» हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार   » प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !   » गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद   » इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरें  

सुप्रीम कोर्ट की दो टूकः शादी का वादा कर शारीरिक संबंध बनाना रेप

Share Button

“न्यायमूर्तियों ने इस बात को बेमानी बताया कि रेप के बाद आरोपी और शिकार दोनों घर बसाकर जीवन में आगे जा चुके हैं। इस बात से बलात्कार की घटना डिलीट नहीं हो जाती….”

INR. शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाना बलात्कार ही माना जाएगा, भले ही रेप का शिकार हुई महिला और आरोपी बाद में किसी और के साथ विवाह कर जीवन के सफर में आगे बढ़ गए हों। यह फैसला सुनाया है सुप्रीम कोर्ट की एक खंडपीठ ने।

जस्टिस नागेश्वर राव और जस्टिस एमआर शाह की बेंच ने छत्तीसगढ़ के वर्ष 2013 के मामले में अपना निर्णय देते हुए आरोपी को दस साल की सजा बहाल रखी है।

छत्तीसगढ़ के इस आरोपी डॉक्टर का किसी और के साथ शादी के लिए एंगेजमेंट हो चुका था। इसके बाद भी उसने इस महिला के साथ इस वादे के साथ शारीरिक संबंध बनाए कि वह उसी से करेगा। लेकिन उसने ऐसा किया नहीं और शादी किसी और के साथ कर ली।

पीड़ित महिला ने इस पर एफआइआर दर्ज कराई। मुकदमा चला और निचली अदालत ने सजा सुनाई। डॉक्टर ने अपील की मगर हाइकोर्ट ने भी दस साल की सजा बरकरार रखी।

इसी तरह सुप्रीम कोर्ट ने बगैर नरमी दिखाए डॉक्टर को दस साल की कैद बामशक्कत की सजा सुनाई।

सजा बरकरार रखते हुए अदालत ने कहा कि साफ दिखता है कि आदमी का उद्देश्य धोखा देना था। अगर उसने शादी का वादा नहीं किया होता तो महिला कभी भी उसके साथ हमबिस्तर नहीं होती।

अदालत ने कहा कि रेप बहुत ही निंदनीय कृत्य है। यह शिकार को मानसिक और सामाजिक तौर पर तोड़ देता है।

Share Button

Related News:

चिराग तले अंधेरा वाली कहावत चरितार्थ है नालंदा जिला में.
झारखण्ड उग्रवाद का दूसरा कुख्यात नाम
चुनाव आयोग का ऐतिहासिक फैसला:  कल रात 10 बजे से बंगाल में चुनाव प्रचार बंद
'बिहारी बाबू' के दही-चूड़ा भोज से बीजेपी नेताओं के किनारे के मायने
‘द लाई लामा’ मोदी की पोस्टर पर बवाल, FIR दर्ज
तेजप्रताप का शंखनाद- मैं कृष्ण और मेरा भाई अर्जुन, अब होगी असली जंग
राहुल गाँधी : देश का "युवराज" और वंशवाद के "विरोधी" कैसे?
गौर से पढिये राँची के दैनिक हिंदुस्तान / प्रभात खबर के खबरों को
एक तो करै़ल दूजे नीम चढ़ाय:होली कैसे मनाएँ?
इस तरह तैयार की जाती है बढ़ते मांग के बीच सेक्स डॉल्स
शिबू सोरेन,बाबूलाल मरांडी और सुदेश महतो जैसे महत्वकांक्षी नेता : बादशाह बानेगें या ताश का जोकर
लंदन में सोशल साइटों के जरिये युवा फैला रहे हैं दंगा
देखिए दर्दनाक हादसा का शर्मनाक वीडियो! यही है डिजीटल इंडिया?
बिहार : "नीतिश की कूटनीति का एक हिस्सा है नई चुनावी हार"
सुबोधकांत की पिकनिक पार्टी: समर्थक ने लगाई आग : मंत्रीजी भी बाल-बाल बचे
अनिल अंबानी के नहीं आए अच्छे दिन, तिलैया अल्ट्रा मेगा पावर प्रोजेक्ट रद्द
'72 हजार' पर भारी पड़ा ‘चौकीदार’
मेरी सरकार को राहुल गांधी से प्रमाण-पत्र नहीं चाहिये:नीतीश कुमार
नेताओं के निकम्मेपन के बीच शिबू परिवार की अंदरूनी कलह का विकृत नतीजा है झारखंड के ताजा सूरत
यूं सरेआम अपनी चड्डी तो न उतारो...
MLA अशोक सिंह हत्याकांड में  Ex. RJD MP प्रभुनाथ सिंह दोषी करार, गये जेल
एन.एच-33 के मोरांगी कैंप पर नक्सली हमले का यह भी सच
राहुल ने मुंह खोला, कहा लोकपाल से नहीं मिटेगा भ्रष्टाचार
पत्रकार वीरेन्द्र मंडल को सरायकेला SP ने यूं एक यक्ष प्रश्न बना डाला

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter