हैदराबाद गैंग रेप-मर्डरः पुलिस ने चारो आरोपी को रिमांड अवधि में वारदात स्थल पर ले जाकर मार गिराया

Share Button

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में जिस हाइवे पर आरोपियों ने महिला वेटनरी डॉक्टर से दरिंदगी करने के बाद जलाया था, पुलिस ने  उसी जगह पर चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया। हैदराबाद पुलिस ने इसकी पुष्टि कर दी है…..”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। कुख्यात हैदराबाद गैंगरेप-मर्डर केस के चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया है। इन चारों आरोपियों का एनकाउंटर कमोबेश उसी जगह हुआ, जहां एक महिला वेटरनरी डॉक्टर के साथ गैंग रेप किया था और बाद में साक्ष्य मिटाने के लिए उन्हें मार कर जला डाला था।

यह घटना सुबह साढ़े तीन बजे की है।  रिमांड के दौरान पुलिस चारों आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई। पुलिस पूरे घटना को आरोपियों की नजर से समझना चाह रही थी। कहा जा रहा है कि इसी दौरान इन चारों ने पुलिस की गिरफ्त से भागने की कोशिश की।

ऐसे में पुलिस के सामने गोली चलाने के अलावा कोई चारा नहीं था। उन्होंने इन्हें पकड़ने के लिए गोलियां बरसा दी। देखते ही देखते चारों आरोपी वहीं ढेर हो गया। बाद में इन सबकी लाश को सरकारी अस्पताल भेज दिया गया।

बताया जा रहा है कि कांड के अनुसंधान को पूरा करने के लिए एक औपचारिक प्रक्रिया के तहत पुलिस उन आरोपियों को नेशनल हाईवे 44 पर क्राइम सीन रीक्रिएट कराने के लिए लेकर गई थी।

पुलिस के अनुसार उन्होंने उन्हें लेकर गए पुलिस दस्ते पर पहले तो हमला कर दिया और फिर जंगल की ओर भागने लगे।

पुलिस ने कहा है कि चारों आरोपियों को पहले तो रोकने की बहुत कोशिश की गयी, लेकिन जब वे नहीं माने और उन्होंने हमला जारी रखा तो मजबूरन पुलिस को गोली चलानी पड़ी जिसमें चारों आरोपी मारे गए।

चारों आरोपी 10 दिन के लिए पुलिस रिमांड पर थे। गत 4 दिसंबर को इस कांड की त्वरित सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट का भी गठन किया गया था।

विगत 27 नवंबर को तेलंगाना के हैदराबाद में एक महिला वेटरनरी डॉक्टर के साथ इन आरोपियों ने हैवानियत की हद पार करते हुए गैंग रेप किया था और गला दबा कर उनकी हत्या कर दी थी।

बाद में साक्ष्य मिटाने के लिए उन्होंने डॉक्टर के शव को जला दिया था। हैदराबाद की इस जघन्य गैंगरेप व हत्या की घटना पूरे देश को हिला दिया था और देश के लोग बेहद आक्रोशित थे।

देश भर में इस कांड को लेकर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हो रहे थे। इस कांड की शिकार महिला वेटरनरी डॉक्टर के पिता ने दोषियों को जल्द से जल्द फांसी देने की मांग की थी।

उन्होंने कहा था कि भले ही इस कांड के कई आरोपियों की उम्र काफी कम है लेकिन उन्होंने बड़ा जघन्य और घृणित अपराध किया है और उन्हें जल्द से जल्द फांसी मिलनी चाहिए। पीड़िता की मां ने भी मांग की थी कि जिस तरह उनकी बेटी को जलाया गया है, दोषियों को भी उसी तरह जलाया जाना चाहिए।

2 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

ये न्यूज़ चैनल नहीं, अभिशाप है
देखिए दर्दनाक हादसा का शर्मनाक वीडियो! यही है डिजीटल इंडिया?
कम से कम कॉल तो कर लो पत्रकारिता के निकम्मों !!
कश्मीर का आखिरी सुल्तान, जिसे बिहार के नालंदा में यहां क़ब्र मिली
सिर्फ मनमोहन और राहुल गांधी से बात करेंगे अनशन पर बैठे अन्ना !
BSNL देगी यूजर्स को फ्री 1जीबी डेटा
यूपी-उतराखंड में जहरीली शराब का कहर, अब तक 100 से उपर मौतें
पुलिस तंत्र के खौफ की कहानी है ‘द ब्लड स्ट्रीट’
एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की 'आपातकाल' की पृष्ठभूमि
दुर्बार के 7000 सेक्स वर्करों ने दिया गलोवल वार्मिंग का अनोखा संदेश
हिरण्य पर्वत पर ही तथागत ने किया था अंतिम वर्षावास
भांग गटक 25 समोसे खाई, फिर कॉन्डम से खेली होली
पीएम मोदी पर फिर बिफरे  भाजपा के 'शत्रु', विदेशी दौरे पर कसा तंज
9वीं कक्षा की परीक्षा में पूछा सवाल, 'गांधी जी ने आत्महत्या कैसे की'? 😳
भाजपा सांसदों ने रोकी नोटबंदी पर संसदीय समिति की रिपोर्ट
कोई बिछड़ा यार मिला दे...ओय रब्बा
हाइपोथर्मियाः कोटा, बीकानेर एवं राजकोट में अब तक 500 से उपर बच्चों की मौत
अमिताभ बच्चन और पटना के अधकचरे पत्रकार
ST-MT की गला दबाकर हत्या करने जैसी है CNT-CPT में संशोधन: नीतीश
नालंदा प्रशासन को बिहारशरीफ सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में हादसा या वारदात का इंतजार है?
सुप्रीम कोर्ट के फैसले से बढेगी झारखण्ड मे सामाजिक कटुता
प्रतिभा से सीखो और आगे बढो
झारखंड मे पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ फूंका बिगुल,उधर आद...
बिहारः गया से जमायत उल मुजाहिदीन से जुड़े आतंकी धराया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter