वन भूमि को कब्जाने के क्रम में हरे-भरे पेड़ यूं काट रहा है राजगीर का विरायतन

Share Button

पटना (INR)। नालंदा जिले के विश्वविख्यात अंतरराष्ट्रीय पर्यटन केंद्र राजगीर में हरे वृक्षों की अंधाधुंध कटाई हो रही है।  वन विभाग की जमीन पर कब्जा किया जा रहा है।  रसूखदार लोग अपनी जमीन जायदाद और कैंपस विस्तार के लिए वन भूमि पर कब्जा करने के क्रम में हरे वृक्षों की बेरहमी से कटाई कर रहे हैं। इस दौरान समूचा प्रशासन और विभागीय लोग निकम्मा नजर आते हैं।

फिलहाल राजगीर में ‘जीओ और जीने दो’ का संदेश देने वाला एक धार्मिक प्रतिष्ठान वीरायतन यह अपराधिक काम कर रहा है। हालांकि वीरायतन की गतिविधियों को देख इसे विशुद्ध धार्मिक संस्थान कम और पेशेवर संस्थान अधिक कहा जा सकता है। 

जानकारी के मुताबिक राजगीर में जैन धर्म का एक धार्मिक प्रतिष्ठान वीरायतन है। वह अपने कैंपस विस्तार के लिए आम जैसे फलदार हरे वृक्षों की बिना किसी के अनुमति से शनिवार को काटने का काम किया है।

नियमानुसार हरे वृक्षों की कटाई के लिए वन विभाग से स्वीकृति और अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना अनिवार्य है। हालांकि वन विभाग का खुद की जमीन पर खुद का सौंदर्य नष्ट करने की अनापत्ति जारी करने का सबाल ही नहीं है।

लेकिन सुशासन की इस माहौल में वीरायतन के मैनेजर और साध्वियों ने वन विभाग से स्वीकृति लेना प्रतिष्ठा के अनुकूल नहीं समझा।

उनके बिना अनुमति के ही हरे वृक्षों की कटाई किया है। यह वृक्ष काफी मोटा और बड़ा है। इसकी पहचान कटे वृक्ष की जड़ एवं अन्य भाग से होता है।

एक तरफ पर्यावरण एवं वन विभाग धरती के 17 प्रतिशत  भूभाग पर वृक्षारोपण के लिए जबरदस्त अभियान चलाए हुए हैं।

वहीं इसके बावजूद विश्वस्तरीय ख्याति प्राप्त पर्यटन स्थल राजगीर में हरे वृक्षों की बेरहमी से कटाई हो रही है । 

वीरायतन द्वारा हरे वृक्ष की कटाई का मामला  पूरे शहर में जंगल की आग की तरह फैल गई है।

इसकी सूचना डीएफओ से लेकर डीएम समेत सचिवालय स्तर के पदाधिकारियों को भी स्थानीय नागरिकों के द्वारा भेजी गई है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

धारा 120 बी के तहत दोषी लालू की सजाएं साथ चलेंगी या अलग-अलग, फैसला कोर्ट पर
नक्सलियो के लिये शर्म है गांव के इन स्कूली बच्चो की चीख
सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम की अनुशंसा पर हुआ *चीफ*-*जस्टिस* का तबादला
अपनी दादी इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी प्रियंका?
EC का बड़ा एक्शनः योगी-मायावती के चुनाव प्रचार पर रोक
एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?
अगर ऐसा है तो आप इन्सान हैं, अन्यथा जानवर..!
जब जेपी ने इंदिरा को लिखा- ‘RSS मुझे नाथूराम गोडसे की तरह गद्दार समझता है’
फिल्म ‘छपाक’ रिव्यू : दीपिका पादुकोण की एक और बेहतरीन-उम्दा फिल्म
राजनीतिक दोस्तों के भी रियल 'शत्रु' हैं बिहारी बाबू !
जानिएः कौन है चंदन सिंह, जिसने केन्द्रीय मंत्री गिरीराज सिंह को लगाया ठिकाना
मंत्री पद से हटाये जा सकते है सुबोधकांत सहाय
HM से मिले MLA अमित, हुआ खुलासा, रांची की निर्भया कांड की CBI जांच की अनुशंसा तक नहीं !
'राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से SDO-DSP हटायेगें अतिक्रमण और DM-SP करेंगे मॉनेटरिंग'
यशवंत सिन्हा ने भाजपा से तोड़ा नाता, बोले-खतरे में है लोकतंत्र
Jio यूजर्स को दूसरे नेटवर्क पर कॉलिंग के लिए कराने होंगे ये रिचार्ज
मगध सम्राट जरासंध की अतीत संवर्धन के लिए होगा आंदोलन
पेट्रोल पंप डीलर्स पर दबाव, मोदी की तस्वीर लगाओ अन्यथा तेल आपूर्ति बंद
शिबू सोरेन की गलतफहमी न.1 : झारखण्ड की ताजा बदहाली के लिये बिहारियो को दोषी ठहराया
यहां तो गूंगे बहरे बसते है, खुदा जाने कहां जलसा हुआ होगा ?
मोदी महंगाई गिफ्ट-2020ः घरेलू गैस सिलेंडर और  रेलवे भाड़ा में अप्रत्याशित वृद्धि
बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम
झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन ने राज्यपाल के सामने 44 विधायको के साथ सरकार बनाने का दावा ठोंका
न्यू एंंटी करप्शन लॉ के तहत अब सेक्स डिमांड होगी रिश्वत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter