अमर सिंह के साथ पूछताछ अन्याय : मुलायम

Share Button
मुश्किल में दोस्त ही काम देता है..
एक कहावत है कि पुरानी दोस्‍ती में भले ही कितनी भी दरार आ जाये मगर मुश्किल के समय में वही दोस्‍त काम आता है। और वैसे भी दोस्‍ती जब राजनीतिक स्‍तर पर हो। नोट के मामले वोट में फंसे अमर सिंह का जब किसी ने साथ नहीं दिया तो अंत में मुलायम सिंह‍ ने उनका हाथ थामा है। मुलायम सिंह ने अमर सिंह का साथ देते हुए कहा है कि दिल्ली पुलिस द्वारा अमर सिंह से वोट के बदले नोट मामले में पूछताछ करना अन्याय है और वह अमर सिंह की इस मामले में मदद करेगें ताकि वे इस इस संकट से बाहर आ सकें।
जानकारों की मानें तो इस बयान के बाद सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह चाहते हैं कि अमर सिंह फिर उनकी पार्टी में आ जायें मगर मुलायम सिंह ने ऐसे किसी भी संभावना को सिरे से नकार दिया है। आपको बताते चलें कि अमर सिंह को पिछले साल पार्टी से निकल दिया गया था। दिल्‍ली में मीडिया को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह ने कहा कि अमर सिंह के साथ जो कुछ भी किया जा रहा है वह अन्‍याय है और यह अमर सिंह और रेवती रमण को परेशान करने की साजिश है।
आक्रमक रूख अपनाते हुए मुलायम सिंह ने कहा कि कांग्रेस शायद अमर सिंह के अहसानों को भूल चुकी है। उन्‍होंने कहा कि अमर सिंह ने वर्ष 2008 में विश्वास मत के दौरान कांग्रेस की मदद की थी। इतना ही नहीं समाजवादी पार्टी ने यूपीए सरकार के पक्ष में अपना मत दिया था। और अब इन अहसानों के परिणाम स्‍वरूप अमर सिंह से पूछताछ की जा रही है।
नोट के बदले वोट के बारे में मुलायम सिंह ने कहा कि मुझे सच पता है ओर वह यह है कि अमर सिंह भाजपा सांसदों को घूस देने में शामिल नहीं हैं। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बेहद चिंता में दिख रहे मुलायम सिंह यादव ने कहा कि हमलोगों ने कांग्रेस के पक्ष में वोट देकर कांग्रेस की सिर्फ मदद की थी। क्या हम लोगो सरकार में शामिल हुए? क्या रेवती सिंह और अमर सिंह मंत्री बन गए? अगर पैसों का लेनदेन होता तो मुझे इस बारे में जरुर पता होता।
गौरतलब है कि ऐसे में अचानक मुलासम सिंह का अमर सिंह के लिये नरम होना राजनीतिक गलियारे में चर्चा का विषय बन गया है। आपको मालूम ही होगा कि पार्टी से अलग होने के बाद दोनों ने आपस में एक दूसरे को कितनी खरी खोटी सुनाई थी। अब देखना यह है मुलायम सिंह द्वारा अमर सिंह के लिये दिखाई जाने वाली नरमी आगामी चुनाव में क्‍या रंग लायेगी।
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

झारखंड के राज्यपाल ने नियम और परंपरा को ताक पर रखा
बजट सत्र के बाद बदल जाएगा देश की उपरी सदन राज्यसभा का रंग
ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !
"ये झारखंड प्रधान है. !!"
झारखंड विधानसभा चुनाव:रांची जिला, हटिया क्षेत्र के उम्मीदवारो को मिले मत
"झारखण्ड:उग्रवादियों से सांठ-गांठ कर अपना प्रभाव है इसाई मिशनरियां"
झारखंड मे पेसा अधिनियम को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर उठ रहे सवाल : वेशक ये कानून अन्धा है?
राष्ट्रपति ने राजीव गांधी के हत्यारों की दया याचिका खारिज करने में 5 वर्ष लगाए !
अन्ना हजारे को जेपी पार्क में मात्र 3 दिन की अनशन की सशर्त अनुमति
बाल-राज ठाकरे देशद्रोही दिमाग वाले : नीतीश कुमार
'आरक्षण' पर से मद्रास हाई कोर्ट ने हटाई रोक
'इ जनता बा मोदी जी! दौड़ा-दौड़ा के सवाल पूछी'
Jio धमाका ऑफर, ग्राहकों को FREE में मिलेगा 120जीबी डेटा
प्रियंका के इंकार के बाद रिंग में दस्ताने पहन यूं अकेले रह गए मोदी
देखिये झारखंड के सबसे पुराना अखबार दैनिक राँची एक्सप्रेस का हाल
सुबोधकांत की पिकनिक पार्टी: समर्थक ने लगाई आग : मंत्रीजी भी बाल-बाल बचे
गाँव को गोद लेने के वहाने लोगों को ठगा एच.डी.एफ.सी.बैंक ने!
इसे पढ़िए और पहल कीजिएः जरुरी है दासता की इन बेडियों को उतार फेंकना
तेजस्वी का बड़ा ट्वीटः बिहार में अमित शाह देते थे घूस, सुशील मोदी की विडियो से खुलासा
दिल्‍ली पुलिस और टीम अन्‍ना के बीच शर्तों का खेल जारी
शिबू सोरेन:झारखंड का सबसे कद्दावर नेता
न.1अखबार का 2नंबरिया संवाददाता
झारखण्ड : कौन बनेगा भाजपा का सीएम?
राहुल गांधी के बायोडाटा में धर्म और राष्ट्रीयता का जिक्र क्यों नहीं !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter