» हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार   » प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !   » गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद   » इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरें  

रामलीला मैदान में डायरिया का प्रकोपःटीमअन्ना खिसियानी बिल्ली और सरकार खामोश

Share Button
अन्ना जी के आन्दोलन के 106 घंटे हो रहे हैं दिग्भ्रमित जनता में उत्साह, अन्ना टीम की खिशियानी आवाज और सरकार की लगभग चुप्पी सब बदस्तूर जारी | रामलीला मैदान में अन्ना जी द्वारा कहे जाने वाले आजादी की दूसरी लड़ाई के सिपाही या यों कहें निरीह जनता भरपूर रूप से बदइन्तजामी के शिकार हो रहे हैं | आज का ताज़ा हाल ये है की सैकड़ों लोग गंदे पानी को पिने से बीमार हो गए है वे डायरिया के शिकार हो गए हैं कईयों को पास के एल एन जे पी हस्पताल में भर्ती करवाया गया है शेष को रामलीला मैदान में ही डोक्टर के टीम द्वारा दवाई दी जा रही है | डॉक्टरों का कहना है की यदि यहाँ शुद्ध पानी और धुआं का इंतजाम नहीं किया गया तो और भी लोग इसके चपेट में आ सकते हैं | सवाल ये है की इतने बड़े आन्दोलन को करने से पहले क्या अन्ना टीम या एम् सी डी शुद्ध पानी या और भी उपयोगी चीज़ उपलब्ध नहीं करा सकती है | और अगर उपलब्ध नहीं करा सकती तो इतनी भीड़ जुटाने का भी और इस तरह की देश भक्ति दिखाने का भी अन्ना टीम को कोई हक नहीं है | सिर्फ और सिर्फ अपना उल्लू सीधा करने के लिए निरीह जनता को कष्ट देना कहाँ की देशभक्ति है | —रामलीला मैदान से नीरज कुमार मिश्र
Share Button

Related News:

भारत के महामहिम राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री आपकी चुप्पी कब टूटेगी ?
कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?
नहीं बदला है दैनिक हिन्दुस्तान का चरित्र
बिहार में क़ानून-व्यवस्था की कहानी:खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जुबानी
कांग्रेस एक सर्कसः मणिशंकर अय्यर, कांग्रेस में शिखंडी जैसी हालतः जयराम रमेश
राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के जन्मदिन पर ये उनका अपमान नहीं तो क्या है ?
“अंकल माओवादी हमारे स्कूल क्यो उडाते है?”उग्रवादियो की हितैषी बनी “शिबूसरकार” को शर्म नही आती?
राहुल गांधी लापता !! अखबार में छपा विज्ञापन
कानून से बचने के लिए कलमाड़ी ने चली बचकाना चाल
चमचागिरी+ अहंकारी = ब्लॉगर कृष्ण बिहारी
बुढ़ापे में दाने-दाने को मोहताज रहे आत्महत्या(!!) करने वाला हिंसावादी कानू सान्याल.
कहीं मनमोहन सरकार के लिए खतरे की घंटी न बन जाए विपक्ष के साथ ये "डील"
राष्टीय आंदोलन वनाम बाबा रामदेव और अन्ना हजारे
सुबोधकांत की पिकनिक पार्टी: समर्थक ने लगाई आग : मंत्रीजी भी बाल-बाल बचे
अंतर्राष्ट्रीय बाजारवाद का सबसे बड़ा डस्टबीन है भारत
स्विस इकोनोमी के लिए सबसे बड़ा खतरा बने रामदेव बाबा
स्व. राजीव गांधी फेसबुक पर !!
झारखंड :चिरकुटों के हाथ में चौथा स्तंभ
झारखण्ड:पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराना सिबू सरकार के लिये एक गंभीर चुनौती/आपस मे खुलकर टकरायेग...
"अनंत विकास स्रोत" और एच.डी.एफ.सी.बैंक का यह कैसा धंधा?
झारखण्ड : मामला राजद के निवर्तमान विधायक के नक्सली अपहरण का
हम होली कैसे मनाएं?
अन्ना टीम के जन लोकपाल विधेयक पर सियासी दलों का मंथन
अर्जुन मुंडा यानि अंधेर नगरी का चौपट राजा

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter