‘भाजपा के गंगाजल से एक ही रात में शुद्ध हो गए अजीत पवार’

Share Button

महाराष्ट्र में जो हुआ, वह छिपकर करने की क्या आवश्यकता थी, इस प्रकार अचानक राष्ट्रपति शासन का हटना और इस प्रकार शपथ दिलाना कौनसी नैतिकता है? ये लोग देश में लोकतंत्र को किस दिशा में ले जा रहे हैं……?”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। जम्मू कश्मीर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीए मीर ने भाजपा का उपहास करते हुए कहा कि एनसीपी के अजीत पवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाने के बाद भाजपा ने उन्हें एक ही रात में अपने गंगाजल से उन्हें शुद्ध कर दिया।

मीर ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की भूमिका की भी आलोचना की और कहा कि भाजपा के शासन में देश ‘संवैधानिक संकट’ का सामना कर रहा है और यह पार्टी सरकार के गठन के लिए किसी भी हद तक गिर सकती है।

बता दें कि शनिवार की आधी रात एक नाटकीय अंदाज में अचानक भाजपा ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजीत पवार के समर्थन से सरकार का गठन किया है। भाजपा के देवेंद्र फडणवीस और एनसीपी के अजीत पवार ने शनिवार की सुबह क्रमश: मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

मीर ने यहां विरोध मार्च के इतर संवाददाताओं से कहा,

देश महाराष्ट्र के घटनाक्रम देख रहा है और यह शायद अपनी तरह का पहला नाटक है जो बेकरार भाजपा ने सत्ता हथियाने के लिए किया है। भाजपा कल तक नेता (अजीत पवार) पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा रही थी। भाजपा ने अपने गंगाजल से रात भर में ही उन्हें शुद्ध कर दिया।’

देश में उत्पन्न कथित आर्थिक संकट के खिलाफ कांग्रेस के राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन के हिस्सा के रूप में मीर शहीदी चौक स्थित पार्टी कार्यालय से उपायुक्त कार्यालय तक कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे थे। इस दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा गया।

वहीं राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को हटाकर मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री को शपथ दिलाये जाने की नैतिकता पर सवाल उठाते हुए कहा कि महाराष्ट्र में जो हुआ वह छिपकर करने की क्या आवश्यकता थी, इस प्रकार अचानक राष्ट्रपति शासन का हटना और इस प्रकार शपथ दिलाना कौन-सी नैतिकता है?

महाराष्ट्र में बदले राजनीतिक समीकरण पर प्रतिक्रिया देते हुए गहलोत ने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री दोनों अंतरात्मा से दोषी होकर शपथ ली है और वे महाराष्ट्र में सुशासन दे पाएंगे इसमें संदेह है, जिसका नुकसान महाराष्ट्र की जनता को होगा।

गहलोत ने ट्वीट पर कहा कि ये लोग देश में लोकतंत्र को किस दिशा में ले जा रहे हैं। समय आने पर देशवासी इसका जवाब देंगे और भाजपा को सबक सिखाएंगे।

उन्होंने कहा,

‘इस माहौल में फडणवीसजी मुख्यमंत्री के रूप में कामयाब हो पाएंगे, यह डाउटफुल है… सीएम और डिप्टी सीएम दोनों ने गिल्टी कॉन्शियस होकर शपथ ली है वे गुड गवर्नेंस दे पाएंगे इसमें संदेह है जिसका नुकसान महाराष्ट्र की जनता को होगा।’

महाराष्ट्र में हुई राजनीतिक घटनाक्रम के बाद कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इस गठबंधन को असंवैधानिक बताते हुए शनिवार को कहा कि शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी को अपनी ताक़त ज़मीन पर दिखाकर मुंबई की सड़कों पर उतरना चाहिए।

उन्होंने दावा किया कि अजीत पवार अकेले इस भाजपा नीत नई सरकार में शामिल हुए हैं और एनसीपी का कोई अन्य विधायक इस सरकार में शामिल नहीं होगा।

सिंह ने ट्विटर पर लिखा, ‘महाराष्ट्र के महामहिम राज्यपाल महोदय (भगत सिंह कोश्यारी) से मेरे कुछ बुनियादी प्रश्न हैं। पहला, क्या राज्यपाल जी को एनसीपी द्वारा समर्थन का कोई पत्र मिला है?  दूसरा सामान्य रूप से राज्यपाल को एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल का विधायकों के हस्ताक्षर वाला पत्र मिलने के बाद ही शपथ के लिए आमंत्रित करना चाहिए था। तीसरा यदि ऐसा नहीं किया गया है तो क्या महामहिम राज्यपाल ने संविधान का उल्लंघन नहीं किया है?’

उन्होंने कहा,

‘शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस को अपनी ताक़त ज़मीन पर दिखाकर सड़कों पर उतरना चाहिए। देखते हैं मुंबई और महाराष्ट्र की जनता किसके साथ है?’

दिग्विजय ने लिखा, ‘तीनों पार्टियों के लिए यह अस्तित्व का सवाल है। विशेषकर उद्धव (ठाकरे) और ठाकरे परिवार के लिए यह प्रतिष्ठा का प्रश्न है।’

उन्होंने कहा कि यह जरा भी आश्चर्यचकित नहीं करता कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता को चुनावी नारा दिया था- ‘न खाऊंगा, न खाने दूंगा।’ लेकिन अब प्रधानमंत्री मोदी का नारा है– ‘ख़ूब खाओ और ख़ूब खाकर-खिलाकर भाजपा में आ जाओ’ और प्रवर्तन निदेशालय, सीबीआई तथा आयकर विभाग से मुक्ति पाओ। क्योंकि मोदी है तो सब कुछ मुमकिन है।

दिग्विजय ने कहा कि पाप का यह घड़ा फूटकर रहेगा। ट्वीट के बाद मीडिया के सवालों के जवाब में दिग्विजय ने कहा कि महाराष्ट्र में हुए नाटकीय घटनाक्रम को लेकर कांग्रेस भी शिवसेना के साथ मुंबई की सड़कों पर प्रदर्शन करने के लिए उतरेगी।

उन्होंने दावा किया कि एनसीपी नेता अजीत पवार अकेले ही भाजपा के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार में शामिल हुए हैं और एनसीपी का अन्य कोई विधायक पार्टी छोड़कर अजीत पवार के साथ नहीं जाएगा।

दिग्विजय ने कहा, ‘महाराष्ट्र में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान देवेंद्र फड़णवीस ने अजीत पवार के खिलाफ भ्रष्टाचार के मुद्दे बड़े जोर-शोर से उठाए थे। अब दोनों साथ आ गए हैं। भ्रष्टाचार के इन मुद्दों का अब क्या होगा।’  भाजपा और अजीत पवार का यह गठबंधन असंवैधानिक है। भाजपा ने ऐसा ही गोवा, मेघालय और मणिपुर में भी किया है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

जमशेदपुर के 8 और रांची के 6 समेत 20 अलकायदा आतंकियों की तलाश जारी
सुप्रीम कोर्ट से सजा मिलते ही भूमिगत हुए जस्टिस कर्णन!
एक सफल फैशन डिजाइनर बनने के पहले इस तरह करें खुद को तैयार
उत्तर प्रदेश में जीत को लेकर आश्वस्त हैं राहुल गांधी
वायरल ऑडियो से उभरे सबालः कौन है मुन्ना मल्लिक? कौन है साहब? राजगीर MLA की क्या है बिसात?
कौन है संगीन हथियारों के साये में इतनी ऊंची रसूख वाला यह ‘पिस्तौल बाबा’
तीन तलाक को राष्ट्रपति की मंजूरी, 19 सितंबर से लागू, यह बना कानून!
आधार कार्ड का सॉफ्टवेयर हुआ हैक, कोई भी बदल सकता है आपका डिटेल
तेजस्वी का बड़ा ट्वीटः बिहार में अमित शाह देते थे घूस, सुशील मोदी की विडियो से खुलासा
ये हैं चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा और उन पर सवाल उठाने वाले 4 जज
धर्मांतरण, घर वापसी और धर्मयुद्ध
BRD मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में फिर हुई 72 घंटे में 46 बच्चों की मौत
रूखाई पैक्स गोदाम में महीनों से जारी था शराब का यह बड़ा गोरखधंधा, संदेह के घेरे में पूर्व अध्यक्ष
गुजरात मॉडलः 7 डॉक्टर और 450 इंजीनियरों ने एक साथ ज्वाइन की चपरासी की नौकरी !
एक करोड़ के ईनामी ये 2 माओवादी ने सरकार मांग रखी है देहदान की ईच्छा  
न्यू एंंटी करप्शन लॉ के तहत अब सेक्स डिमांड होगी रिश्वत
ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !
'इ जनता बा मोदी जी! दौड़ा-दौड़ा के सवाल पूछी'
सोशल मीडिया की 'अफवाह' हुआ सच, अराजक बना बिहार
नक्सलियों ने फूंका डुमरी बिहार रेलवे स्टेशन, मालगाड़ी इंजन में लगाई आग,स्टेशन मास्टर-ड्राइवर के वॉकी...
मलमास मेला की जमीन पर अतिक्रमण के खिलाफ आवाज उठाने वालों पर केस दर्ज
कमिश्नर के घर जाने वाली CBI टीम को कोलकाता पुलिस ने हिरासत में लिया
राम भरोसे चल रहा है झारखंड का बदहाल रिनपास
रांची के रिम्स में लालू से मिलकर यूं गरजे बिहारी बाबू- ‘खामोश’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter