» तीन तलाक को राष्ट्रपति की मंजूरी, 19 सितंबर से लागू, यह बना कानून!   » तीन तलाक कानून पर कुमार विश्वास का बड़ा रोचक ट्विट….   » मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » बिहार के विश्व प्रसिद्ध व्यवसायी सम्प्रदा सिंह का निधन   » पत्नी की कंप्लेन पर सस्पेंड से बौखलाया था हत्यारा पुलिस इंस्पेक्टर   » कर्नाटक में सरकार गिरना लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय : मायावती   » समस्तीपुर से लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का निधन   » दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन   » अपनी दादी इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी प्रियंका?   » हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!  

अर्जुन मुंडा जी, ई आपका मुख्य सचिव भू-माफ़ियाओं के साथ बड़ा “गेम” कर रहा है

Share Button
शीर्षक पढ़कर चौंकिये मत. बात हम झारखंड के मुख्य सचिव ए.के.सिंह की कर रहे हैं.इस साहेब का कहना है कि राजधानी रांची के चारो ओर निर्माणाधीन करीब दो सौ फीट चौड़ी सड़क (रिंग रोड) को भविष्य में और चौड़ा करने के लिये दोनों ओर ३००-३०० फीट और भूमि अधिग्रहित की जायेगी. ३००-३०० फीट का अर्थ है कुल ६०० फीट यानि करीब-करीब आधा किलोमीटर चौड़ी सड़क.

अब ज़रा कल्पना कीजिये, रांची के चारों ओर जिन क्षेत्रों से होकर २०० फीट चौड़ी रिंग रोड बनाई जा रही है उसे हाल ही में अधिग्रहित की गई है और उसका अभी मुआवजा राशि का भुगतान की प्रक्रिया ही चल रही है.सरकार की इस अदूरदर्शी प्रक्रिया में हजारों लोग बेघर-बार हो चूके हैं.यदि इसके अलावे यदि पुनः ६०० फीट चौड़ा क्षेत्र अधिग्रहित किया गया तो शहरी क्षेत्र के लाखों लोग तो बेघर-बार तो होगें ही, गाँव के गाँव उजड़ जायेगें.

इस मुद्दे पर बिल्कुल असंवेदनशील समाचार पत्रों में खबर प्रकाशित होने के बाद प्रभावित क्षेत्रों में हडकंप मच गया है और लोग इतने गुस्से में हैं कि दो सौ फीट चौड़ी सड़क का निर्माण भी बाधित होनी तय है,यदि सरकार ने अपनी स्थिति स्पष्ट न कीझारखंड के नव पदास्थापित मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा को चाहिये कि राज्य के मुख्य सचिव से अविलंब जबाव तलब कर अपनी सरकारी नीति तय करें कयोंकि विकास का अर्थ यह नहीं है कि उसका आधार मूलतः व्यापक विनाश हो और जहां विनाश होगा,वहाँ अपराध-उग्रवाद बढ़ेगा: जिसे रोक पाना काफी मुश्किल होगी

Share Button

Related News:

राम ही खुद तय करेगें अयोध्या में मंदिर निर्माण की तारीखः योगी आदित्यनाथ
घर के शेर विदेश में ढेर, 2 टेस्ट और 4 पारियां, 803 रन भी नहीं बना पाई टीम इंडिया
राष्ट्रपति ने राजीव गांधी के हत्यारों की दया याचिका खारिज करने में 5 वर्ष लगाए !
आखिर अन्ना इतने जिद्दी क्यों हैं !
साईबर अपराधियों का यूं हुआ भंडाफोड़,भारी सबूत बरामद
नादानी बाड़मेर एसपी की, बदनामी पटना पुलिस-बिहार की
दिल्ली के सर्वोदय बालिका विद्यालय में 14 छात्राएं शराब पीते हुए पकड़ी गईं
झारखंड की बदहाली कांग्रेस की गलत नीतियो की देन : नीतिश
सिद्धांतहीन नीतीश की इस बार अंतिम पलटीः लालू यादव
'इ जनता बा मोदी जी! दौड़ा-दौड़ा के सवाल पूछी'
नीतिश जी,ई कैसन सुशासन है आपके घर-जिले में:पुछिये न अपने नौकरशाह से.
झारखंडी पत्रकारिता के बाबा की निगरानी के बाद भी दैनिक सन्मार्ग की ये हालत!
गैस सिलेंडर लदी बस में आग, 10 लोग जिन्दा जले, हरनौत बाजार के पास लगी आग
सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के बीच जूतमपैजार :न्यायायिक व्यवस्था पर उठे सवाल
इस राजनीतिक माहौल में मेरी छाया भी बगावत कर गईः शरद यादव
अनिल अंबानी के नहीं आए अच्छे दिन, तिलैया अल्ट्रा मेगा पावर प्रोजेक्ट रद्द
पटना जंक्शन पर विक्रमशिला एक्सप्रेस से असलहे का जखीरा बरामद, एक गिरफ्तार
झारखण्ड : "प्रभात ख़बर औए ३६५ दिन में सौतन-डाह"
आयकर विभाग के निशाने पर हैं झारखण्ड-बिहार के कई चैनल
झारखंड के मुख्यमंत्री शिबू सोरेन में "स्कीजोफ्रेनिया" के लक्षण
कसाई कौन ? डॉक्टर या दैनिक भास्कर ?
एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?
लंदन में सोशल साइटों के जरिये युवा फैला रहे हैं दंगा
दैनिक प्रभात खबर की यह कैसी पत्रकारिता

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां  
error: Content is protected ! india news reporter