‘सीएम नीतीश का माफिया कनेक्शन किया उजागर, अब पूर्व IPS को जान का खतरा’

Share Button

INR.  आईजी स्तर के पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ कुमार दास को सरकार ने समय से पहले सेवानिवृत्ति दे दी है। सरकार के फैसले को अमिताभ कुमार दास ने कोर्ट में चुनौती दी है।

पूर्व आईपीएस ने कहा कि मैंने नीतीश कुमार की रेल माफियाओं की सांठगांठ को उजागर किया था। इसलिए मेरे खिलाफ द्वेषपूर्ण कार्रवाई की गई है।

अमिताभ कुमार दास बिहार सरकार से आमने सामने की लड़ाई पिछले कई सालों से लड़ते आ रहे थे, उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से लड़ाई लड़कर आईजी स्तर के पद पर पदोन्नति हासिल की थी।

आईजी के पद पर तैनाती को लेकर अमिताभ दास सरकार से पत्राचार कर रहे थे कि इसी बीच उन्हें सेवानिवृत्ति की चिट्ठी थमा दी गई।

अमिताभ कुमार दास ने कहा, “नियम कानून को ताक पर रखकर मुझे सेवानिवृत्ति दी गई है। सरकार का फैसला नेचुरल जस्टिस के खिलाफ है। मुझसे ना ही स्पष्टीकरण मांगा गया, ना ही मैंने 25 साल की नौकरी पूरी की है और ना तो मेरी उम्र 50 साल हुई है। ऐसी सेवानिवृत्ति तभी किसी को दी जा सकती है, जब दोनों में कोई एक शर्त वह पूरी करता हो”।

पूर्व आईपीएस ने कहा कि उन्होंने नीतीश कुमार सहित कई नेताओं के अपराधियों के साथ सांठगांठ को उजागर किया था। रेल मंत्री रहते हुए नीतीश कुमार के संबंध कई माफियाओं से थे। उन्होंने इस मामले को उजागर किया था। लिहाजा उनके खिलाफ द्वेषपूर्ण कार्रवाई की गई।

अमिताभ दास ने कहा कि चुनाव आयोग लगातार उन्हें ड्यूटी पर तैनात कर रही थी और सरकार ने भी मुझे पदोन्नति दी थी। उन्होंने कई राज्यों में पिछले दिनों चुनाव के दौरान निष्ठापूर्वक ड्यूटी की। बिहार में माफियाओं से उनके जान को खतरा है।

 

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

जब जेपी ने इंदिरा को लिखा- ‘RSS मुझे नाथूराम गोडसे की तरह गद्दार समझता है’
‘भ्रष्ट’ शक्तिकांत दास को RBI गवर्नर बनाने पर हैरान हैं सुब्रमण्यम स्वामी
प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय खंडहरः खतरे में ‘विश्व धरोहर’!
हिरण्य पर्वत पर ही तथागत ने किया था अंतिम वर्षावास
जानिए कौन थे लाफिंग बुद्धा, कैसे पड़ा यह नाम
टीम अन्ना आंदोलन को लेकर बुखारी ने अलापा सांप्रदायिकता राग
आशाराम बापू : कानून से उपर का संत या अपराधी?
समझिए समय की मांग, त्यागिए सरकारी नौकरी का मोह, जरुरी है यह
एक और नीरव मोदी ने किया 187 करोड़ का घोटाला, PNB समेत 6 बैंकों को लगाया चूना
30दिसंबर,बुधवार को झमुमो सुप्रीमो सिबू सोरेन तीसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेगे
राम भरोसे चल रहा है झारखंड का बदहाल रिनपास
BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- 'आव...
केजरीवाल की हैट्रिक के साथ फिर चमके प्रशांत, नीतीश को कड़ा झटका
16000 करोड़ रु. के खनन घोटाले में फंसे कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने इस्तीफा दिया
न.1 दैनिक जागरण के 2न. संवाददाता
कौन बनेगा झारखण्ड का सीएम?
गुजरात मॉडलः एक्जाम में सभी 199 जज और 1372 वकील फेल, रिजल्ट शून्य!
अर्जुन मुंडा यानि अंधेर नगरी का चौपट राजा
नीतीश जी,ई नालंदा का डी.एम. का बोलता है?
दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन
समाज की सबसे क्रूर और बुरी दुर्घटना है रेप
रामदेव से सिब्‍बल ने की थी डील
बढ़ता जा रहा है सरकारी अनाज घोटाला का दायरा
"अनंत विकास स्रोत" और एच.डी.एफ.सी.बैंक का यह कैसा धंधा?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter