रोंगटे खड़े कर देने वाली इस अंधविश्वासी परंपरा का इन्हें रहता है साल भर इंतजार

Share Button

“इनकी मान्यताएं हैं कि पेट की नाभि के पास की चमड़ी मोटी होती है, उस स्थान पर गर्म छड़ से दागने पर बच्चों में पेट से संबंधित बीमारियां नहीं होती….”

INR. कड़ाके की ठंड.. क्या बच्चे.. क्या बूढ़े, क्या जवान सभी इस सर्द मौसम में रजाई के भीतर आराम करते सूर्य देव के निकलने का इंतजार करते हैं। उसके बाद ही उनकी शुरू होती है दिनचर्या।

लेकिन कोल्हान की धरती अनोखी परंपराओ के लिए जानी जाती रही है। यहां आज भी पारंपरिक अंधविश्वास पर आस्था भारी है। पूरा कोल्हान कड़ाके की ठंड में ठिठुर रहा है, उधर यहां का संथाल समुदाय मकर संक्रांति के अहले सुबह सूर्योदय से पहले अपने दुधमुंएं मासूम पर अत्याचार करने के लिए घंटों लाईन में खड़े हैं।

कारण आज इन मासूमों को गर्म छड़ से दागा जाएगा, जिससे ये मासूम सदा के लिए निरोग हो जाएंगे….। अब आप समझ सकते हैं, आज भी यहां किस प्रकार से आस्था पर अंधविश्वास हावी है।

आम तौर पर जो मां अपने बच्चों को सीने से लगाकर इस कड़ाके की में रजाई के भीतर रहती है, वहीं संथाल समाज की माएं अपने दुधमुंहे बच्चों के शरीर पर गर्म लोहे से दाग लगवाती है।

झारखंड का आदिवासी समुदाय आज भी परंपराओं का वाहक है, लेकिन 21 वीं सदी के झारखंड में परंपरा के नाम पर मासूमों पर इस प्रकार का अत्याचार…

आखिर क्या कर रहा है, समाज का शिक्षित वर्ग ! क्या इन मासूमों पर अत्याचार के किसी  सटीक कारण को आज का विज्ञान परिभाषित करता है ?

जबकि इनकी मान्यताएं हैं कि पेट की नाभि के पास की चमड़ी मोटी होती है, उस स्थान पर गर्म छड़ से दागने पर बच्चों में पेट से संबंधित बीमारियां नहीं होती। अब इन महिलाओं को कौन समझाए..।

वैसे समाज के बुद्धिजीवी भी इस परंपरा को बंद करने के पक्षधर हैं, लेकिन पहल करने की हिमाकत किसी में नहीं है। सरायकेला, जमशेदपुर और चाईबासा के ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी ये परंपरा जिंदा है।

अब सरकार को इस दिशा में कारगर कदम उठाने की आवश्यकता है, ताकि इन मासूमों पर अत्याचार बंद हो सके।

 

0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise
Share Button

Related News:

वाराणसी के इस शहीद के घर नहीं पहुंचा कोई अधिकारी-जनप्रतिनिधि
एससी-एसटी एक्ट मामले में सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला अभी सुरक्षित
कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली में राहुल गांधी का मोदी पर आक्रामक हमला
प्रशांत किशोर की ब्रांडिंग में उलझे नीतीश, जदयू में आई भूचाल
कर्नाटक में सरकार गिरना लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय : मायावती
शराबबंदी के बीच सीएम नीतीश के नालंदा में फिर सामने आया पुलिस का घृणित चेहरा
मगध सम्राट जरासंध की अतीत संवर्धन के लिए होगा आंदोलन
दार्जिलिंग बन्द 32वें दिन जारी, स्थिति तनावपूर्ण
लीला भंसाली की सबसे भव्य फिल्म है पद्मावत
अब परचून की दुकानों में शराब बेचेगी भाजपा सरकार
रांची होटवार जेल बना पुलिस छावनी, काफी आक्रोश में हैं बिहार-झारखंड के राजद नेता
यूपी-उतराखंड में जहरीली शराब का कहर, अब तक 100 से उपर मौतें
महागठबंधन की सरकार में महादलितों पर अत्याचार बढ़ाः जीतनराम मांझी
दहेज के लिए यूं जानवर बना IPS, पत्नी ने दर्ज कराई FIR
नालंदा थाना प्रभारी के निलंबन से महिला आरक्षियों को लेकर सहमे जिले के अन्य थानेदार
जेल में बवाल, पथराव, जेलर समेत कई को पीटा, पुलिस कर रही ड्रोन से निगरानी
रेलवे सफर में ये आपके हैं अधिकार
सुप्रीम कोर्ट से महेंद्र सिंह धोनी की अपील- 39 करोड़ दिलाएं मी लार्ड
वन भूमि को कब्जाने के क्रम में हरे-भरे पेड़ यूं काट रहा है राजगीर का विरायतन
पुलिस गिरफ्त में पुलवामा आतंकी हमले के वांछित नौशाद उर्फ दानिश की पत्नी एवं बेटी
जानिये मीडिया के सामने हुए अलीगढ़ पुलिस एनकाउंटर का भयानक सच
शर्मनाकः विश्व प्रसिद्ध नालंदा में सैलानियों को सामान्य सुविधाएं भी नसीब नहीं !
सुप्रीम कोर्ट ने आधार कार्ड को लेकर दिये अहम फैसले, ये आपको जानना है जरुरी
Jio यूजर्स को दूसरे नेटवर्क पर कॉलिंग के लिए कराने होंगे ये रिचार्ज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter