!!! कानून की कौन सी किताब पढ़ी है दिल्ली हाई कोर्ट के इस जज ने !!!

Share Button
दिल्ली हाई कोर्ट ने अपने एक फैसले में कहा है कि रिश्ते में भाई-बहन लगने वाले हिंदू युवक-युवती ईसाई धर्म अपनाकर आपस में शादी कर सकते हैं।
अदालत ने यह फैसला देते हुए एक रिटायर्ड जज की याचिका खारिज कर दी। रिटायर्ड जज ने अपने मैजिस्ट्रेट बेटे के खिलाफ याचिका दायर की थी, जिसने धर्म बदलने के बाद अपने मामा की बेटी से शादी कर ली थी।
जस्टिस सुरेश कैत ने शादी की वैधता को कायम रखते हुए कहा, ‘प्रतिवादियों (दंपती) का धर्म परिवर्तन भारतीय ईसाई विवाह अधिनियम की धारा तीन के तहत उचित है। इसलिए इनकी शादी ऐसे संबंध के तहत नहीं आती, जो हिंदू विवाह अधिनियम के तहत प्रतिबंधित है।’
अपने बेटे के खिलाफ मामला दर्ज कराने पर पिता को फटकार लगाते हुए अदालत ने कहा, ‘इस तरह की सोच नई पीढ़ी की व्यापक सोच को खत्म करती है और कई बार इसका नतीजा झूठी शान के लिए की जाने वाली हत्याओं के रूप में दिखता है।’
अदालत ने याचिकाकर्ता ओ पी गोगने पर ‘विचार न करने योग्य मामला’ दर्ज करने पर 10,000 रुपए का जुर्माना भी लगाया। (नभाटा)
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

डॉक्टर है या कसाई ? 2 मरीजों को जंगल में फेंकवाया !
मोदी महंगाई गिफ्ट-2020ः घरेलू गैस सिलेंडर और  रेलवे भाड़ा में अप्रत्याशित वृद्धि
इस बार बड़े बदले नजर आए दिल्ली के हुजूर
ऐ मेरे वतन के लोगों...जो शहीद हुए हैं उनकी,जरा याद करो कुर्बानी
POK के आतंकी अड्डों पर आसमानी प्रहार, मिराज ने की भीषण बमबारी
सरकारी दलालों के हाथ कलप-कलप के मर रहे हैं हमारे अन्नदाता
'खाप' के सच से डर रहा है हरियाणा का 'खाप'
अर्जुन मुंडा जी, ई आपका मुख्य सचिव भू-माफ़ियाओं के साथ बड़ा "गेम" कर रहा है
समूचे देश मे राज्यो का पुनर्गठन एक साथ हो : नीतीश-पासवान
ये है दैनिक प्रभात खबर के संवाददाता
नीतीश ने सबसे अधिक किसानों,युवाओं और गरीबों को पहुंचाई तकलीफः अखिलेश यादव
नोटबंदी फेल, मोदी का हर दावा निकला झूठ का पुलिंदा
आरक्षण फिल्म के निर्माता प्रकाश झा के घर-दफ्तर पर हमला
केन्द्रीय मंत्री जयराम ने स्वागत माला से जूतें पोंछे, किया खादी का अपमान
दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन
बज गई आयोग की डुगडुगी, जानिए 7 चरणों में कहां, कब और कैसे होगा चुनाव
संदर्भ निर्भया गैंगरेपः जानिए फांसी की सजा से जुड़े कुछ अनसुने तथ्य
राहुल गांधी के बायोडाटा में धर्म और राष्ट्रीयता का जिक्र क्यों नहीं !
उग्रवाद:झारखंड के मुखिया शिबू सोरेन की गलतफहमी न.2
विशेष श्रद्धांजलिः ...तब जहानाबाद में 12 किलोमीटर पैदल चले थे कुलदीप नैयर
कर्नाटक का 'नाटक' का अंत, येदियुप्पा का इस्तीफा
कर्नाटक के सीएम येदुरप्पा अवैध खनन मामले में 1800 करोड़ रु.के घोटाले के दोषी करार, फिर भी पद नहीं छो...
जमशेदपुर में एक हाई प्रोफाइल सेक्‍स रैकेट का भंडाफोड़ः तीन युवतियां समेत 6 धराए
मातम पोसी हेतु नालंदा के महमदपुर पहुंचे मांझी, दिया न्याय का आश्वासन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter