» तीन तलाक को राष्ट्रपति की मंजूरी, 19 सितंबर से लागू, यह बना कानून!   » तीन तलाक कानून पर कुमार विश्वास का बड़ा रोचक ट्विट….   » मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » बिहार के विश्व प्रसिद्ध व्यवसायी सम्प्रदा सिंह का निधन   » पत्नी की कंप्लेन पर सस्पेंड से बौखलाया था हत्यारा पुलिस इंस्पेक्टर   » कर्नाटक में सरकार गिरना लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय : मायावती   » समस्तीपुर से लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का निधन   » दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन   » अपनी दादी इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी प्रियंका?   » हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!  

झारखंड: गुरूजी ने राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा ठोंका

Share Button
जैसा कि चुनाव परिणाम आने के बाद ही यहाँ तय लग रहा था कि झामुमो सुप्रीमो शीबू सोरेन सोरेन के नेत्रित्व मे मुख्यतः झामुमो,भाजपा,आजसू की सरकार बनेगी.हुआ भी ठीक वैसा ही.आज निर्धारित समय ठीक 3बजे श्री सोरेन पूर्ण बहुमत के साथ राज्यपाल भवन पहुँचे और सरकार बनाने का दावा पेश किया. झामुमो की ओर से गुरूजी के पुत्र विधायक हेमंत सोरेन ने 18 झामुमो विधायको,भाजपा की ओर से विधायक रघुवर दास ने 18भाजपा विधायको तथा आजसू की ओर से खुद पार्टी सुप्रीमो विधायक सुदेश कुमार महतो ने 5विधायको की सूची महामहिम राज्यपाल श्री शंकरनारायणन को सौंपी.इसके आलावे निर्दलीय विधायक व मधु कोडा सरकार मे शिक्षामंत्री रहे श्री बन्धु तिर्की ने भी अपना लिखित समर्थन पत्र सौंपा.तकनीकी कारणो से भाजपा के चुनाव सहयोगी जदयू के दोनो विधायक सशरीर समर्थन पत्र नही सौंप पाये.बाद मे फैक्स द्वारा जदयू के ओर से समर्थन पत्र सौंपी गई है. उल्लेखणीय है कि 81 सदस्यीय झारखंड विधानसभा मे बहुमत हेतु 41 विधायको की समर्थन की जरूरत है.और श्री सोरेन के समर्थन मे कुल 44 विधायको का समर्थन प्राप्त है.

इस अवसर पर भाजपा नेता करूणा शुक्ला,यशवंत सिन्हा,अर्जून मुंडा,सुधीर महतो आदि के अलावे सभी 42 विधायक सशरीर भी मौजूद थे. समर्थन पत्र मिलने के बाद राज्यपाल ने अपने तीनो प्रमुख सलाहकारो व महाधिवक्ता से सलाह मशविरा लेने के बाद शीघ्र ही सरकार बनाने का निमंत्रण देने की बात कही.
Share Button

Related News:

नक्सलियों के लिये शर्मनाक सबक है कानू सान्याल का आत्महत्या करना.
IPS जसवीर सिंह सस्पेंड, योगी आदित्यनाथ पर लगाया था रासुका
सनातन धर्मावलंबियों की सुसभ्य संस्कृति वाहक है मंदार पर्वत
भाजपा की हालत 'माल महाराज की और मिर्जा खेले होली' जैसीः ममता बनर्जी
पाकिस्‍तान ने फिर पीठ में भोंका छुरा, दिया हिना रब्बानी को भारतीय सेना के 2 जवानों के सिर कलम का त...
टीम अन्ना से अगल हुए स्वामी अग्निवेश, लगाया जिद्दी होने का आरोप
मैदान छोड़ कहाँ भागे बाबूलाल मरांडी ?
सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने की प्रेस कांफ्रेंस, कहा- खतरे में है लोकतंत्र
गरीब महिलाओं तक के आँसू से भी! नहीं पिघलते मुख्यमंत्री के घर-जिले नालंदा के हिलसा अनुमंडल के पदाधिक...
दिवंगत के परिजन से मिले नीतीश,ली ग्रमीणों की सुध
बिग बी पर लालू हुए लाल, सबसे नापसंद कलाकार बताया
जबरन खाना दिया तो अन्ना हजारे पानी भी न पीय़ेंगें
बाल ठाकरे-राज ठाकरे देशद्रोही मानसिकता के लोग : नीतीश कुमार
विवादों में उलझा दैनिक भास्कर,रांची का प्रकाशन
अब झारखण्ड मे कांग्रेस का नया खेल सुरू
बिहार : "नीतिश की कूटनीति का एक हिस्सा है नई चुनावी हार"
'राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से SDO-DSP हटायेगें अतिक्रमण और DM-SP करेंगे मॉनेटरिंग'
दैनिक भाष्कर ने किया राँची में गुंडों का इस्तेमाल
वीरांगना रेशमा रंगरेजी को राष्ट्रीय सम्मान क्यों नही मिल रहा !!
अंतर्राष्ट्रीय बाजारवाद का सबसे बड़ा डस्टबीन है भारत
ओरमांझी की मनोरम प्रकृति और पर्यावरण को यूँ नष्ट कर रहे हैं पत्थर माफिया
ढलती उम्र में सठिया गयें हैं शिबू सोरेन
झारखंड मे पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ फूंका बिगुल,उधर आद...
निकम्मी झारखंड सरकार और शिबू सोरेन का निरालापन

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां  
error: Content is protected ! india news reporter