कानून से बचने के लिए कलमाड़ी ने चली बचकाना चाल

Share Button
कॉमनवेल्थ घोटालों के आरोपी सुरेश कलमाड़ी कलमाड़ी को भूलने की बीमारी हो गई है।यह सब कानून से बचने के उनकी एक नई बचकाना चाल मानी जा रही है।

चिकित्‍सकों के मुताबिक 66 वर्षीय कलमाड़ी इन दिनों डिमेंशिया नामक बीमारी से गुजर रहे हैं, जिसमें वो कई बातें भूल जाते हैं। कलमाड़ी की मेडिकल हिस्ट्री के मुताबिक उनके अंदर डिमेंशिया के शुरूआत लक्षण दिखाई दे रहे हैं।  कलमाड़ी के वकील हितेश जैन के मुताबिक कलमाड़ी पिछले 4 सालों से डिमेंशिया से जूझ रहे हैं। 

कहते हैं कि कानून के अंतर्गत यदि आरोपी भूलने की बीमारी से ग्रसित है, तो उसे सजा नहीं दी जा सकती। माना जाता है कि उसने जो कुछ भी किया वह भूलवश किया।
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

दैनिक प्रभात खबर की यह कैसी पत्रकारिता
दक्षिण अफ्रीका का सूपड़ा साफ, भारत ने पारी और 202 रन से हराया
तमाड़ के भूत से भयभीत हैं शिबू सोरेन?
पिछले चार साल मे लाखपति से अरबपति बने नीतिश के चहेते मंत्री हरिनारायण सिन्ह
पंचायत चुनाव और उग्रवाद पर दिखा झारखंड के "गुरूजी" का नया अन्दाज
दिवंगत के परिजन से मिले नीतीश,ली ग्रमीणों की सुध
उत्तर प्रदेश में जीत को लेकर आश्वस्त हैं राहुल गांधी
झारखंड विधानसभा चुनाव:रांची जिला, मांडर क्षेत्र के उम्मीदवारो को मिले मत
बिहारः कोंच BDO ने छत से कूद कर की आत्‍महत्‍या! हाल ही में बैंक PO से हुई थी शादी
मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के घरजिले नालन्दा मे ही उनके सुशासन की हवा निकाल रहे आला अधिकारी
"ये है झारखण्ड नगरिया तू लूट बबुआ"
सुबोधकांत ने खेली मुख्यमंत्री बनने की दांव!
आखिर खुद कायदा-क़ानून तोड़कर यह कैसा सन्देश देना चाहते हैं बिहार के " सुशासन बाबू" यानी मुख्यमंत्री नी...
झारखंड मे कांग्रेस ने कई इतिहास रचा : सुषमा स्वराज
उग्रवाद:झारखंड के मुखिया शिबू सोरेन की गलतफहमी न.2
पुत्र संग PM भेंट बाद बोले उद्धव-  'NPR-CAA से डरने की जरूरत नहीं'
सन्मार्ग से बैजनाथ मिश्र की छुट्टी! रजत गुप्ता की वापसी!
नीतीश जी, आपके घर-जिला नालन्दा मे ई सुशासन है या कुशासन? दोषी अधिकारी है या किसान?
झारखण्ड : कौन बनेगा मुख्यमंत्री ?
आयरन लेडी इरोम शर्मीला को चुनाव मिले मात्र 90 वोट
नहीं रहे पूर्व रक्षा मंत्री एवं गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर, समूचे देश में शोक की लहर
अलगाववादी नेता यासीन मलिक और उसकी पार्टी पर बैन
झंझावतों के बीच इंसाफ इंडिया को मिला जज मानवेन्द्र मिश्रा का यूं सहारा
पीएम मोदी के वाराणसी में पुल गिरा, 50 से उपर लोग दबे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter