हनी ट्रैप के आरोपी महिला के लॉकर में मिले 60 लाख नगद और 37 लाख के जेवर

Share Button

अभी एसआईटी की कार्रवाई जारी है और आगे भी बैंक लॉकर से नगदी, जेवर या फिर कई अहम सुराग मिलने की संभावना है…………..”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। मध्य प्रदेश के बहुचर्चित हनी ट्रैप कांड की महिला आरोपियों के बैंक लॉकर अब काली कमाई उगल रहे हैं। 2 दिन से राजधानी भोपाल के प्राइवेट बैंकों के लॉकर को खंगालने के दौरान एसआईटी ने 60 लाख से ज्‍यादा नगदी, 37 लाख रुपए की कीमत के जेवर और पांच पेनड्राइव बरामद की हैं।

हनी ट्रैप की 4 महिला आरोपी समेत एक पुरुष आरोपी इंदौर जेल में बंद हैं। उनसे अभी तक नई एसआईटी ने कोई पूछताछ तो नहीं की लेकिन आरोपियों के बैंक अकाउंट की डिटेल में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं।

जांच पड़ताल में नई एसआईटी को पता चला कि भोपाल की महिला आरोपी के शहर में कई बैंकों में अकाउंट और लॉकर हैं। इसके अलावा छतरपुर की महिला आरोपी का भी राजधानी भोपाल में बैंक लॉकर होने की जानकारी मिली।

पहले दिन एसआईटी की टीम ने छतरपुर की महिला आरोपी आरती के बैंक लॉकर की तलाश की तो उसमें कुछ नहीं मिला। बैंक से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी महिला अपनी गिरफ्तारी से 2 दिन पहले ही बैंक लॉकर में रखी नगदी और दूसरा सामान अपने साथ ले गई थी।इसके बाद भोपाल की महिला आरोपी के प्राइवेट बैंक के लॉकर को खंगाला गया तो उसमें साढ़े 13 लाख रुपए नगद मिले।

जब एसआईटी की टीम ने दूसरे दिन भोपाल में बैंक लॉकर्स को खंगाला तो कई और चौंकाने वाले खुलासे हुए। भोपाल की महिला आरोपी के बैंक अकाउंट में एसआईटी को 47 लाख नगद और 37 लाख के जेवर मिले हैं। एक महिला आरोपी के बैंक लॉकर में एसआईटी की टीम को नगदी और जेवर के साथ पांच पेन ड्राइव भी मिली हैं।

इन पेन ड्राइव में कई रसूखदरों की काली करतूत छुपी हुई है। एसआईटी इन पेन ड्राइव को भी जांच के लिए लैब भेजेगी। एसआईटी के पास आरोपी महिलाओं के भोपाल के अलावा दूसरे जिलों में बैंक अकाउंट और लॉकर होने की जानकारी है।

पुलिस अधिकारी तमाम जांच के बाद इन बैंक लॉकर्स को भी जल्द खंगालेंगे। आशंका है कि इन बैंक लॉकर्स में भी काली कमाई और कई रसूखदारों की काली करतूत छुपी होगी।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

झारखंड मे पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ फूंका बिगुल,उधर आद...
प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय खंडहरः खतरे में ‘विश्व धरोहर’!
हिरण्य पर्वत पर ही तथागत ने किया था अंतिम वर्षावास
टीम अन्‍ना -सरकार की लड़ाई अंतिम दौर में, गृह सचिव पहुंचे रामलीला मैदान
भावनाओ को भडकाती दैनिक हिन्दुस्तान
कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली में राहुल गांधी का मोदी पर आक्रामक हमला
बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने की य़ाचिका खारिज
बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार का जीवन और उनकी उपलब्धियों पर एक नज़र
गुजरात मॉडलः 7 डॉक्टर और 450 इंजीनियरों ने एक साथ ज्वाइन की चपरासी की नौकरी !
पुलिस कांस्टेबल ने मंत्री का पैर छूकर आला अफसरों को दिखाया अपना रुतबा
नालंदा के हरनौत में मुखिया पर गोलियों की बौछार
'राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से SDO-DSP हटायेगें अतिक्रमण और DM-SP करेंगे मॉनेटरिंग'
झारखंड:मामला राजद विधायक के नक्सली अपहरण का
जानिए कौन थे लाफिंग बुद्धा, कैसे पड़ा यह नाम
जयंती विशेष: के बी सहाय -एक अपराजेय योद्धा
हाल दैनिक प्रभात खबर के एक घटिया संवाददाता का
नीतिश-राज:सुशासन की पोल खोलती कायम घोर कुशासन
नालंदा में गजब हो गया, अंतिम सुनवाई के दिन लोशिनिका से रेकर्ड गायब, मामला राजगीर मलमास मेला सैरात भू...
बिहार पुलिस विशेष पारितोषिक वितरण समारोह 2019 में ये हुए सम्मानित
माउंट एवरेस्ट पर 10 हजार किलो से अधिक इकट्ठा हुआ कूड़ा
मोदी सरकार में अछूत बनी जदयू नेता नीतीश ने कहा- सांकेतिक मंत्री पद की जरूरत नहीं
इस मानव श्रृखंला से कितना चमक पायेगा इस बार नीतिश का चेहरा?
राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के सामने राष्ट्रभाषा का अपमान किया राँची विश्वविद्यालय ने
पंचायत चुनाव और उग्रवाद पर दिखा झारखंड के "गुरूजी" का नया अन्दाज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter