मुजफ्फरपुर बालिका गृहकांडः सजा पर फैसला सुरक्षित, अब 11 फरवरी को सजा का ऐलान

Share Button

INR. बिहार के बहुचर्चित मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में मंगलवार को मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर समेत 19 के खिलाफ आज फैसला सुरक्षित रख लिया गया है।

अब इस मामले में सजा का ऐलान 11 फरवरी को होगा। मंगलवार को बच्चियों से यौनशोषण के मामले में ब्रजेश ठाकुर समेत अन्य दोषियों को कोर्ट में पेश किया गया।

कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश सौरभ कुलश्रेष्ठ की अदालत को आज इस बड़े मामले में सुनवाई हुई। मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड की सुनवाई दिल्ली के साकेत कोर्ट में हुई जिसमें तमाम बिंदुओं पर गौर करते हुए इस मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

पहले से 14 नंवबर व 12 दिसंबर 2019 को फैसले की तारीख तय की गई थी, लेकिन कभी अधिवक्ताओं की हड़ताल और कभी विशेष कारणों की वजह से मामले के सुनवाई की तारीख आगे बढ़ा दी गई थी।

सीबीआई की ओर से कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में इन आरोपितों पर बलात्कार व बाल यौन शोषण रोकथाम अधिनियम (पॉक्सो ) की धारा 6 के तहत आरोप लगाए गए हैं।

ब्रजेश ठाकुर को कोर्ट ने पॉक्सो कानून के तहत लैंगिक हमला और सामूहिक बलात्कार का दोषी पाया था। 20 जनवरी को ब्रजेश ठाकुर समेत 19 को इस मामले में दोषी ठहराया गया था।

वही, कोर्ट ने विक्की के खिलाफ सबूत नहीं मिलने पर उसे बरी कर दिया। जबकि, तत्कालीन सहायक निदेशक रोजी रानी को जेजे एक्ट का दोषी पाया था।

Share Button

Related News:

भाजपा से नाता तोड़ शिवसेना अकेले लड़ेगी 2019 का लोक-विधान सभा चुनाव
भाजपा के 'शत्रु'हन सिन्हा का एलान- पटना साहिब से ही लड़ेगें चुनाव
जरा देखिये- 5 साल में 300 फीसदी बढ़ गई अमित शाह की संपत्ति
एक करोड मे एस.पी. और 20 लाख मे डी.सी. का पद निलाम होता है झारखंड मे!
बिहारः 2 दलित बेटी के साथ गैंग रेप, दरिंदों ने बनाया वीडियो, नकारा बनी पुलिस
चुनाव आयोग का ऐतिहासिक फैसला:  कल रात 10 बजे से बंगाल में चुनाव प्रचार बंद
बड़ा फर्क है टीम अन्ना और जेपी आंदोलन में
सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 'आरे' पर मत चलाओ 'आरी', वेशर्म सरकार बोली- हमने काट लिए पेड़
सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने की प्रेस कांफ्रेंस, कहा- खतरे में है लोकतंत्र
पुलिस तंत्र के खौफ की कहानी है ‘द ब्लड स्ट्रीट’
...और जार्ज साहब बन गए यूं डाइनामाइट लीडर
Jio यूजर्स को दूसरे नेटवर्क पर कॉलिंग के लिए कराने होंगे ये रिचार्ज
आरक्षण को लेकर राष्ट्रीय अनुसूचित जाति जनजाति आयोग का कड़ा रुख
भारतीय मीडिया में बढ़ रही है मर्डोकों की तादात
आखिर अन्ना इतने जिद्दी क्यों हैं !
पीएम मोदी के वाराणसी में पुल गिरा, 50 से उपर लोग दबे
न.1अखबार का 2नंबरिया संवाददाता
यूं गेंहू काटने वाली 'बंसती' को जिताने 'वीरू' पहुंचे मथुरा, बोले- मैं  किसान हूं
सुशासन बाबू:अब आपही बताईये कि दोषी कौन?कुशासन या किसान?
अब राजनीति में कूदेगें सिंघम का 'देवकांत सिकरे'!
ललन के चक्रव्यूह मे फंसे बिहार के सुशासन बाबू
मॉम के रुप में श्रीदेवी का दिख रहा भावुक अंदाज
हदः रांची के एक अखबार के रिपोर्टर की हत्या कर उसके घर में यूं टांग दिया
नालंदा जिप अध्यक्षा के मनरेगा योजना के निरीक्षण के दौरान मुखिया सब लगे गिड़गिड़ाने, पूर्व विधायक लगे...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
error: Content is protected ! india news reporter