मुझे माफ करना अन्ना,मैं इन दलालों पर शर्मिंदा हूं…..

Share Button
कल मैं झारखंड की राजधानी रांची की सड़कों पर खाक छान रहा था। दरअसल मैं बड़े उत्साह के साथ यह देखना चाह रहा था कि दरअसल अन्ना समर्थकों के जुनून का आलम क्या है। मेरी आंखों ने जो कुछ देखा और जो महसुस किया,वह खुद को झकझोड़ कर रख देता है। और मेरी विवशता सिर्फ इतना ही कहने की इजाजत देता है कि हे अन्ना! मुझे माफ करना,मैं शर्मिंदा हूं। हर जगह अन्ना के नाम पर नौटंकी।कहीं कोई आम नहीं।हर जगह सिर्फ खास देखने को मिले। तिरंगा,गांधी और अन्ना की तस्वीरों के साथ बैठे वही व्यवस्था के दलाल चेहरे, जिसकी आगोश से भारत माता को कथित दूसरी आजादी दिलाने का स्वप्नजाल बुना जा रहा है। तो कहीं शराब के नशे में धुत्त प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का पुतला जलाते दर्जन भर युवक,जिसे मीडिया वाले अपने इशारों पर नचा रहे थे।
आज यहां के सभी अखबारों ने भी उसे “दिखता है वह बिकता है” के अंदाज में परोसा है। खुद भ्रष्टाचार और अनैतिकता में आकंठ डूबे संपादक वीरों ने कस कर अपनी भड़ास निकाली है, मानो कि वे कितने दिनों से इसकी प्रतीक्षा में हों! और खांटी दूध में धूले हों!
Share Button

Related News:

जस्टिस मुरलीधर के तबादले पर महिला आयोग का कड़ा एतराज
आरक्षण को लेकर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति जनजाति आयोग का कड़ा रुख
अर्जुन मुंडा यानि अंधेर नगरी का चौपट राजा
अन्ना हजारे की मांगे सही नहीं हैः अरूंधती रॉय
अनशन में अन्ना पीते हैं विटामिन मिला पानीः जी. आर. खैरनार
7 साल बाद...आधा घंटे तक फांसी के फंदे से लटके रहे चारो दरींदे
......और तब ‘मिसाइल मैन’ 60 किमी का ट्रेन सफर कर पहुंचे थे हरनौत
मीडिया की ABCD का ज्ञान नहीं और चले हैं पत्रकार संगठन चलाने
हाउ डी मोदी की तर्ज पर अब केम छो ट्रंप!
जबरन खाना दिया तो अन्ना हजारे पानी भी न पीय़ेंगें
'द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर' को लेकर हाई कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल
तमाड़ के भूत से भयभीत हैं शिबू सोरेन?
नीतीश जी बने अंग्रेजी ब्लॉगर:फिलहाल मुख्यमंत्री साईकिल योजना पर एक पोस्ट लिखा,५४३ कमेन्ट मिले.
गुजरात मॉडलः 7 डॉक्टर और 450 इंजीनियरों ने एक साथ ज्वाइन की चपरासी की नौकरी !
लेकिन, प्राईवेट स्कूलों की जारी रहेगी मनमानी, बोझ ढोते रहेंगे मासूम
झंझावतों के बीच इंसाफ इंडिया को मिला जज मानवेन्द्र मिश्रा का यूं सहारा
हरियाणाः यूं चार्टर प्लेन चढ़ दिल्ली रवाना हुई ‘सत्ता की चाबी’  
चीन ने बनाया ब्रह्मपुत्र- सिंधु नदियों के उद्गम स्थल का चित्र
राहुल ने पुछा- ‘मोदी जी, जय शाह जादा खा गया, आप चौकीदार या भागीदार?’
अन्ना हजारे को जेपी पार्क में मात्र 3 दिन की अनशन की सशर्त अनुमति
खट्टर सरकार को हाई कोर्ट की कड़ी फटकार, कहा- राजनीतिक स्वार्थ में डूबी रही सरकार
विदेशी लहर है भारत पहुंची “बेशर्मी मोर्चा”
शत्रु संपत्ति कानून संशोधन विधेयक से महमूदाबाद राज परिवार को झटका
मातम पोसी हेतु नालंदा के महमदपुर पहुंचे मांझी, दिया न्याय का आश्वासन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
error: Content is protected ! india news reporter