IIMC तक पहुंची JNU की आंच, महंगी फीस का विरोध

Share Button

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रावास शुल्क में बढ़ोतरी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन विश्वविद्यालय परिसर में स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) में भी फैल गया है।

आईआईएमसी में छात्रों ने महंगी फीस के खिलाफ प्रदर्शन किया और दावा किया कि आईआईएमसी प्रशासन ने उनके मुद्दों पर “आंख बंद” कर ली है।

छात्रों के अनुसार उनका प्रदर्शन भारी शिक्षण शुल्क और “असंगत” छात्रवास तथा भोजनालय शुल्क के खिलाफ है। चूंकि आईआईएमसी एक सरकारी संस्थान है, इसे देखते हुए यह शुल्क बहुत अधिक है।

आईआईएमसी में अंग्रेजी पत्रकारिता की छात्र आस्था सव्यसाची ने कहा कि दस महीने के पाठ्यक्रम के लिए 1,68,500 रुपये देने पड़ते हैं, जबकि छात्रवास तथा भोजनालय का शुल्क अलग है।

उन्होंने कहा कि गरीब और मध्य वर्ग के छात्र इतनी फीस का भार नहीं उठा सकते हैं। इसके चलते कई छात्रों को पहले सेमेस्टर के बाद संस्थान छोड़ना पड़ता है।

एक छात्र ने बताया कि रेडियो और टीवी पत्रकारिता के डिप्लोमा पाठ्यक्रम की फीस 1,68,500 रुपये है, जबकि विज्ञापन तथा जनसंपर्क के लिए यह फीस 1,31,500 रुपये है।

हिंदी पत्रकारिता के लिए यह फीस 95,500 रुपये, अंग्रेजी पत्रकारिता के लिए यह फीस 95,500 रुपये और उर्दू पत्रकारिता के लिए 55,500 रुपये है।

छात्रावास और भोजनालय का शुल्क महिलाओं के लिए लगभग 6,500 रुपये प्रति माह और पुरुषों के लिए 4,800 रुपये प्रति माह है।

छात्रों की यह भी शिकायत है कि प्रत्येक छात्र को छात्रावास में जगह नहीं मिलती है।

इससे पहले जेएनयू में छात्रावास शुल्क में बढ़ोतरी के विरोध में भारी प्रदर्शन हुआ।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

......और तब ‘मिसाइल मैन’ 60 किमी का ट्रेन सफर कर पहुंचे थे हरनौत
....और तंत्रयान के प्रभाव बढ़ने से कम होने लगा नालन्दा का महत्व
सलमान खान को 5 साल की सजा, गए जोधपुर सेंट्रल जेल
आतंकियों का यूं शरणगाह बना है जमशेदपुर का यह इलाका !
लोकसभा चुनाव नहीं लड़ सकेंगे हार्दिक पटेल
...और एक फिल्म की शूटिंग ने राजगीर 'रोपवे' को दिला दी अंतरराष्ट्रीय पहचान
प्रसिद्ध भजन गायक की पुत्री-पत्नी समेत गला काटकर हत्या, लापता पुत्र का शव-कार जलाते एक धराया
लंदन दंगे में बाल-बाल बचे टीम इंडिया के प्रवीण,ईशांत,विराट और प्रज्ञान
‘सीएम नीतीश का माफिया कनेक्शन किया उजागर, अब पूर्व IPS को जान का खतरा’
धारा 120 बी के तहत दोषी लालू की सजाएं साथ चलेंगी या अलग-अलग, फैसला कोर्ट पर
सबाल "फिल्टर सिस्टम" का
भाजपा के 'शत्रु'हन सिन्हा का एलान- पटना साहिब से ही लड़ेगें चुनाव
राष्ट्रपति शासन की और बढ़ रहा है झारखंड
नागफनी के कांटो से घिरे झारखंड के मुख्यमंत्री: देखना है कि क्या कर पाते है?
झारखंड: झामुमो-भाजपा के बीच सत्ता का फिफ्टीकरण
शत्रु संपत्ति कानून संशोधन विधेयक से महमूदाबाद राज परिवार को झटका
बिहारः छठ के दौरान डूबने से 60 से अधिक लोगों की मौत
जी हां,ये हैं भारतीय मीडिया के खेवनहार या खिचड़ी परिवार
हदः रांची के एक अखबार के रिपोर्टर की हत्या कर उसके घर में यूं टांग दिया
कब तक चलेगी झारखंड मे गुरूजी की सरकार? मंत्रिमंडल गठन के बाद पार्टी मे भूचाल तो आवंटित विभाग के बाद ...
झारखण्ड मे पटना पुलिस हत्याकांड : खुलेगे कई राज
सुप्रीम कोर्ट से महेंद्र सिंह धोनी की अपील- 39 करोड़ दिलाएं मी लार्ड
झारखंड विधानसभा चुनाव:रांची जिला, मांडर क्षेत्र के उम्मीदवारो को मिले मत
ममता बनर्जी ने शुरु की 'भाजपा भारत छोड़ो आंदोलन'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter