अन्ना पड़े बीमार : होगी आंदोलन पर असर

Share Button
मजबूत लोकपाल बिल के लिए संघर्ष कर रहे गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे बीमार हो गए हैं। हजारे महाराष्ट्र में मौजूद अपने गांव रालेगण सिद्धि चले गए हैं। इससे टीम अन्ना की सरकारी लोकपाल बिल के खिलाफ मुहिम पर असर पड़ने की आशंका है। अन्ना हजारे १६ अगस्त से सशक्त लोकपाल बिल की मांग करते हुए फिर अनशन पर बैठने का ऐलान कर चुके हैं। वहीं, गुरुवार को सरकार संसद में लोकपाल बिल पेश करने जा रही है। इस विधेयक को कुछ दिनों पहले कैबिनेट ने मंजूरी दी थी। इससे पहले टीम अन्ना ने सांसदों को चिट्ठी लिखकर सरकारी लोकपाल बिल का विरोध करने और उसे संसद में पेश होने से रोकने की अपील की थी।  
टीम अन्ना सरकारी लोकपाल बिल का यह कहते हुए विरोध कर रही है कि यह बिल गरीब विरोधी है और यह भ्रष्टाचार से लड़ने और आम आदमी को राहत देने में नाकाम साबित होगा। बीजेपी और लेफ्ट ने भी सरकार की तरफ से पेश होने जा रहे लोकपाल बिल की आलोचना की है। बीजेपी के राज्यसभा सांसद तरुण विजय ने कहा है कि केंद्र सरकार एक वरिष्ठ गांधीवादी सामाजिक कार्यकर्ता को धोखा दे रही है। वहीं, सीपीएम पॉलित ब्यूरो की सदस्य वृंदा करात ने कहा है कि प्रधानमंत्री को लोकपाल बिल का दायरे में लाया जाना चाहिए। सरकार की तरफ से पेश होने जा रहे बिल में प्रधानमंत्री को अपने कार्यकाल के दौरान लोकपाल के दायरे से बाहर रखा गया है।
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

अमिताभ बच्चन और पटना के अधकचरे पत्रकार
सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने की प्रेस कांफ्रेंस, कहा- खतरे में है लोकतंत्र
शर्मनाक! अश्विनी चौबे सरीखे गिरी सोच का आदमी केन्द्रीय मंत्री है
बताओ भाई, आखिर "वंशवाद के विरोधी" और "युवराज" कैसे हैं राहुल गाँधी
"नीतीश की कूटनीति का एक हिस्सा है नई चुनावी हार"
IIMC तक पहुंची JNU की आंच, महंगी फीस का विरोध
पीएम मोदी के खिलाफ महागठबंधन प्रत्याशी तेज बहादुर का नामांकण रद्द! जाएंगे सुप्रीम कोर्ट
बिहार चुनाव पूर्व लिट्टी-चोखा पर चर्चा से पहले उसकी महिमा तो जान लीजिए मेहरबां
सीटू तिवारी ने बीबीसी हिंदी पर उकेरी तिरहुत रेलवे की संग्रणीय-सचित्र आलेख
पुत्र संग PM भेंट बाद बोले उद्धव-  'NPR-CAA से डरने की जरूरत नहीं'
"शादी पूर्व ही यौन-सम्बन्ध स्थापित करने का आम प्रचलन है इस 'नव इसाई समुदाय' में "
जयरामपेशों का अड्डा बना आयडा पार्क
सरकार राजी, अब रामलीला मैदान में होगा अन्ना का अनशन
कसाई कौन ? डॉक्टर या दैनिक भास्कर ?
झारखंड मे कांग्रेस ने कई इतिहास रचा : सुषमा स्वराज
चीन ने बनाया ब्रह्मपुत्र- सिंधु नदियों के उद्गम स्थल का चित्र
शिबू फिर बने पेंडुलम,चुनाव परिणाम आया नही कि मुख्यमंत्री बनने के लिये मारामारी
पुणेः पुलिस फाइरिंग में 4 किसानों की मौत
पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की थी रोहित शेखर तिवारी की गला दबा हत्या
कुंदन पाहन ने चौंकाया, नेपाली PM प्रचंड ने झारखंड में ली थी नक्सली ट्रेनिंग!
झारखण्ड मे पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव होने से सामाजिक समरसता बिगडेगी: रामटहल चौधरी
मोदी महंगाई गिफ्ट-2020ः घरेलू गैस सिलेंडर और  रेलवे भाड़ा में अप्रत्याशित वृद्धि
हनी ट्रैप के आरोपी महिला के लॉकर में मिले 60 लाख नगद और 37 लाख के जेवर
समस्याओं को लेकर सब बहरे क्यों हो जाते हैं ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter