» तीन तलाक को राष्ट्रपति की मंजूरी, 19 सितंबर से लागू, यह बना कानून!   » तीन तलाक कानून पर कुमार विश्वास का बड़ा रोचक ट्विट….   » मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » बिहार के विश्व प्रसिद्ध व्यवसायी सम्प्रदा सिंह का निधन   » पत्नी की कंप्लेन पर सस्पेंड से बौखलाया था हत्यारा पुलिस इंस्पेक्टर   » कर्नाटक में सरकार गिरना लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय : मायावती   » समस्तीपुर से लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का निधन   » दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन   » अपनी दादी इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी प्रियंका?   » हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!  

मोदी सरकार में अछूत बनी जदयू नेता नीतीश ने कहा- सांकेतिक मंत्री पद की जरूरत नहीं

Share Button

“सीएम भले ही बोल गए कि 2020 के विधानसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा। लेकिन जदयू के लिए यह खतरे की घंटी है। अगर आगामी वर्ष 2020 में…….”

पटना (INR).  मोदी सरकार में एक मंत्री पद मिलने से नाराज सीएम नीतीश कुमार ने पीएम मोदी के शपथ लेने से पहले ही ऐलान कर दिया था कि उनकी पार्टी मंत्रिमंडल में शामिल नही होगी।

जबकि जदयू कोटे से राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह और ललन सिंह के मंत्री बनाए जाने की चर्चा जोरों पर थी। लेकिन कैबिनेट में एक पद मिलने से नाराज सीएम ने फिलहाल मंत्रिमंडल में शामिल नही होने के फैसले से सबको अंचभित कर दिया।

दिल्ली से पटना वापस लौटने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए सीएम नीतीश ने कहा कि सांकेतिक मंत्री पद की जरूरत नहीं है। इससे गठबंधन पर असर नहीं पड़ेगा।

सीएम नीतीश कुमार ने मीडिया को बताया कि मोदी सरकार के प्रस्ताव से हमारी पार्टी सहमत नही है। क्योंकि वे गठबंधन के घटक दलों को एक-एक सीट दे रहे हैं। जो हमें मंजूर नहीं है।

उन्होंने कहा कि  हम इससे सहमत नहीं है। पार्टियों को अनुपात के हिसाब से मंत्रिमंडल में भागीदारी मिलनी चाहिए। सांकेतिक प्रतिनिधित्व की जरूरत नहीं। घटक दलों को एक-एक मंत्री पद दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमें मंत्रिमंडल में सांकेतिक पद की जरुरत नहीं है। हालांकि उन्होंने किसी भी प्रकार की नाराजगी से इंकार किया और कहा कि 2020 के विधान सभा चुनाव पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा।

नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोग ये फैला रहे हैं कि हमने मंत्रिमंडल में कम से कम तीन सीटों की मांग की। ये पूरी तरह गलत है। हमने किसी भी संख्या की बात नहीं की। सिर्फ अनुपात के हिसाब से भागीदारी की बात कही।

क्या जदयू भविष्य में मोदी कैबिनेट में शामिल होगी? इस पर नीतीश ने कहा कि आगे की बात बाद में सोची जाएगी। जहां तक संख्या की बात है तो भाजपा के पास केंद्र में बहुमत है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गठबंधन चाहे किसी से भी हो, हम लोग बिहार में गठबंधन के घटक दलों को आनुपातिक ढंग से मंत्रिपरिषद में शामिल करते हैं। मंत्री पद को लेकर बिहार में किसका क्या कोटा होगा, वह पहले से ही तय रहता है।

इधर जदयू नेता श्याम रजक ने भी जदयू को ज्यादा सीट नहीं दिए जाने पर मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि एक तरफ छह सीट वाले दल को भी एक ही मंत्री पद और उससे ज्यादा सीटों वाले को भी एक ही मंत्री पद का प्रस्ताव कहीं से भी उचित नहीं लगता है।

सीएम नीतीश कुमार ने मीडिया से बातचीत करते हुए जिस तरह से बात की, उससे उनकी नाराजगी साफ दिख रही थी।

सीएम भले ही बोल गए कि 2020 के विधानसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा। लेकिन जदयू के लिए यह खतरे की घंटी है। अगर 2020 में भाजपा को जदयू से ज्यादा सीटें आ जाती है तो क्या भाजपा लोकसभा चुनाव की तरह विधानसभा में कुर्बानी देगी?

राजनीतिक पंडितों का मानना है कदापि नहीं।  इस बार जरा सी भी भाजपा की सीटें बढ़ी तो सीएम नीतीश की कुर्सी खतरे में आ जाएंगी।

Share Button

Related News:

मोदी-मनमोहन मिलन में यूं दिखा भारतीय लोकतंत्र की खूबसूरती
इमारत शरियाह में तौबा कर दोबारा मुसलमान बने नीतीश के ये मंत्री
मनोरम वादियों के बीच आध्यात्मिक, सांस्कृतिक व धार्मिक सभ्यताओं का संगम है राजगीर
बिहार के विश्व प्रसिद्ध व्यवसायी सम्प्रदा सिंह का निधन
सुपारी टीवी पत्रकार हैं अर्नब गोस्वामी  :राहुल कंवल
सोशल मीडिया की 'अफवाह' हुआ सच, अराजक बना बिहार
घाटी का आतंकी फिदायीन जैश का 'अफजल गुरू स्क्वॉड'
यहां टेंडर मैनेज कराने वाले सीएम क्या रोकेगें भ्रष्टाचार : बाबू लाल मरांडी
आईना देख बौखलाये भाजपाई, वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र पर किया थाना में मुकदमा
बिहारी बाबू का फिर छलका दर्द ‘अब भाजपा में घुट रहा है दम’
वाराणसी के इस शहीद के घर नहीं पहुंचा कोई अधिकारी-जनप्रतिनिधि
सिल्ली MLA अमित कुमार ने केन्द्रीय मंत्री से मुलाकात कर रखी ये समस्याएं
शर्मनाक! अश्विनी चौबे सरीखे गिरी सोच का आदमी केन्द्रीय मंत्री है
नक्सलियों ने नोटबंदी के समय BJP MLC को दिए थे 5 करोड़ !
रूखाई पैक्स गोदाम में महीनों से जारी था शराब का यह बड़ा गोरखधंधा, संदेह के घेरे में पूर्व अध्यक्ष
जानिये मीडिया के सामने हुए अलीगढ़ पुलिस एनकाउंटर का भयानक सच
विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !
‘टाइम’ ने मोदी को 'इंडियाज डिवाइडर इन चीफ’ के साथ ‘द रिफॉर्मर’ भी बताया
मंत्री, डीएसपी, इंस्पेक्टर समेत सैकड़ों के हत्यारे नक्सली कुंदन पाहन के सरेंडर पर उठे  सबाल
जुड़वा 2 का ट्रेलर जारी, राजा व प्रेम के किरदार में वरुण धवन
बोफ़ोर्स की तरह ही 'पीएम 2019' का खेल कहीं बिगाड़ न दे रफ़ाएल
प्रशांत किशोर की ब्रांडिंग में उलझे नीतीश, जदयू में आई भूचाल
साध्वी यौन शोषण केस में स्वंभू संत राम रहीम दोषी, भड़की हिंसा, अब तक 10 की मौत, सैकड़ों घायल
न भूलेंगे, न माफ करेंगे, बदला लेंगे :CRPF

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» मुंशी प्रेमचंद: हिंदी साहित्य के युग प्रवर्तक   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां  
error: Content is protected ! india news reporter