वीरांगना रेशमा रंगरेजी को राष्ट्रीय सम्मान क्यों नही मिल रहा !!

Share Button
गुजरात के नानपुर की है ये वीरांगना
हाल में अहमदाबाद में 8 जिन्दा बम पकड़ने वाली महिला वीरांगना रेशमा रंगरेजी भारत देश की एक जिम्मेदार नागरिक बन कर अपना फ़र्ज़ निभाया और अपने ही पति को जेल भिजवाने में भी कोई कोर कसर न छोड़ी। वेशक तब उनकी नजर में पति से प्यारा राष्ट्रधर्म है। उनके इस साहस भरे कार्य के लिए गुजरात सरकार ने 25000 का पुरुस्कार प्रदान किया है |
लेकिन,आज हमारे देश के एक सवाल है कि जिस महिला ने अपना सब कुछ राष्ट्र के नाम बलिदान कर दिया,उस वीरांगना के लिए मात्र रूपए का ही पुरुस्कार दिया जाए!! क्योंकि उनके पति की खतरनाक योजना कामयाब हो जाती तो निश्चित तौर पर सैकड़ों जाने जाती।
इस हिसाब से गुजरात के नानपुर की वीरांगना रेशमा जी ने देश को एक भारी क्षति होने से बचाया| क्या इस अदम्य साहस के लिए वे भारत सरकार की राष्ट्रीय वीरता पुरुस्कार के हकदार नही हैं!! क्योंकि,यह प्रमाणित करने के लिए काफी है कि आज भी हमारे देश की वीरांगना भारत देश के लिए अपने पति और परिवार को भी कुर्बान कर सकती है।……………(ईमेल द्वारा प्राप्त सूचना)
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

"ये झारखंड नगरिया तू लूट बबुआ"
भारतीय संस्कृति का मूल आधार है गाय
ये वन-कोयला नहीं, वन-घोटाला है मौनी बाबा !
अब संसद में गुंजा तत्काल टिकट आरक्षण घोटाला
हरियाणाः यूं चार्टर प्लेन चढ़ दिल्ली रवाना हुई ‘सत्ता की चाबी’  
आखिर खुद कायदा-क़ानून तोड़कर यह कैसा सन्देश देना चाहते हैं बिहार के " सुशासन बाबू" यानी मुख्यमंत्री नी...
नीतिश के खिलाफ कांग्रेस के आक्रामक स्टार प्रचारक होगें तेजस्वी
Keep the faith, keep up the fight :Arvind Kejriwal
और इस कारण बिखर चला 'द कपिल शर्मा शो'
सुबोधकांत बनेंगे मुख्यमंत्री!
नई दिल्ली की सेटिंग के बाद एक मंच पर आये अन्नाद्रमुक के नेता,पन्नीरसेल्वम होगें DCM
झारखण्ड : "प्रभात ख़बर औए ३६५ दिन में सौतन-डाह"
दिल्ली से लखनऊ पहुंचा "बेशर्मी मोर्चा" :किया भौंडा प्रदर्शन
झारखंडी राजनीति के "अमर-अकबर-अंथोनी" यानि......अर्जून-शिबू-सुदेश.
अर्जुन मुंडा यानि अंधेर नगरी का चौपट राजा
‘भ्रष्ट’ शक्तिकांत दास को RBI गवर्नर बनाने पर हैरान हैं सुब्रमण्यम स्वामी
एक तो करै़ल दूजे नीम चढ़ाय:होली कैसे मनाएँ?
....और इस कारण 6 माह में 3 बार यूं बदले केन्द्र सरकार की ‘मोदी केयर’ के नाम
जी हां,ये हैं भारतीय मीडिया के खेवनहार या खिचड़ी परिवार
शिबू सोरेन:झारखंड का सबसे कद्दावर नेता
भारत 19 साल बाद बना सुरक्षा परिषद का अध्‍यक्ष
झारखण्ड मे पटना पुलिस हत्याकांड : खुलेगे कई राज
आयुष्मान योजना की सौगात के साथ पीएम मोदी ने कही ये खास बातें
सन्मार्ग से बैजनाथ मिश्र की छुट्टी! रजत गुप्ता की वापसी!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter