चमचागिरी+ अहंकारी = ब्लॉगर कृष्ण बिहारी

Share Button

इस दुनिया में कुछ ऐसे भी दुर्लभ
ज्ञानी हैं…जो दूसरों के विचार नहीं झेल  पाते हैं और आगबबुले हो उठते हैं .

वे इतना भी नहीं समझ पाते कि आखिर वे
कर क्या रहे हैं. जी हां, मैं
बात कर रहा
हूं…ब्तॉगर कृष्ण बिहारी मिश्र की.ये महाशय vidrhi24 url से पत्रकारिता का सच नामक ब्तॉग लिखते हैं..उनमें ऐसी
बातें होती है,जिसे शायद ही कोई पचा सके….यदि
आपने कोई कमेंट दिया तो उसे नजर पड़ते ही ये सर्व ज्ञानी मिश्र जी मिटा डालते हैं….कुछ दिन
पहले जब एक फ्रेंड ने इस बात की जानकारी दी तो विश्वास नहीं हुआ लेकिन,खुद आजमाया तो यकीन हो गया.
बताते चलें कि ये साहब आज-कल रांची
के एक कुकुरमुत्ता छाप हाल ही में उगे खबरिया चैनल में इनपुट कॉर्डिनेटर हैं और 3-4
माह बाद ही चैनल हेड बनने के लिए मालिक की
चमचागिरी में दिन-रात जुटे हैं…इनकी गंदी राजनीति के शिकार होकर कई लोग चैनल को बाय बोल चुके
है..कई बोलने वाले हैं….यह चैनल रातो रात करोड़ो-अरबों के मालिक बने एक बिल्डर का है.
इसके पूर्व वे कई अच्छे चैनलों के चक्कर भी लगा चुके हैं..लेकिन अपने “अथाह
ज्ञान” के बाबजूद कहीं नहीं टिक पाए..इन्होंने पत्रकारिता का इतिहास
नामक एक दुबली-पतली ही सही एक पुस्तक भी लिखी है…बहुतेरे इसे पत्रकारिता का
बकवास कहते हैं….रांची
की मीडिया में युवा प्रतिभा इन्हे ” स्वीट प्वायजन ” कहते हैं. इनकी सोच है कि
कोई यदि मीडिया हाउस के मालिक को नए पत्रकारो के हाथ-पैर से खून निकाल कर चरणों में अर्पित कर
सकता है…तो उनमें सीधे दिलोदिमाग से निचोड़ने की क्षमता है.

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

तमाड़ के भूत से भयभीत हैं शिबू सोरेन?
रांची के रिम्स में लालू से मिलकर यूं गरजे बिहारी बाबू- ‘खामोश’
खट्टर सरकार को हाई कोर्ट की कड़ी फटकार, कहा- राजनीतिक स्वार्थ में डूबी रही सरकार
आरक्षण को लेकर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति जनजाति आयोग का कड़ा रुख
समूचे देश मे राज्यो का पुनर्गठन एक साथ हो : नीतीश-पासवान
झारखण्ड: कौन बनेगा सीएम? आदिवासी या सदान?
एक बड़ी लूट का पर्याय बना विकास(रांची) से बरही (हजारीबाग) एन.एच.-३३ फोरलेनिंग कार्य
मीडिया : आखिर सोच-सोच में फर्क क्यों है ?
झारखण्ड उग्रवाद का दूसरा कुख्यात नाम
सरकार राजी, अब रामलीला मैदान में होगा अन्ना का अनशन
राष्टीय आंदोलन वनाम बाबा रामदेव और अन्ना हजारे
संगठित-संरक्षित अपराधों की शरण स्थली बना पारधी ढाना
मानव भ्रष्टाचार के नाम पर राजनीति कब तक !!
दिल्ली के इस विधानसभा सीट पर आमने-सामने होंगे नीतीश-तेजस्वी
"स्कीजोफ्रेनिया" के शिकार हैं शिबू सोरेन!
आशाराम बापू : कानून से उपर का संत या अपराधी?
मेरी सरकार को प्रमाण-पत्र देने से पहले राहुल बताये कि वे बिहार के विकास के लिए वे क्या कर रहे: नीतीश...
जेएनयू में बोले नोबेल विजेता अभिजीत- ‘क्लास फेलो थी वित्त मंत्री सीतारमण’
कसाई कौन ? डॉक्टर या दैनिक भास्कर ?
वाराणसी के इस शहीद के घर नहीं पहुंचा कोई अधिकारी-जनप्रतिनिधि
गुजरात मॉडलः एक्जाम में सभी 199 जज और 1372 वकील फेल, रिजल्ट शून्य!
बताओ भाई, आखिर "वंशवाद के विरोधी" और "युवराज" कैसे हैं राहुल गाँधी
बिहारः यहां माता सीता ने की थी प्रथम छठ व्रत, मंदिर में मौजूद आज भी उनके चरण !
रोहित के बल्ले से उड़े दिग्गजों के रिकार्ड, ब्रेडमैन भी हुए पीछे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter