» एक दशक बाद सलमान खान का ब्रिटेन में द-बंग टूर   » जुड़वा 2 का ट्रेलर जारी, राजा व प्रेम के किरदार में वरुण धवन   » नई दिल्ली की सेटिंग के बाद एक मंच पर आये अन्नाद्रमुक के नेता,पन्नीरसेल्वम होगें DCM   » ‘नाजिर की मौत पर गरमाई राजनीति, महाव्यापमं की राह पर सृजन घोटाला’   » सनातन धर्मावलंबियों की सुसभ्य संस्कृति वाहक है मंदार पर्वत   » लापरवाही की हदः गोरखपुर BRD मेडिकल कॉलेज में 5 दिनों में 60 की मौत   » गोरखपुर BRD मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई ठप होने से 30 बच्चों की मौत   » ममता बनर्जी ने शुरु की ‘भाजपा भारत छोड़ो आंदोलन’   » शर्मनाकः विश्व प्रसिद्ध नालंदा में सैलानियों को सामान्य सुविधाएं भी नसीब नहीं !   » कल CM,PMO,DGP,DIG,SSP,CSP को भेजा ईमेल, आज सुबह पेड़ से यूं लटकता मिला उसका शव    

रेलवे सफर में ये आपके हैं अधिकार

Share Button

इंडियन रेलवे भारतीयों की जिंदगी में एक खास स्थान रखता है। यात्रियों को अच्छी और सुरक्षित यात्रा कराना भारतीय रेलवे की जिम्मेदारी है। रेल विभाग की तरफ से अपने यात्रियों को कई सुविधाएं दी जाती हैं लेकिन इन सुविधाओं के बारे में अधिक जानकारी न होने की वजह से यात्रियों को सफर के दौरान कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। आज हम आपको रेल सफर से जुड़े कुछ अधिकारों के बारे में बताएंगे जिनके बारे में ज्यादातर यात्रियों को पता नहीं होता।

सफर के दौरान क्या होते हैं एक यात्री के अधिकारः अगर आप रेल से सफर करने जा रहे हैं तो अपने इन अधिकारों के बारे में जान लीजिए। क्योंकि एक रेल यात्री को अपने इन अधिकारों के बारे जानकारी होना जरूरी है।

अगर आपका आरक्षित टिकट खो गया है फिर भी आप कुछ अतिरिक्त किराया देकर यात्रा कर सकते हैं।अगर आप सिर्फ प्लेटफार्म टिकट के साथ ट्रेन में चढ़ गए हैं तो परेशान न हों और TTE के पास जाकर टिकट बनवा लें।आरएसी टिकट वाले यात्रियों को यात्रा के दौरान हाफ सीट मुहैया कराना TTE की जिम्मेदारी होती है।

रोगी, वरिष्ठ नागरिक, पुरस्कार प्राप्तकर्ता, युद्ध शहीदों की विधवाएं, छात्र, युवा, किसान, कलाकार-खिलाड़ी और चिकित्सा व्यावसायी समेत रेलवे कई और श्रेणियों में रियायत देता है। इन रियायतों के बारे में आप ज्यादा जानकारी ‘रियायत नियम’ पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं।

सफर के दौरान TTE को करने होते हैं ये जरूरी कामः सफर के दौरान अक्सर यात्रियों को बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ा है। इन समस्याओं में साफ सफाई पानी की दिक्कत और महिला सुरक्षा मुख्य हैं। यात्रा के दौरान हमें समझ में नहीं आता है कि हम इन समस्याओं से कैसे निपटें? आपके लिए ये जानना जरूरी है कि सफर के दौरान TTE का  काम सिर्फ टिकट चेक करना नहीं होता है।

रेल यात्रा करने वाले बहुत कम लोगों को पता होता है कि ट्रेन के दरवाजों को खुलवाना और बंद करवाना भी TTE का ही काम होता है।ट्रेन में यात्रा कर रही अकेली महिला के बगल में केवल किसी महिला को ही सीट देना भी TTE के कार्यक्षेत्र में आता है।ट्रेन में पानी खत्म हो जाने पर TTE को अगले स्टेशन पर ट्रेन में पानी भरवाना होता है।टॉयलेट गंदा होने की स्थिति में टॉयलेट को साफ करवाना भी TTE  की जिम्मेदारियों में से एक है।ट्रेन में पंखे और लाइट खराब होने पर आप TTE से शिकायत कर सकते हैं। TTE को आपकी शिकायत पर एक्शन लेना ही होता है।ट्रेन में साफ-सफाई का ध्यान भी TTE को ही रखना होता है।TTE को यात्रा के दौरान साफ सुथरी वर्दी और नेम बैज के साथ होना भी जरूरी है।

रेलवे की तरफ से दी जाती है वरिष्ठ नागरिकों को विशेष छूटः 60 साल से ज्यादा उम्र के व्यक्ति वरिष्ठ नागरिक की सूची में आते हैं। वरिष्ठ नागरिक हमारे देश के गौरव हैं और उनके योगदान के कारण ही हमारा और आपका आज बेहतर हो रहा है। रेलवे विभाग की ओर से वरिष्ठ नागरिकों को यात्रा के दौरान किराए में विशेष छूट दी जाती है। सरकार की इस विशेष छूट का फायदा हमारे बहुत कम वरिष्ठ नागरिक उठा पाते है। ऐसा इसलिए भी है क्योंकि वे इस बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं।

पुरुष वरिष्ठ नागरिक को रेल किराए में 40 फीसदी छूट मिलती है तो वहीं महिला वरिष्ठ नागरिक को 50 फीसदी छूट मिलती है। भारतीय रेलवे के मुताबिक महिला वरिष्ठ नागरिक उसको माना जाएगा जिसकी आयु 58 वर्ष हो चुकी हो। इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आपके पास आईडी प्रूफ के तौर पर वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस या फिर सीनियर सिटीजन कार्ड होना जरूरी है। टिकट बुक करते समय वरिष्ठ नागरिक प्रमाण दिखाकर टिकट किराए में रेलव के तरफ से दी जने वाली छूट का फायदा उठा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pin It on Pinterest