50-50 फॉमूले ने 20 साल बाद भाजपा को फिर किया सत्ता से दूर

Share Button

1999 में यह कहानी तब सामने आई थी, जब भाजपा नेता गोपीनाथ मुंडे ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद की मांग पर अड़कर हाथ आई सत्ता गंवा बैठे थे……”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। महाराष्ट्र की राजनीति में 20 साल बाद इतिहास खुद को दोहराता दिखाई दिया जब 50-50 फॉमरूले के चक्कर में एक बार फिर सत्ता भाजपा के हाथ से फिसल गई।

1995 में शिवसेना-भाजपा गठबंधन पहली बार सत्ता में आया था। तब शिवसेना ने 169 सीटों पर लड़कर 73 सीटें और भाजपा ने 116 सीटों पर लड़कर 65 सीटें हासिल की थीं।

चूंकि दोनों दलों के बीच ज्यादा सीटें पाने वाले दल का मुख्यमंत्री बनने का फॉमरूला तय था इसलिए शिवसेना के मनोहर जोशी मुख्यमंत्री बने थे और भाजपा के गोपीनाथ मुंडे उपमुख्यमंत्री।

गोपीनाथ मुंडे ने 1999 के चुनाव में बराबर सीटों पर लड़ने का दबाव बनाया, लेकिन वह सफल नहीं हो सके। शिवसेना फिर भाजपा से करीब 53 अधिक सीटों पर चुनाव लड़ी और 69 सीटें जीती।

भाजपा को 56 सीटें हासिल हुईं। दोनों दलों को मिलाकर 125 सीटें हो रही थीं। निर्दलीय विधायकों की संख्या 30 थी। चुनाव शिवसेना के मुख्यमंत्री नारायण राणो के नेतृत्व में हुए थे।

1999 में भाजपा के गोपीनाथ मुंडे ने भी सीएम पद पर की थी इसी तरह 50-50 की मांग, तब हाथ से फिसल गई थी सत्ता।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

झारखंड : न्यायालय व प्रेस अधिनियमों की धज्जियाँ उड़ा रहा है "दैनिक भास्कर"
अन्ना टीम के जन लोकपाल विधेयक पर सियासी दलों का मंथन
'अर्द्धसत्य का दमदार विलेन रामा शेट्टी'
झारखंड का कोई भी नेता नीतीश कुमार क्यो नही बनना चाहता?
झारखंड के मुख्यमंत्री शिबू सोरेन में "स्कीजोफ्रेनिया" के लक्षण
पटना जंक्शन पर विक्रमशिला एक्सप्रेस से असलहे का जखीरा बरामद, एक गिरफ्तार
नीतीश के सुशासन को लेकर उनके घर-जिले मे उठा सवाल:दोषी कौन?कुशासन या किसान?
झारखंड विधानसभा चुनाव:रांची जिला, रांची क्षेत्र के उम्मीदवारो को मिले मत
झारखंड मे धन-बल का खेल: भ्रष्टाचारी जीते, शोर मचाने वाले दिग्गज हारे
राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने की संपत्ति की घोषणा !! : इसकी जांच कौन करेगा?
फर्जी निकला रांची प्रेस क्लब का पता? डाकघर से यूं लौटी लीगल नोटिश
रांची के दैनिक सन्मार्ग ने दिया मानवता का परिचय
Keep the faith, keep up the fight :Arvind Kejriwal
झारखंडी राजनीति के "अमर-अकबर-अंथोनी" यानि......अर्जून-शिबू-सुदेश.
500 कार सवारों के साथ अन्ना ने किया “आजादी की दूसरी लड़ाई” का शंखनाद
बिहार में क़ानून व्यवस्था की ताजा स्थति से संतुष्ट हैं नीतीश कुमार
झारखंड:बहुत कठिन डगर दिख रही है शिबू सोरेन की.
विदेश सचिव का बयान- सिर्फ आतंकी थे टारगेट, 300 मारे गए   
जानिए कौन थे लाफिंग बुद्धा, कैसे पड़ा यह नाम
राष्टीय आंदोलन वनाम बाबा रामदेव और अन्ना हजारे
विदेशी लहर है भारत पहुंची “बेशर्मी मोर्चा”
रांची के रिम्स में लालू से मिलकर यूं गरजे बिहारी बाबू- ‘खामोश’
गुजरात मॉडलः 7 डॉक्टर और 450 इंजीनियरों ने एक साथ ज्वाइन की चपरासी की नौकरी !
रजरप्पा : महापाप का तांडव और मीडिया-1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter