सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम की अनुशंसा पर हुआ *चीफ*-*जस्टिस* का तबादला

Share Button

न्यायमूर्ति राकेश कुमार तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने एक सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी तथा बिहार भूमि न्यायाधिकरण के प्रशासनिक सदस्य केपी रमैया को जमानत देने पर सवाल उठाया था………….”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम ने न्यायपालिका में कथित भ्रष्टाचार के बारे में हाल ही में कठोर टिप्पणियों की वजह से विवादों का केंद्र बने पटना हाईकोर्ट के जज राकेश कुमार का आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय में तबादला करने की सिफारिश की है।

चीफ जस्टिस एपी शाही…..

कॉलेजियम ने इसके साथ ही पटना हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस एपी शाही को मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के पद स्थानांतरित करने की भी सिफारिश की है।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली कॉलेजियम की हुई बैठक में शाही और कुमार का तबादला करने की सिफारिश करने का निर्णय लिया।

शीर्ष अदालत की वेबसाइट पर एक बयान में यह जानकारी दी गई। पटना हाईकोर्ट में जज रह चुके डॉ. रवि रंजन को झारखंड हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के पद पर तैनात करने की भी अनुशंसा की गई है।

न्यायमूर्ति राकेश कुमार तब चर्चा में आए थे जब उन्होंने एक सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी तथा बिहार भूमि न्यायाधिकरण के प्रशासनिक सदस्य केपी रमैया को जमानत देने पर सवाल उठाया था।

न्यायमूर्ति कुमार ने पूरे प्रकरण की जांच सीबीआई से कराने का आदेश दिया था और 28 अगस्त के अपने इस आदेश की प्रति सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश सहित कॉलेजियम तथा पीएमओ तक भेजने के निर्देश दिए थे।

न्यायमूर्ति राकेश कुमार…

उन्होंने पटना सिविल कोर्ट में रिश्वतखोरी को लेकर किए गए स्टिंग ऑपरेशन के बाद कार्रवाई नहीं किए जाने पर भी सवाल खड़ा किया था। इसके बाद मुख्य न्यायाधीश एपी शाही ने 11 जजों के एक बेंच का गठन कर सुनवाई की और जस्टिस कुमार के आदेश को निलंबित रखने का आदेश दिया था।

मुख्य न्यायाधीश ने न्यायमूर्ति कुमार के मुकदमों की सुनवाई करने पर भी रोक लगा दी थी। बाद में तीन जजों की पूर्ण पीठ ने न्यायमूर्ति कुमार के आदेश को निरस्त कर विवाद को समाप्त कर दिया। न्यायमूर्ति कुमार चारा घोटाले में सीबीआई के वकील रह चुके हैं।

सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम द्वारा पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश ए पी शाही को मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के पद स्थानांतरित करने की सिफारिश की गई।

15 अक्टूबर को हुई बैठक में उच्चतम न्यायालय की कॉलेजियम ने पटना उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति राकेश कुमार का आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय में तबादला करने की अनुशंसा की।

1 0
0 %
Happy
0 %
Sad
100 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise
Share Button

Related News:

फर्जी निकला रांची प्रेस क्लब का पता? डाकघर से यूं लौटी लीगल नोटिश
अंततः तेजप्रताप के वंशी की धुन पर नाच ही गया लालू का कुनबा
...और एक फिल्म की शूटिंग ने राजगीर 'रोपवे' को दिला दी अंतरराष्ट्रीय पहचान
दिल्ली से लखनऊ पहुंचा "बेशर्मी मोर्चा" :किया भौंडा प्रदर्शन
अन्ना को लेकर भाजपा में बगावत,यशवंत और शत्रुध्न सिन्हा का संसद से इस्तीफे की पेशकश
SC का बड़ा फैसलाः फोन ट्रैकिंग-टैपिंग-सर्विलांस की जानकारी लेना है मौलिक अधिकार
शिबू सरकार का यह कैसा खेल?
मिशन शक्ति पर मोदी का राष्ट्र संदेश पहुंचा चुनाव आयोग, मांगी संबोधन की कॉपी
घाटी का आतंकी फिदायीन जैश का 'अफजल गुरू स्क्वॉड'
बिहार की ये तिकड़ी संभालेगें इन राज्यों की कमान, शिक्षा माफियाओं के दवाब में हटाए गए मल्लिक?
अन्ना अनशन करें या तोड़ें उनकी समस्या है, सरकार नहीं झुकेगीः प्रणव मुखर्जी
रहिमन पानी राखिए, बिन पानी सब सून......
अब यूपी के फर्रुखाबाद के डॉ. लोहिया अस्पताल में 49 बच्चों की मौत !
चमकते चांद को टूटा हुआ तारा बना डालाः PMCH के ICU में मौत से जुझता हमारा ‘आइन्सटीन’
सुबोधकांत की पिकनिक पार्टी: समर्थक ने लगाई आग : मंत्रीजी भी बाल-बाल बचे
लूटेरों के लूटेरा झारखंड के महामहिमो खास कर राज्यपाल सिब्ते रजी जांच से बंचित क्योँ?
देश में 50 करोड़ मोबाइल सीम कार्ड बंद होने का खतरा
राम ही खुद तय करेगें अयोध्या में मंदिर निर्माण की तारीखः योगी आदित्यनाथ
नहीं रहे हर दिल अजीज कादर खान
'बबुनी गैंगरेप' में पुलिस सम्मान पर उठे सवाल !
नालंदा एसपी कुमार आशीष का क्वीक एक्शन, अस्पताल कैदी वार्ड के सभी 5 सिपाही सस्पेंड
वन भूमि को कब्जाने के क्रम में हरे-भरे पेड़ यूं काट रहा है राजगीर का विरायतन
रेलवे सफर में ये आपके हैं अधिकार
नालंदा पुलिस को मिली बड़ी सफलता- पैक्स गोदाम से शराब की बड़ी खेप बरामद , फ्रीज से ढोयी जा रही थी शरा...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter