मोदी-शाह का गिरा ग्राफः महज 2 साल में 71% से 40% पर पहुंच गई BJP की सत्ता

Share Button

 “दिसंबर 2017 तक बढ़ने के बाद बीजेपी के सिमटने का दौर शुरू हुआ और नवंबर 2019 तक बीजेपी 71 फीसदी से घटकर 40 फीसदी में आ गई। एक रिपोर्ट के मुताबिक अब बीजेपी की सत्ता सिमटकर देश के 40 फीसदी हिस्से में रह गई है…………”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। नरेंद्र मोदी को साल 2014 में प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का तेजी से विस्तार हुआ। बीजेपी ने साल 2014 में केंद्र में सरकार बनाई और फिर कई राज्यों में भी बीजेपी की सरकार बनी। साल 2017 तक बीजेपी हिंदुस्तान के 71 फीसदी हिस्से में छा गई।

यह सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जादू और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की सियासी रणनीति का नतीजा था। दिसंबर 2017 के बाद बीजेपी के सिमटने का दौर शुरू हुआ और नवंबर 2019 तक बीजेपी 71 फीसदी से घटकर 40 फीसदी में आ गई।

इंडिया टुडे की डेटा इंटेलिजेंस यूनिट की रिपोर्ट के मुताबिक अब बीजेपी की सत्ता सिमटकर देश के 40 फीसदी हिस्से में रह गई है।

डीआईयू की रिपोर्ट से एक बात तो साफ है कि साल 2017 के मुकाबले साल 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह का जादू कम हुआ है।

लोकसभा चुनाव में बीजेपी को भले ही पिछले चुनाव की अपेक्षा ज्यादा सीटें मिलीं और उसने 303 सीटें जीतकर केंद्र में पीएम मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाई हो, लेकिन हाल के कई राज्यों के विधानसभा के चुनाव में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा है।

पंजाब, राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हार के बाद बीजेपी को सत्ता से बाहर होना पड़ा था।

अब महाराष्ट्र में भी बीजेपी सत्ता से हाथ धो बैठी है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले देवेंद्र फडणवीस को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा।

इस तरह दूसरी बार महाराष्ट्र में फडणवीस की सरकार सिर्फ 4 दिन ही चली और 80 घंटे में फडणवीस को अपने पद से इस्तीफा दे पड़ा।

महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने शिवसेना के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में बीजेपी की सीटों की संख्या कम हुईं और बीजेपी 122 से 105 में सिमट गई।

हालांकि बीजेपी-शिवसेना गठबंधन ने सरकार बनाने के लिए जरूरी आंकड़े से ज्यादा सीटें जीतने में कामयाब रहा। चुनाव के बाद बीजेपी और शिवसेना में दरार पड़ गई।

शिवसेना के दूर होने के बाद बीजेपी नेता फडणवीस ने एनसीपी नेता अजित पवार के साथ मिलकर सूबे में सरकार बना ली। हालांकि यह सरकार चार दिन से ज्यादा नहीं चली और फडणवीस को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा।

इसके बाद अब एनसीपी और कांग्रेस मिलकर सूबे में शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में सरकार बना ली। इस तरह अब महाराष्ट्र की सत्ता से भी बीजेपी बाहर हो चुकी है।  

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

हिंदू संगठनों का नाम कभी नहीं लिया:दिग्विजय
पूर्व जदयू विधायक ने दी शराब पार्टी, गोलियां चलाई, महिला को लगी गोली
राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने की संपत्ति की घोषणा !! : इसकी जांच कौन करेगा?
महाराष्ट्रः सोनिया-पवार छत्रछाया में आज से ठाकरे राज
राजगीर वाइल्ड लाइफ सफारी पार्क निर्माण पर रोक
गुजरात मॉडलः एक्जाम में सभी 199 जज और 1372 वकील फेल, रिजल्ट शून्य!
गैंग रेप-मर्डर में बंद MLA से मिलने जेल पहुंचे BJP MP साक्षी महाराज, बोले- 'शुक्रिया कहना था'
ST-MT की गला दबाकर हत्या करने जैसी है CNT-CPT में संशोधन: नीतीश
राजनीतिक दोस्तों के भी रियल 'शत्रु' हैं बिहारी बाबू !
झारखंड: सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराने को लेकर दोनो उपमुख्यमंत्री ...
INX मीडिया मनी केस में 107 दिन से जेलबंद पी. चिदंबरम को SC से मिली जमानत
हदः रांची के एक अखबार के रिपोर्टर की हत्या कर उसके घर में यूं टांग दिया
अन्ना के अनशन को लेकर चिंतित है अमेरिका!
स्विस इकोनोमी के लिए सबसे बड़ा खतरा बने रामदेव बाबा
रांची में गरजे राहुल गांधी- देश का चौकीदार चोर है
तीन तलाक और अनुच्छेद 370 के बाद एक चुनाव कराने की तैयारी
ये हैं भारत के प्रमुख मीडिया हाउस और उसके मालिक
आयकर विभाग के निशाने पर हैं झारखण्ड-बिहार के कई चैनल
....और इस कारण 6 माह में 3 बार यूं बदले केन्द्र सरकार की ‘मोदी केयर’ के नाम
सुरक्षा गार्ड की दानवताः 6 वर्षीय बच्ची की पहले गला दबा की हत्या, फिर शव संग किया रेप
निकम्मी झारखंड सरकार और शिबू सोरेन का निरालापन
अन्ना के अनशन से छंट रही है धूंध
एक पत्रकार ने खोली सोहराबुद्दीन केस की असलीयत, कांग्रेस वेनकाब
जब गुलजार ने नालंदा की 'सांसद सुंदरी' तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म 'आंधी'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter