» एक दशक बाद सलमान खान का ब्रिटेन में द-बंग टूर   » जुड़वा 2 का ट्रेलर जारी, राजा व प्रेम के किरदार में वरुण धवन   » नई दिल्ली की सेटिंग के बाद एक मंच पर आये अन्नाद्रमुक के नेता,पन्नीरसेल्वम होगें DCM   » ‘नाजिर की मौत पर गरमाई राजनीति, महाव्यापमं की राह पर सृजन घोटाला’   » सनातन धर्मावलंबियों की सुसभ्य संस्कृति वाहक है मंदार पर्वत   » लापरवाही की हदः गोरखपुर BRD मेडिकल कॉलेज में 5 दिनों में 60 की मौत   » गोरखपुर BRD मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई ठप होने से 30 बच्चों की मौत   » ममता बनर्जी ने शुरु की ‘भाजपा भारत छोड़ो आंदोलन’   » शर्मनाकः विश्व प्रसिद्ध नालंदा में सैलानियों को सामान्य सुविधाएं भी नसीब नहीं !   » कल CM,PMO,DGP,DIG,SSP,CSP को भेजा ईमेल, आज सुबह पेड़ से यूं लटकता मिला उसका शव    

भांग गटक 25 समोसे खाई, फिर कॉन्डम से खेली होली

Share Button

ड्रामा क्वीन राखी सावंत को बचपन से होली का शौक रहा है और होली पर भांग खाने का उन पर एक बार ऐसा असर हुआ कि वो 25 समोसे भी खा गईं। राखी सावंत  ने ये बात एक बातचीत के दौरान कही।

राखी सावंत  अपने पुराने दिनों की होली की बात याद करते हुए कहा की ”बड़े होकर फिल्म इंडस्ट्री में ही यादगार होली खेली है। कॉलेज जाने के लिए पैसे नहीं थे। इसलिए कॉलेज की कोई होली याद नहीं है।”

राखी सावंत  ने बताया कि इस बार वो भांग खाकर होली मनाएंगी। इस बार भी भांग का ऑर्डर दिया हुआ है। भांग खाते ही जय जय शिव शंकर करने लगती हूं। भोलेनाथ चढ़ जाते हैं। दिलो दिमाग पर। भांग खाने के बाद पता नहीं चलता कि करते क्या है।

राखी सावंत ने बताया की एक बार भांग खाकर वो लगभग 25 समोसे खा गई थीं। पूरा दिन खाते रहती थीं। बाद में डर लगा कि वजन बढ़ जाएगा तो बाद की होली में हम लोग सलाद खाकर दिन निकालते थे, लेकिन भांग पीने के बाद पता नहीं क्या हो जाता है, समझ में नहीं आता, हँसते रहते  है। जहां जहां होली खेलते है वहां चले जाते है।’

राखी कहती हैं कि बचपन में चॉल में उन्हें लोग गुब्बारे मारते थे। कपड़े ख़राब हो जाते थे। वो भी गुब्बारे मार कर बदला लेती थीं। सावंत ने अपनी यादगार होली का किस्सा सुनाते हुए कहा कि बचपन में जब उन्हें होली खेलने के लिए गुब्बारे नहीं मिलते थे, तो वह कॉन्डम का इस्तेमाल कर होली खेलतीं थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pin It on Pinterest