» हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार   » प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !   » गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद   » इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरें  

युवा तुर्क छात्र नेता कन्हैया का यहां से लोकसभा चुनाव लड़ना तय

Share Button

(INR). जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष एवं जाने माने युवा तुर्क नेता कन्हैया कुमार 2019 में लोकसभा चुनाव लड़ तया माना जा रहा है।

वे बिहार के बेगूसराय से चुनाव लड़ेंगे। वह महागठबंधन के एक उम्मीदवार के तौर पर चुनावी मैदान में उतरेंगे। इस महागठबंधन में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), कांग्रेस, एनसीपी, जीतन राम मांझी की हम (एस), शरद यादव की एलजेडी के अलावा लेफ्ट पार्टियां शामिल हैं।

कहते हैं कि राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव, जो बिहार के महागठबंधन का अंदरुनी नेतृत्व कर रहे हैं। वे कन्हैया कुमार को टिकट देने के लिए राजी हैं। कांग्रेस भी बेगूसराय सीट से कन्हैया कुमार को मौका देने को राजी है।

लालू परिवार से जुड़े लोगों ने ऐसे संकेत दिए हैं, जिससे यह साफ हो जाता है कि कन्हैया सीपीआई के आधिकारिक उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगे। 

उनके प्रतिद्वंदी एनडीए कैंप में एक मजबूत संदेश पहुंचाने के लिए उन्हें महागठबंधन का उम्मीदवार घोषित करना चाहते हैं।

कुमार मूलरूप से बेगूसराय के बरौनी ब्लॉक में बिहाट पंचायत से हैं। उनकी मां मीना देवी एक आंगनबाड़ी सेविका हैं जबकि उनके पिता जयशंकर सिंह एक किसान हैं।

इस सीट से फिलहाल भाजपा के भोला सिंह सांसद हैं। भोला सिंह ने 2014 में आरजेडी के तनवीर हसन को करीब 58,000 वोटों से हराया था।

आरजेडी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘लालू खुद कन्हैया के बेगूसराय से चुनाव लड़ने को लेकर उत्साहित हैं, इसलिए वह आरजेडी उम्मीदवार को इस सीट पर नहीं उतारेंगे, जबकि आरजेडी उम्मीदवार पिछले चुनाव में दूसरे नंबर पर रहे थे।’

Share Button

Related News:

पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्या पर बोले मांझी-  बेशर्म हैं सत्ता में बैठे लोग
यूपी-उतराखंड में जहरीली शराब का कहर, अब तक 100 से उपर मौतें
कुलपति प्रोफ़ेसर सुनैना सिंह बोलीं- गौरवशाली इतिहास को पुर्णजीवित करेगा नालंदा विश्वविद्यालय : सुनैन...
पीएम मोदी के वाराणसी में पुल गिरा, 50 से उपर लोग दबे
‘हवा-हवाई’ हो गईं भारतीय फिल्मों की ‘चांदनी’
विदेश सचिव का बयान- सिर्फ आतंकी थे टारगेट, 300 मारे गए   
लापरवाही की हदः गोरखपुर BRD मेडिकल कॉलेज में 5 दिनों में 60 की मौत
यूं फुटपाथ पर जूता सिल जिंदा है आगरा का राष्ट्रपति जीवन रक्षा पदक विजेता
यशवंत सिन्हा ने भाजपा से तोड़ा नाता, बोले-खतरे में है लोकतंत्र
बिहारियों के दर्द को समझिए सीएम साहब
....और इस कारण 6 माह में 3 बार यूं बदले केन्द्र सरकार की ‘मोदी केयर’ के नाम
‘10-12-14 साल के बच्चों को मार कर पुलिस ने बताया था कुख्यात नक्सली’
 ‘ओछी टिप्पणियां’ कर रहे हैं केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटलीः यशवंत सिन्हा
फर्जी निकला रांची प्रेस क्लब का पता? डाकघर से यूं लौटी लीगल नोटिश
दलित राजनीति की सशक्त धारा को भुनाने की सफल प्रयास है ‘काला’
बिहार के इस बाहूबली के मूंछ की ताव से गरमाई सियासत !
इस मानव श्रृखंला से कितना चमक पायेगा इस बार नीतिश का चेहरा?
मंत्री, डीएसपी, इंस्पेक्टर समेत सैकड़ों के हत्यारे नक्सली कुंदन पाहन के सरेंडर पर उठे  सबाल
टाटा जू को कहीं अन्यत्र शिफ्ट करने के आदेश
चौथा चरण: 9 राज्य,71 सीट, इन नेताओं की किस्मत ईवीएम में होगी बंद
जेटली चुने हुए नेता नहीं हैं इसलिये वे लोगों का दर्द नहीं समझतेः यशवंत सिन्हा
वन भूमि को कब्जाने के क्रम में हरे-भरे पेड़ यूं काट रहा है राजगीर का विरायतन
प्रियंका की इंट्री से सपा-बसपा की यूं बढ़ी मुश्किलें
...और जार्ज साहब बन गए यूं डाइनामाइट लीडर

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter