झारखंडी पत्रकारिता के बाबा की निगरानी के बाद भी दैनिक सन्मार्ग की ये हालत!

Share Button
हाल ही में राज्य सूचना आयुक्त के पद से सेवा निवृत हुए वरिष्ठ पत्रकार बैजनाथ मिश्र झारखंड की पत्रकारिता के बाबा कहे जाते हैं।उनकी मांग का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपनी सेवानिवृति के दूसरे दिन ही रांची से प्रकाशित दैनिक सन्मार्ग के प्रधान संपादक बन गए।लोगों को उनसे काफी उम्मीदें थी,लेकिन अखबार की हालत सुधरने के बजाय और बिगड़ती जा रही है।इसका एक ताजा बानगी आप देख सकते हैं कि संपादकीय पेज पर प्रसुन्न वाजपेयी जी के शीर्ष आलेख का शीर्षक क्या है।ऐसी गलतियां अखबार के सभी पृष्ठों पर नित्य दिन बहुतयात देखने को मिल रहे हैं।
इस अखबार के संपादक हैं..पत्रकारिता से कोसों दूर प्रेम उर्फ प्रेमशंकरण,जो पेशे से बिल्डर व्यवसायी हैं।इस अखबार में एक बात और काबिलेगौर दिख रही है कि प्रिंट लाइन में संपादक के बजाय प्रधान संपादक महोदय पीआरबी अधिनियम के तहत खबरों के चयन के जिम्मेवार बताये गए हैं।
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

लंदन में सोशल साइटों के जरिये युवा फैला रहे हैं दंगा
हरियाणाः यूं चार्टर प्लेन चढ़ दिल्ली रवाना हुई ‘सत्ता की चाबी’  
मई 2020 तक फ्रांस से भारत पहुंचेगा राफेल, 2021 तक होगा ऑपरेशनल
'बबुनी गैंगरेप' में पुलिस सम्मान पर उठे सवाल !
पत्थर माफियाओं के राज में “तेलकटवा” गिरोह का आतंक
झारखंड मे पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ फूंका बिगुल,उधर आद...
अन्ना को अब भ्रष्ट केन्द्र सरकार की बलि चाहिए
नालंदा जिले में नहीं थम रहा खाद्यान्न घोटाले का दौर
अनशन में अन्ना पीते हैं विटामिन मिला पानीः जी. आर. खैरनार
"अनंत विकास स्रोत" और एच.डी.एफ.सी.बैंक का यह कैसा धंधा?
बजट सत्र के बाद बदल जाएगा देश की उपरी सदन राज्यसभा का रंग
भारत बंद:  समूचे देश में हुआ सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में हिंसक प्रदर्शन
पीएम मोदी के 'स्टार हमशक्ल' को यूं महंगे पड़ रहे 'अच्छे दिन'
चुनाव के दौरान एक बड़ा नक्सली हमला, आइईडी विस्फोट में 16 कमांडो शहीद, 27 वाहनों को लगाई आग
अर्जुन मुंडा का आत्मघाती खेल
16000 करोड़ रु. के खनन घोटाले में फंसे कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने इस्तीफा दिया
झारखंड के मुख्यमंत्री शिबू सोरेन में "स्कीजोफ्रेनिया" के लक्षण
डी.एम.का जनता दरबार या मजाक?खुद डी.एम.संजय कुमार अग्रवाल ही घुमावदार नज़र आता है!
चिराग तले अंधेरा वाली कहावत चरितार्थ है नालंदा जिला में.
राहुल गांधी लापता !! अखबार में छपा विज्ञापन
कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी के होश ठिकाने, अन्ना से बोले सॉरी
एनआरसी, एनपीआर व सीएए को लेकर क्यों मचा है बवाल
कड़ी पुलिस व्यवस्था के बाबजूद पहुंच रहे अनशनकारियों का नजारा
‘द लाई लामा’ मोदी की पोस्टर पर बवाल, FIR दर्ज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter