अब संसद में गुंजा तत्काल टिकट आरक्षण घोटाला

Share Button
संसद में पेश की गई कैग की रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन जरूरतमंद यात्रियों के लिए रेलवे ने तत्काल टिकट आरक्षण प्रणाली योजना दिसम्बर 1987 में शुरू की थी, वे इसका लाभ नहीं उठा पा रहे हैं, क्योंकि यह बुकिंग क्लर्को और एजेंटों के छलकपट की गिरफ्त में है। महालेखाकार ने भारतीय रेलवे की कम्प्यूटराइज्ड तत्काल और अग्रिम आरक्षण सुविधा की जांच करने पर यह पाया कि जरूरतमंद यात्रियों को इस सुविधा का लाभ नहीं मिल पा रहा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि तत्काल कोटे का टिकट कर्मचारियों की मेहरबानी से एक मिनट के अन्दर एजेंटों के पास पहुंच जाता है। सीएजी की रिपोर्ट पेश करने के बाद डिप्टी सीएजी अरविन्द कुमार अवस्थी ने बताया कि तत्काल कोटे के टिकट बेचने में रिजर्वेशन काउंटर और इंटरनेट दोनों जगह गडबडी हो रही है। इस समय यात्रा से दो दिन पहले तत्काल का टिकट सुबह आठ बजे बिकना शुरू होता है।
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

भाजपा-झामुमो में आज ११:३० बजे होगा तलाक
कठुआ रेप केस: कोर्ट ने SIT के 6 सदस्यों के खिलाफ दिए FIR दर्ज करने के निर्देश
इस भाजपा सांसद ने दी ठोक डालने की धमकी, ऑडियो वायरल, पुलिस बनी पंगु
जयरामपेशों का अड्डा बना आयडा पार्क
झारखंड: झामुमो-भाजपा के बीच सत्ता का फिफ्टीकरण
चिराग तले अंधेरा वाली कहावत चरितार्थ है नालंदा जिला में.
CAA पर रोक से SC का इन्कार, केंद्र से 4 हफ्ते में मांगी जवाब, सुनवाई कर सकती है संविधान पीठ
विशेष श्रद्धांजलिः ...तब जहानाबाद में 12 किलोमीटर पैदल चले थे कुलदीप नैयर
बिहारः तांत्रिक के बहकावे में चाचा ने सगे भतीजा की दी बलि
कब तक चलेगी झारखंड मे गुरूजी की सरकार? मंत्रिमंडल गठन के बाद पार्टी मे भूचाल तो आवंटित विभाग के बाद ...
योग गुरू बाबा रामदेव को लेकर गरम हुये लालू
पुलिस की पेशकश पर अब जेपी पार्क में अनशन करेगें अन्ना
नालन्दा:शैक्षणिक चेतना का प्रमुख पर्यटन स्थल
प्रभात खबर को हाथ में लेकर पहले अपनी अंतरात्मा टटोलिये हरबंश जी.
झारखंड के सीएम ने गुहार को लगाई अभद्र फटकार
झारखंडी पत्रकारिता के बाबा की निगरानी के बाद भी दैनिक सन्मार्ग की ये हालत!
बड़ा फर्क है टीम अन्ना और जेपी आंदोलन में
केन्द्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय की पिकनिक मे आत्मदाह की घटना अन्धसमर्थको हेतु एक बडा सबक
रजरप्पा : महापाप का तांडव और मीडिया-1
मोदी-शाह का गिरा ग्राफः महज 2 साल में 71% से 40% पर पहुंच गई BJP की सत्ता
प्रशांत के हमले को लेकर कितने मजबूत हैं नीतीश?
भारत का विश्वास या अंधविश्वास? राफेल के पहियों के आगे रखवाई नींबू!
सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम की अनुशंसा पर हुआ *चीफ*-*जस्टिस* का तबादला
JNU में नकाबपोश गुंडो का हमला,आइशी घोष समेत करीब 150 छात्र जख्मी, कई गंभीर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter