» दोधारी तलवार बनती वर्ल्ड टेक्नोलॉजी   » बड़ा रेल हादसाः रावण मेला में घुसी ट्रेन, 100 से उपर की मौत   » देश में 50 करोड़ मोबाइल सीम कार्ड बंद होने का खतरा   » नीतीश की अबूझ कूटनीति बरकरारः अब RCP की उड़ान पर PK की तलवार   » Me Too से घिरे एम जे अकबर का मोदी मंत्रिमंडल से अंततः यूं दिया इस्तीफा   » ……और तब ‘मिसाइल मैन’ 60 किमी का ट्रेन सफर कर पहुंचे थे हरनौत   » बिहारियों के दर्द को समझिए सीएम साहब   » 70 फीट ऊँची बुद्ध प्रतिमा के मुआयना समय बोले सीएम- इको टूरिज्म में काफी संभावनाएं   » ‘लोकनायक’ के अधूरे चेले ‘लालू-नीतीश-सुशील-पासवान’   » नीतीश-जदयू से जुड़े ‘आम्रपाली घोटाले’ के तार, धोनी को भी लग चुका है चूना  

3 स्टेट पुलिस के यूं संघर्ष से फिरौती के 40 लाख संग धराये 5 अपहर्ता, अपहृत भी मुक्त

Share Button

INR.  उप्र एसटीएफ, जनपद रीवा (मप्र) पुलिस एवं शिवसागर थाना, जनपद रोहतास, बिहार पुलिस के संयुक्त रूप अभियान से बीतो 7 जुलाई को व्यवसायी संतबहादुर सिंह उर्फ लाला का अपहरण कर 40 लाख रुपये की फिरौती मांगने वाले गिरोह के 5 अपहर्ताओं को फिरौती के नकद 40 लाख रुपये के साथ अंततः दबोच ही लिया।

दबोचे गये लोगों में 1. बलिन्दर कुमार सिंह उर्फ राजेश सिंह पुत्र तापेश्वर सिंह, निवासी पटौधी, थाना मदनपुर, जिला औरंगाबाद 2.     नारायण लोहार पुत्र झगना लाल लोहार, निवासी नानक नगर, थाना भबर कुआं, जनपद इन्दौर 3. अंकित कुमार पुत्र स्व. जसवन्त सिंह, निवासी परवती, थाना कतरीसराय, नालन्दा 4. सैलम रजा पुत्र जलालउद्दीन, निवासी मनोहर छपरा, थाना बरूराज, मुजफ्फरपुर 5. अजीत कुमार सिंह पुत्र अरबिन्दसिंह, नि0परवती, थाना कतरीसराय, जिला नालन्दा शामिल हैं।

अपहर्ताओं से 1 देशी लोडेड पिस्टल, लोडेड मैगजीन एवं 7 जिंदा कारतूस, चालीस लाख रूपये नकद  (2000 रुपये की 20 गड्डी), 2 मोबाईल फोन एवं 3 सिम कार्ड, 1 अपाची मोटरसाईकिल रंग लाल एवं एक मध्य प्रदेश की पुलिस वर्दी  बरामद की गई है।

दबोचे गये अपराधियों में बलिन्दर सिंह के उपर लूट एवं अपहरण से जुड़े करीब 39 मुकदमें दर्ज हैं। वह रीवा, मध्य प्रदेश जेल से 2016 से फरार चल रहा था, जिस पर मध्यप्रदेश सरकार द्वारा ईनाम घोषित किया गया था। इसके विरूद्ध लूट एवं अपहरण से सम्बन्धित मुकदमें बिहार, महाराष्ट्र में भी दर्ज हैं। अपराधियों को बिहार के रोहतास जिले के शिव सागर थाना के शिवसागर पुलिस चेकनाका से दबोचा गया है।  

बताया जाता है कि 23 जुलाई,18 को व्यवसायी संतबहादुर सिंह उर्फ लाला पुत्र दिलराज सिंह चौहान (33) को अज्ञात व्यक्तियों द्वारा अपरहण कर लिया गया। जिसके सम्बन्ध में थाना विश्वविद्यालय, जनपद रीवा, मध्यप्रदेश पर पंजीकृत मुअसं-0272/18 है।

मध्यप्रदेश पुलिस महानिरीक्षक द्वारा उक्त व्यवसायी की सकुशल बरामदगी हेतु उतर प्रदेश के पुलिस एसटीएफ महानिरीक्षक अमिताभ यश से वार्ता की गयी। उसके बाद श्री यश द्वारा  उप्र एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह को उक्त व्यवसायी की सकुशल बरामदगी एवं मध्यप्रदेश पुलिस को सहयोग हेतु निर्देशित किया गया।

इसके बाद उप्र एसटीएफ के अपर पुलिस अधिक्षक विशाल विक्रम सिंह को अपृहत व्यवसायी संतबहादुर सिंह उर्फ लाला उपरोक्त को सकुशल बरामद किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।

उक्त के क्रम में श्री सिंह के निर्देशन एवं एसटीएफ फील्ड इकाई कानपुर एवं श्री नवेन्दु कुमार, पुलिस उपाधीक्षक एसटीएफ फील्ड इकाई इलाहाबाद के पर्यवेक्षण में विशेष टीमों का गठन कर अभिसूचना तन्त्र को सक्रिय किया गया।

इस दौरान बीते 5 सितंबर की शाम को अभिसूचना संकलन के दौरान ज्ञात हुआ कि अभियुक्त एवं अपहृत संतबहादुर उपरोक्त को बिहार में किसी स्थान रखा गया है।

इसके बाद 6 सितबंर की सुबह ही जनपद रीवा, मध्यप्रदेश पुलिस एवं एसटीएफ उप्र फील्ड इकाई इलाहाबाद की टीम अभियुक्तों की गिरफ्तारी एवं अपहृत की सकुशल बरामदगी हेतु बिहार के लिए रवाना हो गयी। टीम के साथ अपहृत व्यवसायी के पिता व भाई साथ थे।

अपहृत व्यवसायी के परिवार से फिरौती के लिये चालीस लाख रूपये की मांग की गयी थी। अपहरणकर्ताओं द्वारा चालीस लाख रूपये की राशि चलती ट्रेन से सफेद कपडे़ से इशारा करने पर गिराने हेतु कहा गया था।

इस पर पूरी टीम पुरुलिया (पश्चिम बंगाल) पहुंच गयी। तब अपहरणकताओं द्वारा व्यवसायी के परिवार को फोन किया गया कि आप लोग यही उतर कर धनबाद चले आईये। इस पर पूरी टीम धनबाद पहुंच गई।

धनबाद पहुंचने के 2 घण्टे बाद अपहरणकर्ताओं का पुनः फोन आया कि आप लोग दून एक्सप्रेस पकड़कर मुगलसराय आ आईये। तब पूरी टीम दून एक्सप्रेस से मुगलसराय के लिए रवाना हो गई।

तब रास्ते में परसनाथ रेलवे स्टेशन के पास फोन आया कि आगे जहां भी ट्रेन रूकती है, आप लोग वहीं उतर जाईयें और पुनः धनबाद आ जाईये। इस पर पुनः पूरी टीम धनबाद वापस आ गयी।

इसके बाद अपहरणकर्ताओं द्वारा यह बताया गया कि हावड़ा मुम्बई एक्सप्रेस से मुगलसराय की तरफ आईयें मै आपको बताऊगा कि पैसा कहा फेंकना है। तत्पश्चात अपहरणकर्ताओं का फोन आया कि सफेद कपड़े पहने सफेद झण्डा लेकर एक लड़का कैमूर जिला अन्तर्गत मोहनिया कुदरा स्टेशन के बीच बांए तरफ खड़ा है वहीं बैग गिरा दीजिए।

संयुक्त टीम अपनी उपस्थिति को छिपाते हुए अपहृत एवं अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु इलाहाबाद से पश्चिम बंगाल, झारखण्ड एवं बिहार में 2 दिनों तक पीछा करती रही।

इसी क्रम में बीते 8 सितंबर को एसटीएफ उप्र, जनपद रीवा, मध्यप्रदेश पुलिस एवं शिवसागर थाना, जनपद रोहताश, बिहार पुलिस के संयुक्त रूप अभियान से हावड़ा मुम्बई एक्सप्रेस ट्रेन में एक रणनीति के तहत कुछ पुलिसकर्मियों को वाहन से रेलवे ट्रैक के किनारे-किनारे निगरानी हेतु लगाया गया।

इस दौरान सुबह सवा सात बजे कैमूर जिला अन्तर्गत मोहनियॉ कुदरा स्टेशन के बीच चलती ट्रेन से अपहरणकर्ताओं के ईशारे पर रूपया भरा बैग फेंक दिया गया। बैग फैकते ही ट्रेन में संयुक्त पुलिस टीम द्वारा चेन पुलिंग कर तत्काल ट्रेन से कूद कर रूपयों से भरे बैग सहित भगते हुए अपहरणकर्ताओं का पीछा किया गया।

साथ ही स्थानीय पुलिस को सूचित किया गया कि एक लाल रंग की अपाची मोटर साईकिल से 2 अपहरणकर्ता रूपया से भरा बैग लेकर जीटी रोड होते हुए सासाराम की तरफ भाग रहे है।

इसके उपरान्त एसटीएफ उप्र टीम, शिवसागर थाना पुलिस एवं मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा बल पूर्वक अभियुक्तों को हिरासत में ले लिया गया। गिरफ्तारी करने के दौरान अपहरणकर्ता द्वारा फायरिंग करने की नियत से पिस्टल भी निकाल गया था, लेकिन आवश्यक बल प्रयोग करते हुए उन्हें दबोच कर उनकी तलाशी ली गई एवं उपरोक्त बरामदगी की गयी।

पूछताछ पर अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि गिरोह के अन्य साथियों द्वारा मुजफ्फरपुर जिला अन्तर्गत बरूराज थाना क्षेत्र में अपराधकर्मी खालिद अंसारी मनोहर छपरा के घर पर अपहृत को पिछते 55 दिनों से छिपा कर रखा हुआ है।

इस सूचना पर पुलिस अधीक्षक मुजफ्फरपुर एवं बरूराज थाना से सम्पर्क कर एक टीम मुजफ्फरपुर पहुंचकर खालीद अंसारी के घर से अपहृत व्यवसायी संतबहादुर सिंह उर्फ लाला को सकुशल मुक्त कराया गया तथा तीन अपराधी अंकित, सैलम रजा एवं अजीत कुमार सिंह को दबोचा गया, जिसके पास से 1 देशी कट्टा बरामद किया गया।

Related Post

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

» ‘लोकनायक’ के अधूरे चेले ‘लालू-नीतीश-सुशील-पासवान’   » जो उद्योग तम्बाकू महामारी के लिए जिम्मेदार हो, उसकी जन स्वास्थ्य में कैसे भागीदारी?   » इस बार उखड़ सकते हैं नालंदा से नीतीश के पांव!   » जानिये मीडिया के सामने हुए अलीगढ़ पुलिस एनकाउंटर का भयानक सच   » कौन है संगीन हथियारों के साये में इतनी ऊंची रसूख वाला यह ‘पिस्तौल बाबा’   » पटना साहिब सीटः एक अनार सौ बीमार, लेकिन…   » राम भरोसे चल रहा है झारखंड का बदहाल रिनपास   » नोटबंदी फेल, मोदी का हर दावा निकला झूठ का पुलिंदा   » फालुन गोंग का चीन में हो रहा यूं अमानवीय दमन   » सड़ गई है हमारी जाति व्यवस्था  
error: Content is protected ! india news reporter