» हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार   » प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !   » गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद   » इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरें  

कौन है रांची के इस चैनल का मालिक! कौन चला रहा है इसे!

Share Button
सावधान ! कहीं अगले शिकार आप तो नहीं? 
झारखण्ड ( रांची) से एक चैनल का प्रसारण किया जाता है.  नाम पहचाने के लिए कोई खास जद्दोजहद की जरूरत नहीं पड़ेगी… अभी केवल दो चैनलों का ही प्रसारण रांची से किया जाता है और संयोगवश दोनों ही चैनल नोएडा से प्रसारित हो रहे एक चैनल के द्वारा प्राप्त किये गए लाइसेन्स पर चल रहे हैं…  इन्हीं दोनों चैनलों में से एक चैनल है जिसमे सन्दर्भ में चर्चा की गयी है.
इस चैनल के तथाकथित मालिक एक पूर्व मीडियाकर्मी रह चुके हैं… तथाकथित इसलिए कि मालिक के सन्दर्भ में कई भ्रांतियां है… कोई कहता है इसका मालिक विनोद सिन्हा है…  कोई कहता है इसका मालिक एक पूर्व मुख्यमंत्री है… कोई कहता है इसका मालिक एक पूर्व संपादक है,  जो एक प्रतिष्ठित दैनिक अखबार से इस्तीफा देकर आये हैं.
खैर मालिक जो भी हो… पर इस तथाकथित मालिक के मानव संसाधन प्रबंधन कला की दाद देनी होगी… हर एक व्यक्ति/पद का रिप्लेसमेंट तैयार कर के रखता है यह तथाकथित मालिक… वो चाहे चैनल हेड का पद हो अथवा इनपुट हेड, आउट पुट हेड, सेल्स हेड, ईएनजी हेड, या फिर सामान्य रिपोर्टर, कैमरामैन, एकाउंटटेंट या ड्राईवर… होना भी चाहिए… क्यों न हो भला… अगर किसी ने अचानक से नौकरी छोड़ दी तो चैनल बंद नहीं हो जाएगा? दिखने में तो यह एक सामान्य घटना नज़र आती है… लेकिन इसके पीछे का मानव संसाधन प्रबंधन कुछ और ही है… जब जब ऐसे विकल्प तैयार किये हैं इस तथाकथित मालिक ने तो उस समय शामत आई है उस व्यक्ति की…  जिसका विकल्प तैयार किया गया है.
हरिनारायण सिंह आये तो छुट्टी हुयी सुशील भारती एवं मनोज श्रीवास्तव की… वेद प्रकाश तैयार हुए तो छुट्टी हुयी अफरोज आलम एवं विशाल कौशिक की… राकेश सिन्हा तैयार हुए तो छुट्टी हुयी मधुरशील की… रविन्द्र सहाय तैयार हुए तो छुट्टी हुयी कुंदन कृतज्ञ की… प्रशांत भगत तैयार हुए तो छुट्टी हुयी राजेश की… अब एक नया गुल खिला है… एक और शख्‍स की छुट्टी करने की तयारी की जा रही है… उनको रिप्लेस करने के लिए एक मैडम को ज्वाइन कराया गया है…  जिनकी तनख्वाह है 11लाख 70हज़ार वार्षिक… उनकी कई विशेषताएं हैं… उनमें से एक यह है कि वो इस तथाकथित मालिक के उपनाम की ही हैं.
वाह रे दुनिया… 5लाख 40 हज़ार को रिप्लेस करेंगे 11 लाख 70 हज़ार से… सुरखाब के पर लगे हैं मैडम को… यह हँसने की नहीं चिंता करने का विषय है… कहीं अगला नंबर आपका तो नहीं… चैन से काम करना है तो जाग जाओ… देखो कहीं अगली कहानी आपकी तो नहीं… 
कुछ पुराने प्रचलित मुहावरे हुआ करते हैं…” जाके पैर न फटे बेवाई, वो क्या जाने पीर पराई”…. “बाँझ क्या जाने परसौत की पीड़ा”… बोलचाल की भाषा की यदि बात करें तो कह सकते हैं कि इन दोनों मुहावरों के भावार्थ सामान हैं… सामान्य मानव मनोविज्ञान भी यही कहता है कि आप तब तक किसी परेशानी का हल नहीं ढूँढते हैं जब तक वो आपके घर में दस्तक नहीं दे देती है…  ( http://www.khabardarmedia.com/ से साभार)
Share Button

Related News:

भारत 19 साल बाद बना सुरक्षा परिषद का अध्‍यक्ष
कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली में राहुल गांधी का मोदी पर आक्रामक हमला
"झारखंड में दिखेगी विनाश की रेखा" !!
खेल के साथ बिजनेस भी करेगे धौनी
'इ जनता बा मोदी जी! दौड़ा-दौड़ा के सवाल पूछी'
धौनी के बाद सुबोध महतो बने झारखंड की शान, कभी साथ खेले धौनी मे इर्ष्या इतनी कि दो शब्द भी न बोले, ने...
एक करोड मे एस.पी. और 20 लाख मे डी.सी. का पद निलाम होता है झारखंड मे!
कर्नाटक के सीएम येदुरप्पा अवैध खनन मामले में 1800 करोड़ रु.के घोटाले के दोषी करार, फिर भी पद नहीं छो...
सरकार हमारे खिलाफ एफआईआर दर्ज करेः अन्ना हजारे
पीएम मोदी के वाराणसी में पुल गिरा, 50 से उपर लोग दबे
सुशासन बाबू:अब आपही बताईये कि दोषी कौन?कुशासन या किसान?
दिल्ली से लखनऊ पहुंचा "बेशर्मी मोर्चा" :किया भौंडा प्रदर्शन
अन्ना की गिरफ्तारी के विरोध में सड़कों पर जन सैलाब उमड़ा
शीला को लेकर कांग्रेस बेफिक्र, समूचे दिल्ली में भाजपा का व्यापक प्रदर्शन
कुख्यात नक्सली के सरेंडर मामले में रघुबर सरकार की मुश्किलें बढ़ी, HC के बाद PMO ने लिया कड़ा संज्ञान
मोदी-मनमोहन मिलन में यूं दिखा भारतीय लोकतंत्र की खूबसूरती
टॉपलेस हुई अन्ना की यह कैसी दीवानी अभिनेत्री !
रांची का कशिश न्यूज चैनल बना ऐय्याशी का अड्डा, न्यूज हेड गंगेश गुंजन की जय हो!
ताबडतोड फैसले ले रहे है झारखण्ड के राज्यपाल
नीतीश-जदयू से जुड़े ‘आम्रपाली घोटाले’ के तार, धोनी को भी लग चुका है चूना
पीएम मोदी के खिलाफ महागठबंधन प्रत्याशी तेज बहादुर का नामांकण रद्द! जाएंगे सुप्रीम कोर्ट
अर्जुन मुंडा जी,आपका मुख्य सचिव पगला गया है क्या ?
नीतिश-राज:सुशासन की पोल खोलती कायम घोर कुशासन
गैस सिलेंडर लदी बस में आग, 10 लोग जिन्दा जले, हरनौत बाजार के पास लगी आग

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter