रांची के दैनिक सन्मार्ग ने दिया मानवता का परिचय

Share Button
“ बड़ा हुआ तो क्या हुआ,जैसे पेड़ तार-खजूर.

  पथिक को छाया न दे,फल लगे अति दूर “

रांची की बड़े मीडिया हाउसों के बड़े-बड़े दावे…..कोई कहता हम हैं देश के नं.1….तो कोई कहता हम हैं झारखंड के नं.1….कोई तो यहां तक कहता है कि मैं अखबार नहीं,आंदोलन हूं….कोई कहता है कि सच है तो दिखेगा..कोई कहता है खबर से समझौता नहीं…
ऐसे दावे-प्रतिदावों के बीच अपनी अलग पत्रकारिता के बल मानवीय संवेदनाओं को आज छू गया…….रांची से नये तेवर-अंदाज में प्रकाशित दैनिक सन्मार्ग और उसके संवाददाता.मुझे यह जान कर इस अखबार को लेकर बहुत आत्म संतोष हुआ कि इसके छायाकार/संवाददाता करीव 25 किलोमीटर दूर चल कर पीड़ित के घर पहुंचे और मामले को प्रकाशित ही न किए..अपितु,प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री हेमलाल मुर्मू स्तर तक बात उठाई…………………..
0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise
Share Button

Related News:

जमशेदपुर में एक हाई प्रोफाइल सेक्‍स रैकेट का भंडाफोड़ः तीन युवतियां समेत 6 धराए
असहाय व असुरक्षित है भारत :रवि शंकर प्रसाद
नालंदा लोशिनिप संजीव सिन्हा ने कहाः रेकर्ड सुरक्षित होगें, अगली तिथि जल्द, न्याय होगा
एक और नीरव मोदी ने किया 187 करोड़ का घोटाला, PNB समेत 6 बैंकों को लगाया चूना
हाईकोर्ट ने ली कलमाडी की क्लास
राष्ट्रपति ने राजीव गांधी के हत्यारों की दया याचिका खारिज करने में 5 वर्ष लगाए !
पूंजीवाद के साइड इफेक्ट और अंगार पर खड़ी दुनिया
"नीतीश की कूटनीति का एक हिस्सा है नई चुनावी हार"
SC का यह फैसला CBI की साख बचाने की बड़ी कोशिश
राम जाने क्या होगा आगे? रजनीतिक गर्दिश मे है झारखंड.
सबाल बाल-राज ठाकरे का नही अपितु सबाल है...........
....और इस कारण 6 माह में 3 बार यूं बदले केन्द्र सरकार की ‘मोदी केयर’ के नाम
भाजपा से नाता तोड़ शिवसेना अकेले लड़ेगी 2019 का लोक-विधान सभा चुनाव
केन्द्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय बाल-बाल बचे : उनकी पिकनिक मे समर्थक ने शरीर मे आग लगाई
इस बार उखड़ सकते हैं नालंदा से नीतीश के पांव!
शत्रु संपत्ति कानून संशोधन विधेयक 2017 को संसद की मंजूरी
एक तो करै़ल दूजे नीम चढ़ाय:होली कैसे मनाएँ?
राष्ट्रपति शासन की और बढ़ रहा है झारखंड
इमरान का संसद में बयान- कल भारत लौटेंगे अभिनंदन
जबरन खाना दिया तो अन्ना हजारे पानी भी न पीय़ेंगें
बदल रही है दोस्ती की परिभाषा
रांची के अखबार : सेमिनार एक,लेकिन समाचार बने अनेक
राजीव गांधी पर टिप्पणी के बाद बवाल, 72 गिरफ्तारः कांग्रेसी गए कोर्ट
फर्जी निकला रांची प्रेस क्लब का पता? डाकघर से यूं लौटी लीगल नोटिश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter