14 वर्ष बाद भी बिहार के अंगीभूत कॉलेजों में चल रही इंटर की पढ़ाई !

Share Button

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। बिहार प्रांत के पटना विश्वविद्यालय के अलावा प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के अंगीभूत कॉलेजों में इंटर की पढ़ाई हो रही है। जबकि, 14 वर्ष पहले ही आदेश जारी किया गया था कि दोनों वर्गों की पढ़ाई अलग अलग कर दी जाये।

हालांकि पटना विश्वविद्यालय के अलावा किसी भी विश्वविद्यालय ने अभी तक आदेश का पालन करने की जहमत नहीं उठायी है।

वर्ष 2006 में शिक्षा विभाग की ओर से जारी सर्कुलर को हर साल विश्वविद्यालयों में पहुंचाने की रस्म अदायगी को पहुंचाया जाता है। यहां करीब 248 अंगीभूत कॉलेजों में करीब तीन लाख से अधिक बच्चे नामांकन पाते हैं।

गौरतलब है कि पटना विश्वविद्यालय ने सर्कुलर जारी होने के एक साल के भीतर उसका न केवल पालन किया  था, बल्कि उन्हें पढ़ाने वाले शिक्षकों के 115 पद भी  सरेंडर कर दिये थे। शेष विश्वविद्यालय अभी भी इंटर के विद्यार्थियों को शासन के नियमों के  विपरीत पढ़ा रहे हैं।

सच पुछिए तो कॉलेज इंटर की कक्षाओं को अलग भी नहीं करना चाहते हैं। क्योंकि, बच्चों से उन कॉलेजों / विश्वविद्यालयों को अच्छा खासा पैसा मिलता है। ये पैसा डेवलपमेंट और ट्यूशन फीस के रूप में हासिल होता है।

दरअसल वर्ष 2006 में तत्कालीन शिक्षा मंत्री ने यह कहकर आदेश जारी करवाया था कि डिग्री कालेजों से इंटर को अलग करने से पढ़ाई की गुणवत्ता सुधरेगी। क्योंकि, उनकी पढ़ाई के प्रति प्रतिबद्ध टीचर होंगे। उसे नियंत्रित करने वाली एजेंसी भी अलग होगी। इससे उनमें समन्वय करने में आसानी होगी। 

हालांकि ऐसे भी लोग हैं जो कहते हैं कि कॉलेज और इंटर की पढ़ाई साथ-साथ होनी चाहिए। क्योंकि, इंटर में ही बच्चों को उच्च शिक्षा का अनुभव होता है। फिलहाल 14 साल पुराना ये आदेश खटाई में है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

राम रहीम के बाद अब फलाहारी बाबाः पीएम मोदी, भागवत, राजनाथ तक है कनेक्शन
एक और नीरव मोदी ने किया 187 करोड़ का घोटाला, PNB समेत 6 बैंकों को लगाया चूना
बिहारः पुलिस तंत्र पर भारी बालू माफिया, मुठभेढ़ में DSP समेत कई जख्मी, एक ग्रामीण की मौत
गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद
70 फीट ऊँची बुद्ध प्रतिमा के मुआयना समय बोले सीएम- इको टूरिज्म में काफी संभावनाएं
शादी के बहाने बार-बार यूं बिकती हैं लड़कियां और नेता 'ट्रैफिकिंग' को 'ट्रैफिक' समझते
पीएम मोदी के खिलाफ महागठबंधन प्रत्याशी तेज बहादुर का नामांकण रद्द! जाएंगे सुप्रीम कोर्ट
5 सीटों पर कल की वोटिंग में कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर
मोदी-शाह का गिरा ग्राफः महज 2 साल में 71% से 40% पर पहुंच गई BJP की सत्ता
राजगीर थाना में बैठ पहले रांची फोन कर दी धमकी, फिर किया राज़नामा के संपादक पर फर्जी केस, थाना प्रभार...
अमन का पैगाम के नाम पर गुंडागर्दी, रोड़ेबाजी, फायरिंग, लाठी चार्ज, स्थिति तनावपूर्ण
'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर' का सरदार कितना असरदार !
परमिट के नाम पर बसों की चांदी, यात्रियों की जान के साथ कर रहे खिलवाड़
'द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर' को लेकर हाई कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल
बोले रक्षा मंत्री-  अब सिर्फ POK पर होगी बात
तेजप्रताप का शंखनाद- मैं कृष्ण और मेरा भाई अर्जुन, अब होगी असली जंग
पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्या पर बोले मांझी-  बेशर्म हैं सत्ता में बैठे लोग
जेल में बवाल, पथराव, जेलर समेत कई को पीटा, पुलिस कर रही ड्रोन से निगरानी
झंझावतों के बीच इंसाफ इंडिया को मिला जज मानवेन्द्र मिश्रा का यूं सहारा
पटना साहिब लोकसभा चुनाव: मुकाबला कायस्थ बनाम कायस्थ
अयोध्या जन्मभूमि विवादः कानून की निगाह में रामलला हैं नाबालिग
एससी-एसटी एक्ट मामले में सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला अभी सुरक्षित
कमिश्नर के घर जाने वाली CBI टीम को कोलकाता पुलिस ने हिरासत में लिया
पूर्व जदयू विधायक ने दी शराब पार्टी, गोलियां चलाई, महिला को लगी गोली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter