» तीन तलाक को राष्ट्रपति की मंजूरी, 19 सितंबर से लागू, यह बना कानून!   » तीन तलाक कानून पर कुमार विश्वास का बड़ा रोचक ट्विट….   » मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » बिहार के विश्व प्रसिद्ध व्यवसायी सम्प्रदा सिंह का निधन   » पत्नी की कंप्लेन पर सस्पेंड से बौखलाया था हत्यारा पुलिस इंस्पेक्टर   » कर्नाटक में सरकार गिरना लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय : मायावती   » समस्तीपुर से लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का निधन   » दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन   » अपनी दादी इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी प्रियंका?   » हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!  

राहुल गांधी का सचित्र ट्वीट- ‘मानसरोवर के पानी में नहीं है नफरत’

Share Button

आज शुक्रवार को सामने आई इस तस्वीर में राहुल टोपी, चश्मा, जींस और जैकेट पहने हुए दिखाई दे रहे हैं। उनके साथ एक शख्स भी नजर आ रहा है…..”

(INR). कांग्रेस के राष्ट्रय अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर हैं। वह कई मौकों पर खुद को शिवभक्त बता चुके हैं। यात्रा के दौरान वह अपनी कई तस्वीरें साझा कर रहे हैं। लेकिन पहली बार उनकी खुद की एक तस्वीर सामने आई है। अभी तक वह केवल पहाड़ और झरनों की तस्वीरें ही साझा कर रहे थे।

इससे पहले गुरुवार को भी राहुल ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से एक तस्वीर साझा की थी। जिसपर उन्होंने लिखा था कि विशालकाय पर्वत की शरण में आना सौभाग्य की बात है।

जब राहुल कैलाश मानसरोवर की यात्रा के दौरान पर्वतों, झीलों, तालाबों की तस्वीरें साझा कर रहे थे तो कई लोगों ने उनकी यात्रा पर सवाल उठा दिए थे।

सोशल मीडिया पर कई लोगों ने पूछा था कि क्या राहुल सच में तीर्थयात्रा पर गए हैं। कुछ लोगों का कहना था कि वह इंटरनेट से तस्वीरें डाउनलोड करके साझा कर रहे हैं।

अपनी कैलाश यात्रा पर राहुल ने कहा कि कैलाश जिसे बुलाता है वही जाता है। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, एक आदमी कैलाश तभी जाता है, ‘जब वहां से उसके लिए बुलावा आता है। मैं इस मौके को पाकर बहुत खुश हूं और सक्षम हूं कि इस यात्रा के दौरान जो देख रहा हूं उसे आपके साथ साझा कर रहा हूं।’

दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा था, ‘मानसरोवर का पानी बहुत ही शांत है। वह सब कुछ दे देते हैं और कुछ खोते भी नहीं हैं। कोई भी उनसे पी सकता है। यहां कोई नफरत नहीं है। यही वजह है कि हम भारत के इस जल की पूजा करते हैं।’

Share Button

Related News:

सनातन धर्मावलंबियों की सुसभ्य संस्कृति वाहक है मंदार पर्वत
मूर्खता भरी यह कैसी खबर-पत्रकारिता?
झारखंड:कांग्रेस ने कई इतिहास रचे... सुषमा स्वराज
‘टाइम’ ने मोदी को 'इंडियाज डिवाइडर इन चीफ’ के साथ ‘द रिफॉर्मर’ भी बताया
सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के बीच जूतमपैजार :न्यायायिक व्यवस्था पर उठे सवाल
नहीं रहे पूर्व रक्षा मंत्री एवं गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर, समूचे देश में शोक की लहर
नागफनी के कांटो से घिरे झारखंड के मुख्यमंत्री: देखना है कि क्या कर पाते है?
कानून से उपर है संत आशाराम बापू ?
कांग्रेस ने फोड़ा 'ऑडियो बम', पर्रिकर के बेडरूम में हैं राफेल की फाइलें
करगिल युद्धः एक और विजय कहानी
बिहार:सुशासन मे छुपी है घोर कुशासन
भाजपा की हालत 'माल महाराज की और मिर्जा खेले होली' जैसीः ममता बनर्जी
जयंती विशेष: के बी सहाय -एक अपराजेय योद्धा
जाति आधारित जनगणना मनमोहन सरकार के लिए सरदर्द बना
रूखाई पैक्स गोदाम में महीनों से जारी था शराब का यह बड़ा गोरखधंधा, संदेह के घेरे में पूर्व अध्यक्ष
सता और विपक्ष का ये कैसा घाल-मेल?
कृषि मंत्री ने किया जैविक गांव सोहडीह का दौरा
चारा घोटा की नींव रखने वाले को पर्याप्त सबूत होते भी सीबीआई ने क्यों बख्शा!
चीनी सहयोग से छोड़ा गया पाकिस्तानी उपग्रह
ये हैं भारत के प्रमुख मीडिया हाउस और उसके मालिक
झारखण्ड : मामला राजद के निवर्तमान विधायक के नक्सली अपहरण का
विकास(राँची)-बरही(हजारीबाग) एन.एच.-३३ फोलेनिंग में भारी अनियामियता व गबन-घोटाले की आशंका
युवा तुर्क छात्र नेता कन्हैया का यहां से लोकसभा चुनाव लड़ना तय
ढलती उम्र में सठिया गयें हैं शिबू सोरेन

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां  
error: Content is protected ! india news reporter