» बच सकती थी एम्स में आग से हुई तबाही, अगर…   » तीन तलाक और अनुच्छेद 370 के बाद एक चुनाव कराने की तैयारी   » बोले रक्षा मंत्री-  अब सिर्फ POK पर होगी बात   » अफसरों से बोले नितिन गडकरी- ‘काम करो नहीं तो लोगों से कहूंगा धुलाई करो’   » तीन तलाक को राष्ट्रपति की मंजूरी, 19 सितंबर से लागू, यह बना कानून!   » तीन तलाक कानून पर कुमार विश्वास का बड़ा रोचक ट्विट….   » मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » बिहार के विश्व प्रसिद्ध व्यवसायी सम्प्रदा सिंह का निधन   » पत्नी की कंप्लेन पर सस्पेंड से बौखलाया था हत्यारा पुलिस इंस्पेक्टर   » कर्नाटक में सरकार गिरना लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय : मायावती  

अमर सिंह के साथ पूछताछ अन्याय : मुलायम

Share Button
मुश्किल में दोस्त ही काम देता है..
एक कहावत है कि पुरानी दोस्‍ती में भले ही कितनी भी दरार आ जाये मगर मुश्किल के समय में वही दोस्‍त काम आता है। और वैसे भी दोस्‍ती जब राजनीतिक स्‍तर पर हो। नोट के मामले वोट में फंसे अमर सिंह का जब किसी ने साथ नहीं दिया तो अंत में मुलायम सिंह‍ ने उनका हाथ थामा है। मुलायम सिंह ने अमर सिंह का साथ देते हुए कहा है कि दिल्ली पुलिस द्वारा अमर सिंह से वोट के बदले नोट मामले में पूछताछ करना अन्याय है और वह अमर सिंह की इस मामले में मदद करेगें ताकि वे इस इस संकट से बाहर आ सकें।
जानकारों की मानें तो इस बयान के बाद सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह चाहते हैं कि अमर सिंह फिर उनकी पार्टी में आ जायें मगर मुलायम सिंह ने ऐसे किसी भी संभावना को सिरे से नकार दिया है। आपको बताते चलें कि अमर सिंह को पिछले साल पार्टी से निकल दिया गया था। दिल्‍ली में मीडिया को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह ने कहा कि अमर सिंह के साथ जो कुछ भी किया जा रहा है वह अन्‍याय है और यह अमर सिंह और रेवती रमण को परेशान करने की साजिश है।
आक्रमक रूख अपनाते हुए मुलायम सिंह ने कहा कि कांग्रेस शायद अमर सिंह के अहसानों को भूल चुकी है। उन्‍होंने कहा कि अमर सिंह ने वर्ष 2008 में विश्वास मत के दौरान कांग्रेस की मदद की थी। इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी ने यूपीए सरकार के पक्ष में अपना मत दिया था। और अब इन अहसानों के परिणाम स्‍वरूप अमर सिंह से पूछताछ की जा रही है।
नोट के बदले वोट के बारे में मुलायम सिंह ने कहा कि मुझे सच पता है ओर वह यह है कि अमर सिंह भाजपा सांसदों को घूस देने में शामिल नहीं हैं। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बेहद चिंता में दिख रहे मुलायम सिंह यादव ने कहा कि हमलोगों ने कांग्रेस के पक्ष में वोट देकर कांग्रेस की सिर्फ मदद की थी। क्या हम लोगो सरकार में शामिल हुए? क्या रेवती सिंह और अमर सिंह मंत्री बन गए? अगर पैसों का लेनदेन होता तो मुझे इस बारे में जरुर पता होता।
गौरतलब है कि ऐसे में अचानक मुलासम सिंह का अमर सिंह के लिये नरम होना राजनीतिक गलियारे में चर्चा का विषय बन गया है। आपको मालूम ही होगा कि पार्टी से अलग होने के बाद दोनों ने आपस में एक दूसरे को कितनी खरी खोटी सुनाई थी। अब देखना यह है मुलायम सिंह द्वारा अमर सिंह के लिये दिखाई जाने वाली नरमी आगामी चुनाव में क्‍या रंग लायेगी।
Share Button

Related News:

पूर्व मंत्री की बेटी के रेप के आरोपी निखिल IAS बाप के साथ उतराखंड में धराया
मोदी-मनमोहन मिलन में यूं दिखा भारतीय लोकतंत्र की खूबसूरती
झारखण्ड:कोडा लूट-राज की जांच करने वालो के परिवारो पर आफत शुरू
नीतीश जी,ई नालंदा का डी.एम. का बोलता है?
गौर से पढिये राँची के दैनिक हिंदुस्तान / प्रभात खबर के खबरों को
इस भाजपा सांसद ने दी ठोक डालने की धमकी, ऑडियो वायरल, पुलिस बनी पंगु
नीतीश जी बने अंग्रेजी ब्लॉगर:फिलहाल मुख्यमंत्री साईकिल योजना पर एक पोस्ट लिखा,५४३ कमेन्ट मिले.
ईटीवी उर्दू के पत्रकार की दिनदहाड़े गोली मार कर दिल्ली में हत्या
हावड़ा से चलकर वाया जमशेदपुर, विलासपुर के रास्ते मुंबई की ओर जानेवाले यात्रीगण कृपया ध्यान दें
राष्टीय आंदोलन वनाम बाबा रामदेव और अन्ना हजारे
यशवंत सिन्हा ने भाजपा से तोड़ा नाता, बोले-खतरे में है लोकतंत्र
ऐ मेरे वतन के लोगों...जो शहीद हुए हैं उनकी,जरा याद करो कुर्बानी
बिहारशरीफ में गंदगी से लोगों को जीना मुश्किल,प्रशासन लापरवाह
भाजपा की हालत 'माल महाराज की और मिर्जा खेले होली' जैसीः ममता बनर्जी
ई है बिहार के "सुशासन बाबू" की कैसी "सुशासित नालन्दा नगरिया"!
अन्ना हजारे की मांगे सही नहीं हैः अरूंधती रॉय
तीन तलाक को राष्ट्रपति की मंजूरी, 19 सितंबर से लागू, यह बना कानून!
भाडे की ईंट,भाडे का रोडा :“गुरुजी” ने जोडा कुनबा
पेड पर पाँच बार चढो-उतरो और नौकरी लो :शिबू सोरेन
कर्नाटक के सीएम येदुरप्पा अवैध खनन मामले में 1800 करोड़ रु.के घोटाले के दोषी करार, फिर भी पद नहीं छो...
पाकिस्‍तान ने फिर पीठ में भोंका छुरा, दिया हिना रब्बानी को भारतीय सेना के 2 जवानों के सिर कलम का त...
कांग्रेस पर मोदी के तीखे वार और पांच राज्यों में बीजेपी के हार के मायने ?
दार्जिलिंग बन्द 32वें दिन जारी, स्थिति तनावपूर्ण
नहीं रहे जलेबी खाते-खाते पवन जैन से यूं बने मुनि तरुण सागर महाराज

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» तीन तलाक और अनुच्छेद 370 के बाद एक चुनाव कराने की तैयारी   » मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’  
error: Content is protected ! india news reporter