अब झारखण्ड मे कांग्रेस का नया खेल सुरू

Share Button

बाबूलाल मरांडी बनेगे राज ठाकरे!

कांग्रेस ने झारख्ण्ड मे जेवीम सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल मरांडी को उस नये मुखौटे मे पेश करना शुरू कर दिया है,जिसका अन्देशा पहले से था.प्रांत के इकलौता सांसद व केन्द्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने पार्टी की कथित महारानी सोनिया गान्धी तथा युवराज राहुल गान्धी के चुनावी दौरे के बाद जिस तरह के बयान देने शुरू किये है,उससे एक बडी आबादी सहम सी गई है.उल्लेखनीय है कि आसन्न विधानसभा चुनाव मे कांग्रेस ने जेवीम के साथ गठबन्धन किया है. श्री सहाय ने “डोमिसाईल”यानि स्थानियता जैसे संवेदनशील मुद्दे के कट्टर समर्थक श्री मरांडी को क्लीनचीट देते हुये ईमानदार व विकासपरक नेता करार दिया है.राजनीतिक विशेष्लेशक बताते है कि कांग्रेस ने ये तेवर सोनिया-राहुल की उस चुनावी सभा के बाद अपनाई है, जो ज्यादा कारगर होते नही दिख रहे है. ऐसे मे आदिवासी समुदाय के वोट को झामुमो तथा अन्य स्थानीय दलो के कब्जे से खींचने हेतु यह नया फार्मूला ईजाद किया है. कांग्रेस का मानना है कि जिस तरह से महाराष्ट्र मे शिव सेना सुप्रीमो बाल ठाकरे को कमजोर करने मे मनसे नेता राज ठाकरे ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, ठीक उसी तरह झारखण्ड मे बाबूलाल मरांडी को समर्थन दिया जाय. जिससे आगे की राजनीति मजबूत हो सके.

याद रहे कि बिहार राज्य से जब अलग होकर झारखण्ड राज्य का निर्माण हुआ,तब भाजपा ने श्री बाबूलाल मरांडी को ही मुख्यमंत्री बनाया था.लेकिन सत्ता मे आते ही मरांडी ने बिहार का “लालू यादव” बनने की लालसा मे “डोमिसाईल”का मुद्दा छेड दिया.नतीजतन तब समुचा झारखण्ड प्रांत स्थानीयता वनाम बाहरी की आग मे जलने लगा.उस समय भारी जान-माल का नुकसान हुआ था.चूकि झारखण्ड शुरू से ही भाजपा का गढ रहा है,अतः येन-केन-परक्रेण कांग्रेस अपना सिक्का जमाना चहती है.
0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

झारखण्ड:पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराना सिबू सरकार के लिये एक गंभीर चुनौती/आपस मे खुलकर टकरायेग...
हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!
शपथ ग्रहण से पहले किसान कर्जमाफी की तैयारी शुरू
PM मोदी की रैली से जीते लालू के दामाद !
शिबू सोरेन ने कांग्रेस को नकारते हुये भाजपा के साथ सरकार बनाने के स्पष्ट संकेत दिया.
खेल के साथ बिजनेस भी करेगे धौनी
"नीतीश की कूटनीति का एक हिस्सा है नई चुनावी हार"
मोदी-शाह का गिरा ग्राफः महज 2 साल में 71% से 40% पर पहुंच गई BJP की सत्ता
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केसः नहीं हुई किसी लड़की की हत्या, अन्य के हैं मिले कंकाल-हड्डियां!
अन्ना को धन्यवाद,लेकिन उनका आंदोलन लोकतंत्र के लिए खतरनाकः राहुल गांधी
"झारखंड में दिखेगी विनाश की रेखा !!"
किसने बनाया ये सुअरखाना ?
हैदराबाद गैंग रेप-मर्डरः पुलिस ने चारो आरोपी को रिमांड अवधि में वारदात स्थल पर ले जाकर मार गिराया
शिबू सोरेन के समर्थन मे 81 सदस्यीय विधानसभा मे 44 विधायको ने राज्यपाल के सामने दावा ठोंका
विवादित मुद्दों पर फिर बंटा नजर आ रहा है बॉलीवुड!
ई है सुशासन बाबू की नालन्दा नगरिया: सर्वत्र उठा सवाल,दोषी कौन?कुशासन या किसान?
कौन है रांची के इस चैनल का मालिक! कौन चला रहा है इसे!
"शादी पूर्व ही यौन-सम्बन्ध स्थापित करने का आम प्रचलन है इस 'नव इसाई समुदाय' में "
कन्हैया कुमार पर जानलेवा हमला, जदयू सांसद का बाहुबली पति हाउस अरेस्ट
झारखंड:शिबू सोरेन अब भी ताकतवर नेता
मेरे वतन के लोगों...गीत सुनते ही राजघाट पर रो पड़े अन्ना
पिछले चार साल मे लाखपति से अरबपति बने नीतिश के ये चहेते मंत्री
देश को कहां ले जाएगी अन्ना और संसद का टकराव
सरकारी लोकपाल को कैबनेट की मंजूरी, अन्ना विफरे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter