पूंजीवाद के साइड इफेक्ट और अंगार पर खड़ी दुनिया

Share Button
By: Asif Ali Hashmi

पूँजीवाद ने दुनिया में बड़ी ही खूबी से पैठ बना डाली है, अमीर और अमीर होते जा रहे हैं, गरीब और गरीब होते जा रहे हैं, कहीं किसी देश में मूलभूत सुविधाओं  के लिए आन्दोलन, प्रदर्शन हो रहे हैं, कही बेरोज़गारी और गरीबी के विरोध में, कही भ्रष्ट सिस्टम के खिलाफ, किसानो से ज़मीनें छीनी जा रही हैं, अपने अधिकारों के लिए किसान सड़कों पर उतरते हैं तो गोली मार दी जाती है, लन्दन के दंगे हों, या पुणे में मारे गए किसान…सब कही न कहीं इस पूंजीवादी दैत्य के शिकार हैं!  आज भी किसी भी बाजार या वाद की बात करने से पहले समता की बात करनी जरूरी हो जाती है। दोहन और वितरण की बात जरूरी हो जाती है।…आगे पढ़े
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

गुरुघंटाल "गुरूजी" के कारण एक बार फिर झारखंड में राष्ट्रपति शासन के आसार
कांग्रेस के चौतरफे हमले में घिर रहे हैं अन्ना
पटना जंक्शन पर विक्रमशिला एक्सप्रेस से असलहे का जखीरा बरामद, एक गिरफ्तार
उग्रवाद:शिबू सोरेन की गलतफहमी न.2
अन्ना अनशन करें या तोड़ें उनकी समस्या है, सरकार नहीं झुकेगीः प्रणव मुखर्जी
बोले मुख्य चुनाव आयुक्त- 5 राज्यों में नवंबर-दिसंबर में होंगे विधानसभा चुनाव
कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?
दुर्बार के 7000 सेक्स वर्करों ने दिया गलोवल वार्मिंग का अनोखा संदेश
पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की थी रोहित शेखर तिवारी की गला दबा हत्या
आखिर अन्ना इतने जिद्दी क्यों हैं !
झारखंड: सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराने को लेकर दोनो उपमुख्यमंत्री ...
अन्ना के अनशन का फायदा अगली पीढ़ी को मिलेगाः बाबा रामदेव
"प्रभात ख़बर औए ३६५ दिन में सौतन-डाह"
सरकारी मेहमान बने राज ठाकरे के हिंदी बोलने पर बबाल !
इस भाजपा सांसद ने दी ठोक डालने की धमकी, ऑडियो वायरल, पुलिस बनी पंगु
काफी दुर्भाग्यजनक है सुदेश महतो की राजनीतिक महत्वाकान्क्षा
“अंकल माओवादी हमारे स्कूल क्यो उडाते है?” नक्सलियो के लिये शर्म है गांव के इन स्कूली बच्चो की चीख
सुप्रीम कोर्ट के आदेश की चपेट मे आये बिहार के शिक्षा मंत्री
कौन बनेगा झारखण्ड का सीएम?
हम होली कैसे मनाएं?
सुप्रीम कोर्ट के द्वारा 78% आबादी के विरूद्ध दिये गये फैसले का क्या है औचित्य ?
सोनिया जी ये इटली नही,विश्व का सबसे बडा लोकतांत्रिक देश भारत है: अपनी महाराष्ट्र सरकार पर लगाम लगाईय...
बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने की य़ाचिका खारिज
एक पत्रकार ने खोली सोहराबुद्दीन केस की असलीयत, कांग्रेस वेनकाब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter