समूचे देश में सजा है बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ के नाम पर ठगी का बाजार

Share Button

INR. ‘बेटी बचाव बेटी पढ़ाओ’ योजना के नाम पर भोली-भाली जनता को इन दिनों ठगा जा रहा है। ठग फर्जी फॉर्म बनाकर लोगों को गुमराह कर सरकार की तरफ से दो लाख रुपए दिलाने का दावा करके चूना लगा रहे हैं।

समूचे देश में अब तक हजारों लोगों ने दो लाख रुपए मिलने की बात सुनकर फॉर्म भरा है। फॉर्म 15 रुपए से 50 रुपए से अधिक पर बेचा जा है।

डाकघरों में हर रोज लाखों फॉर्म की रजिस्ट्री भारत सरकार एवं बाल विकास मंत्रालय के नई दिल्ली के पते पर भेजी जा रही है।

हालांकि इसकी हकीकत सिर्फ झूठ के सिवा कुछ और नहीं है। फॉर्म पर ठगों ने नीचे लिखा है कि प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ओ योजना की शुरुआत 200 करोड़ रुपए की राशि के साथ की है। यह योजना गाँव तथा शहर के लिए है।

इस योजना के तहत सभी आठ वर्ष से लेकर 32 वर्ष तक की सभी बेटियों को दो लाख रुपए तक दिए जाने का प्रावधान है। ऐसी झूठी जानकारी देकर ठगों ने फॉर्म को बेचना शुरू कर दिया।

हर दिन लोग यह फॉर्म खरीद रहे हैं और फॉर्म पर दिए गए पते पर रजिस्ट्री और साधारण डाक आवेदन भेज रहे हैं। जबकि असल में इस योजना ऐसा कुछ है नहीं।

लोग शहर और ग्रामीण इलाकों में इस आशा में कि उनकी बेटी को दो लाख रुपए सरकारी की तरफ से मिलेगा, फॉर्म भकर भेज रहे हैं।

इस फॉर्म में शैक्षणिक योग्यता, आधार नंबर, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, धर्म, जाति, बैंक खाता संख्या,बैंक शाखा का नाम, आईएफएसई कोड, जन्मतिथि, माता पिता का नाम और पूरा पता पता लिखने का कॉलम दिया गया है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

रिटायर्ड सिपाही का बेटा लेफ्टिनेंट बन नगरनौसा का नाम किया रौशन
कोई बिछड़ा यार मिला दे...ओय रब्बा
नीतीश जी के सुशासन की सरेआम पोल खोल रहा है नालंदा का डी.एम.संजय कुमार अग्रवाल
मेरी आर्मी सर्विस और संगठन के रिकार्ड खंगाल रही है सरकारः अन्ना हजारे
अभिनेता कादर खान के निधन की खबर अफवाह
बोले BJP अध्यक्ष- ममता बनर्जी में PM बनने की संभावनाएं
वरिष्ठ पत्रकार रजनीश कुमार झा संग एक ‘गुंडा छाप’ ने की सरेआम गाली-गलौज, दी जान मारने की धमकी
झारखण्ड: कौन बनेगा सीएम? आदिवासी या सदान?
सिर्फ मनमोहन और राहुल गांधी से बात करेंगे अनशन पर बैठे अन्ना !
मीडिया : आखिर सोच-सोच में फर्क क्यों है ?
उग्रवादियो के खिलाफ गांव के स्कूली बच्चो ने उठाई आवाज़: कहा कि “अंकल माओवादी हमारे स्कूल क्यो उडाते ह...
प्रसिद्ध हास्य कवि प्रदीप चौबे की कैंसर से मौत
नौकरी में बहाली बिहार में सिर्फ नालंदा जिले के लोगों का: राबड़ी देवी
...शिकारी होंगे खुद शिकार !  2007 की भूमिका में PK?
'कमल' खिलते ही त्रिपुरा में व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति पर चलाया बुल्डोजर
फिर विवादो के घेरे मे आया रांची का 365दिन चैनल
उस महिला का गर्भपात की पुष्टि, कोडरमा घाटी में जिस अज्ञात महिला का मिला था शव
'PUBG' की लत से ग्रस्त युवा बन रहे हैं निकम्मा और अपराधी
"भारतीय कानून के तहत"
लंदन में सोशल साइटों के जरिये युवा फैला रहे हैं दंगा
ई है सुशासन बाबू की नालन्दा नगरिया: सर्वत्र उठा सवाल,दोषी कौन?कुशासन या किसान?
डरावना सच : पॉर्न साइटों पर ट्रेंड होती गैंगरेप पीड़िता, खुद के बच्चों को भी सभांलिए
जेएनयू में बोले नोबेल विजेता अभिजीत- ‘क्लास फेलो थी वित्त मंत्री सीतारमण’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter