Share Button

जाति जनगणना पर फ़ैसला नहीं
जाति के आधार पर जनगणना आख़िरी बार 1931 में हुई थी

जनगणना में जाति को आधार बनाया जाए या नहीं, इस सवाल पर मंत्रिमंडल समूह (जीओएम) की बैठक में गुरुवार को कोई फ़ैसला नहीं हो सका.

इस समूह में शामिल कपिल सिब्बल ने बैठक के बाद पत्रकारों से इतना ही कहा, “जीओएम में इस विषय पर पूरी तरह से चर्चा हुई और ये फैसला हुआ है कि हम दोबारा मिलेंगे, जल्दी मिलेंगे.”

अभी यह घोषणा नहीं की गई है कि अगली बैठक कब होगी.

दरअसल इस मसले पर सरकार का नेतृत्व कर रही कांग्रेस और यूपीए गठबंधन के कई दलों के बीच मतभेद है.

इसी की वजह से मंत्रिमंडल में इस मसले पर कोई फ़ैसला नहीं हो सका था और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इस पर निर्णय लेने का जिम्मा मंत्रिमंडल समूह पर छोड़ दिया है.

इस मंत्रिमंडल समूह का नेतृत्व वित्तमंत्री प्रणव मुखर्जी कर रहे हैं.

गुरुवार को हुई बैठक में क़ानून मंत्री वीरप्पा मोइली, गृहमंत्री पी चिदंबरम, मानव संसाधन मंत्री कपिल सिब्बल, शहरी विकास मंत्री जयपाल रेड्डी और सामाजिक न्याय मंत्री मुकुल वासनिक शामिल हुए.

लेकिन अक्षय ऊर्जा मंत्री फारूक़ अब्दुल्ला, कृषि मंत्री शरद पवार और रेलमंत्री ममता बनर्जी इस बैठक में शामिल नहीं हुए क्योंकि दिल्ली में नहीं थे.
मतभेद

ग़ौरतलब है कि राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), समाजवादी पार्टी (एसपी) और जनता दल यूनाइडेट (जेडीयू) जाति आधारित जनगणना की वकालत कर रहे हैं.

शुरुआत में भाजपा भी इस मांग का समर्थन कर रही थी लेकिन बाद में भाजपा के भीतर भी कुछ मतभेद उभर आए हैं.

सत्तारूढ़ गठबंधन यूपीए का नेतृत्व कर रही कांग्रेस के भीतर इस मुद्दे पर खुले मतभेद हैं.

संसद में जाति आधारित जनगणना के मुद्दे पर हुई बहस के बाद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आश्वासन दिया था कि विभिन्न दलों की राय को ध्यान में रखते हुए वे इसे मंत्रिमंडल के समक्ष रखेंगे.

लेकिन मंत्रिमंडल में इस पर एक राय नहीं बन पाई.

जाति आधारित जनगणना का विरोध करने वालों का कहना है कि जब भारत को जाति-विहीन समाज बनाने की बात कही जाती है तब फिर जाति के आधार पर जनगणना क्यों होनी चाहिए.

लेकिन इसका समर्थन करने वालों का कहना है कि अगर जातियाँ हैं तो उनकी जानकारी हासिल करने में आपत्ति नहीं होनी चाहिए.

भारत में 1931 में आख़िरी बार जाति के आधार पर जनगणना हुई थी.

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

चुनाव के दौरान एक बड़ा नक्सली हमला, आइईडी विस्फोट में 16 कमांडो शहीद, 27 वाहनों को लगाई आग
महाराष्ट्र में बनेगी सरकार- ‘वक़्त के सागर में कई सिकन्दर डूब गए’
महाराष्ट्रः बनी NCP-BJP की सरकार, फडणवीस CM तो DCM बने पवार
दैनिक प्रभात खबर प्रवक्ता को विधायक बना डाला
झारखण्ड:पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराना सिबू सरकार के लिये एक गंभीर चुनौती/आपस मे खुलकर टकरायेग...
3 स्टेट पुलिस के यूं संघर्ष से फिरौती के 40 लाख संग धराये 5 अपहर्ता, अपहृत भी मुक्त
CAA पर रोक से SC का इन्कार, केंद्र से 4 हफ्ते में मांगी जवाब, सुनवाई कर सकती है संविधान पीठ
365दिन चैनल के प्रमुख के अमर्यादित वयान को लेकर पलामू चेम्बर औफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के सचिव ने इस्...
अन्ना ने पीएम को चिठ्ठी लिख लताड़ा, कहा 15 अगस्त को झंडोतोलन का हक नहीं
बढ़ते विरोध से बैकफुट पर मोदी सरकार, अभी देश भर में लागू नहीं होगी NRC
बिहारियों के दर्द को समझिए सीएम साहब
!!! भारतीय बाबाओं का उद्योगपति घराना’!!!
जी हां,ये हैं भारतीय मीडिया के खेवनहार या खिचड़ी परिवार
झारखण्ड:कोडा लूट-राज की जांच करने वालो के परिवारो पर आफत शुरू
राहुल गांधी का सचित्र ट्वीट- 'मानसरोवर के पानी में नहीं है नफरत’
धौनी के बाद सुबोध महतो बने झारखंड की शान, कभी साथ खेले धौनी मे इर्ष्या इतनी कि दो शब्द भी न बोले, ने...
कानून बनाओ या अध्यादेश लाओ, राममंदिर जल्द बनाओ : उद्धव ठाकरे
चिराग पासवान की दो टूक- मुश्किल होगी 2019 में NDA की डगर
झारखंड: गुरूजी ने राज्यपाल के सामने सरकार बनाने का दावा ठोंका
राजीव गांधी पर टिप्पणी के बाद बवाल, 72 गिरफ्तारः कांग्रेसी गए कोर्ट
लहरिया बाइकर्स के खिलाफ पटना एसपी की मुहिम में 6 धराए
राम रहीम के बाद अब फलाहारी बाबाः पीएम मोदी, भागवत, राजनाथ तक है कनेक्शन
करगिल युद्धः एक और विजय कहानी
कर्नाटक का 'नाटक' का अंत, येदियुप्पा का इस्तीफा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter