह ट्रेन सेवा मॉस्को से चलती है और साइबेरिया, मंगोलिया और रेगिस्तान गोबी से होते हुवे बीजिंग तक जाती है।

यह एक ऐसी आकर्षक यात्रा रही होगी कि जिसे कोई कभी नहीं भूल पाए होंगे।

इस तरह ये कलकत्ता-लंदन बस सेवा थी, विभिन्न सभ्यताओं के देशों से 48 दिनों में लंदन ले जाती थी।

ये बस सेवा जो वास्तव में एक कभी नहीं भूलने वाली यात्रा होगी क्यूंकि कमर दर्द, मांसपेशियों का जकड़ना और समंदर से ऊपर सफ़र के दौरान फेफड़ों में पानी का हिलना ऐसा अनुभव रहा होगा, जो मरते दम तक मुसाफिर नहीं भूल पाए होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here