भड़काउ भाषण और दिल्ली पुलिस को लेकर हाई-सुप्रीम कोर्ट सख्त, कहा- 1984 दोहराने नहीं देंगे

Share Button

INR डेस्क.   उत्तर पूर्वी दिल्ली इलाके में हिंसा को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान दिल्ली हाई कोर्ट ने पुलिस कमिश्नर को भड़काऊ वीडियो देखने के निर्देश दिए हैं। साथ ही तुरंत प्रथमिकी दर्ज कर कड़ी कार्रवाई के लिए भी कहा है। सुनवाई के दौरान उस पुलिस अधिकारी नाम भी पूछा, जो भाजपा नेता कपिल मिश्रा  के भड़काऊ भाषण देने के दौरान मौजूद था…

उधर, दिल्ली में सोमवार को हुई हिंसा में अधिकारिक तौर पर अब तक कुल 26 से उपर लोगों की मौत हो चुकी है और भारी संख्या में लोगों के घायल होने की सूचना मिल रही है।  इस बीच पुलिस ने बड़ा कदम उठाते हुए 5 आइपीएस अफसरों का तबादला कर दिया है।

बुधवार को दिल्ली पुलिस कड़ी कार्रवाई करते हुए धरने पर बैठे प्रदर्शनकारियों का हटा रही है। इसी कड़ी में पूर्वी दिल्ली के खुरेजी में प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हटा दिया है।

कार्रवाई के दौरान प्रदर्शकारी सड़क पर आ गए थे, जब भीड़ बेकाबू होने लगी तो पुलिस ने आंसू गैस के चार गोले भी छोड़े। कार्रवाई के दौरान बाधा उत्पन्न करने पर कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां को पुलिस ने हिरासत में लिया है। यहां पिछले कई दिनों से सीएए के विरोध में धरना प्रदर्शन चल रहा था।

इस बीच दिल्ली पुलिस ने बड़ा कदम उठाते हुए पांच आइपीएस अफसरों का तबादला कर दिया है। दिल्ली हाई कोर्ट ने हिंसा पर दायर याचिका पर बुधवार को सुनवाई के दौरान कहा कि दिल्ली में एक और 1984 नहीं होनें देंगे।

वहीं, उत्तर पूर्वी दिल्ली में हिंसा को लेकर हाई कोर्ट ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री हिंसा प्रभावित इलाकों में दौरा करें और लोगों में विश्वास जगाएं।

दिल्ली हिंसा में अब जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 26 पहुंच गई है। उसमें दिल्ली के गुरु तेग बहादुर अस्पताल में 21 तो एक शख्स की मौत लोक नायक जनप्रकाश नारायण अस्पताल में हुई है। उधर, 500 से अधिक लोग उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा में घायल हैं, जिन्हें विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

दिल्ली में जारी छिटपुट हिंसा के बीच अब इस पर राजनीति भी शुरू हो गई है। सोनिया गांधी द्वारा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को घेरने पर BJP नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर राजनीति कर रही है।

उन्होंने कहा कि हिंसा के लिए केंद्र सरकार पर दोष लगाना गंदी राजनीति है। अमित शाह को लेकर प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि वह जहां भी रहे, वहां पर लगातार काम करते रहे।

दिल्ली में हिंसा को लेकर पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि पुलिस और तमाम एजेंसियां मिलकर शांति स्थापित करने में जुटी हैं। साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की है कि शांति बनाए रखें।

वहीं, उत्तर पूर्वी दिल्ली में सोमवार और मंगलवार को हुई हिंसा के बाद धीरे-धीरे शांति वापस लौट रही है और ज्यादातर जगहों पर हालात सामान्य हो रहे हैं। इस बीच हिंसा के बाद दशहत का माहौल कायम है। ब्रजपुरी में लोगों ने परिवार के साथ घर छोड़ना शुरू कर दिया है।

दिल्ली में जारी छिटपुट हिंसा के बीच पुलिस ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में सुरक्षा बढ़ा दी है। इस बीच सीलमपुर इलाके में पुलिस ने घोषणा की है कि यहां पर एक महीने के लिए धारा-144 लागू कर दी गई है।

वायरल वीडियो में एक पुलिस वाला कहता नजर आ रहा है- एक महीने के लिए धारा-144 लगा दी गई है…यहां कोई भी व्यक्ति नजर ना आए… अभी तुम्हें प्यार से बताया जा रहा है…फिर सख्ती से बताया जाएगा…. दुकानें बंद कर दो यहां।

दिल्ली में हिंसा को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई करने के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस के रुख से नाराजगी जताई है। जस्टिस केएम जोसेफ ने कहा कि पुलिस को तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए थी।

वहीं, दिल्ली में पिछले तीन दिनों से जारी हिंसा में अब तक 21 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 200 से अधिक घायल बताए जा रहे हैं। बुधवार सुबह चांद बाग में हत्या कर नाले में फेंके गए दो युवकों में से एक का शव बरामद कर लिया गया है, जबकि दूसरी तलाश जारी है। 

उत्तर पूर्वी दिल्ली में हालात पर काबू पाने के लिए दिल्ली पुलिस के साथ पैरामिलिट्री के जवानों ने भी मोर्चा संभाल लिया है। इसी के साथ प्रभावित इलाकों में सुरक्षा बलों को मार्च शुरू हो गया है। जौहरीपुर इलाके में जवान सुबह से ही मार्च कर रहे हैं।

  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि हालात खतरनाक हैं और चेतावनी देने वाले हैं। पुलिस पूरी कोशिश के बाद हालात पर काबू नहीं पा सकी है। ऐसे में हालात पर काबू पाने के लिए सेना को बुलाया जाना चाहिए और प्रभावित इलाकों में कर्फ्यू लगाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस बाबत मैं केंद्रीय गृह मंत्री को पत्र लिखूंगा।

 दिल्ली पुलिस की सख्ती के बावजूद बुधवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली के गोकलपुर टायर मार्किट में उपद्रवियों ने आग लगा दी है। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े हैं।

 दिल्ली में चल रही हिंसा को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट  में बुधवार को सुनवाई होगी। इस बाबत कोर्ट ने नोटिस जारी कर दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को पेश होने के लिए कहा है।

 दिल्ली में सीएए और एनआरसी के विरोध और समर्थन को लेकर छिड़ी हिंसा के बाद गौतमबुद्धनगर के दनकौर कोतवाली प्रभारी ने सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही लोगों को जागरूक करने का भी प्रयास किया जा रहा है।

 केंद्र सरकार के सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि एनएसए ने स्पष्ट कर दिया है कि दिल्ली में अराजकता नहीं होने दी जाएगी और पर्याप्त संख्या में पुलिस बल और अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस को फ्री हैंड दिया गया है।

 बता दें कि एनएसए अजीत डोभाल को दिल्ली हिंसा को नियंत्रण में लाने का प्रभार दिया गया है। वह स्थिति के बारे में पीएम और मंत्रिमंडल को जानकारी देने जा रहे हैं।

 उत्तरी पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में मेट्रो स्टेशन खुल गए हैं जो पिछले तीन दिन स्टेशन बंद थे। इससे लोगों को काफी राहत मिली है, खासकर नौकरीपेशा लोगों को। यहां पर फिलहाल हिंसा की खबर नहीं है, जो पुलिस के साथ-साथ लोगों के लिए भी राहत की बात है।

 दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह ने आदेश दिया है कि गौतम बुद्ध नगर से सीमावर्ती दिल्ली में घटित घटनाओं को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में सीमा की 3 किलोमीटर की दूरी तक शराब की दुकानें 26 फरवरी को बंद रहेंगीं।

 दिल्ली में हो रही हिंसा को देखते हुए पड़ोसी उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में खास सतर्कता बरती जा रही है। मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली सीमा में लोग धीरे-धीरे इकट्ठा हो रहे हैं, ऐसे में सुरक्षा के नजरिये से यूपी सीमा पर भारी पुलिस बल को तैनात किया गया है। इससे पहले बुधवार को जीटीबी अस्पताल में 5 और लोगों की मौत हो गई, ऐसे में अब तक हिंसा में कुल 18 लोगों की जान जा चुकी है।

 यमुनापार में शांति स्थापित करने के लिए क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता भी जी जान से जुटे हुए हैं। वह लोगों को समझा रहे हैं कि हिंसा से किसी को फायदा नहीं है। परीक्षाएं चल रही हैं, बच्चों की परीक्षाएं हिंसा की वजह से छुट जाती है तो उनका भविष्य बर्बाद हो जाएगा। सामाजिक कार्यकर्ताओं का यह प्रयास बुधवार को भी जारी है।

सोमवार-मंगलवार को हुई हिंसा के दौरान भजनपुरा इलाके में पेट्रोल पंप के पास 100 से ज्यादा वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। इन वाहनों में कार और बाइक दोनों थी। चांदबाग भी जबरदस्त हिंसा की गई है, यहां भी वाहन जले मिले हैं।

दिल्ली में पिछले तीन दिनों से हो रही हिंसा को देखते हुए दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के आदेश पर बुधवार को भी उत्तर पूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में स्कूल बंद हैं। यहां पर स्कूल सोमवार को भी बंद थे। 

 दिल्ली में हिंसा को लेकर पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से BJP सांसद गौतम गंभीर ने भाजपा नेता कपिल मिश्रा पर इशारों-इशारों में कार्रवाई की बात कही है। वहीं, पार्टी नेतृत्व भी कपिल मिश्रा से नाराज बताया जा रहा है।

 दिल्ली हिंसा को लेकर केंद्रीय मंत्री जी. किशन रेड्डी अहम बयान आया है। उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश की राजधानी दिल्ली में पूरी साजिश के तहत हिंसा फैलाई गई।

 केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने कहा कि CAA-NRC विरोधी प्रदर्शनों के नाम पर आगजनी और दंगा ‘पूरी तरह गलत’ है। साथ ही कहा कि जो लोग हिंसा में शामिल थे उन्हें मैं चेतावनी देता हूं कि सरकार आगजनी और हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ हमारी सरकार आवश्यक कड़ी कार्रवाई करेगी।

 उत्तर-पूर्वी दिल्ली में लगातार घट रही हिंसक घटनाओं के बाद बुधवार को भी स्कूल बंद हैं। वहीं, केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने उत्तर पूर्वी इलाकों के स्कूलों में होने वाली परीक्षा स्थगित करने का फैसला लिया है। सीबीएसई ने यह निर्णय उत्तर -पूर्वी जिले में हो रही हिंसा के चलते लिया है।

 दिल्ली मेट्रो रेल निगम की ओर से बुधवार सुबह सभी मेट्रो स्टेशन खुले हुए हैं और यात्रियों की आवाजाही सामान्य है। हिंसा प्रभावित उत्तर पूर्वी दिल्ली के सभी इलाकों में भी मेट्रो ट्रेन सामान्य चल रही हैं।

Share Button

Related News:

पटना जैसी जल-जमाव रूपी आपदा के कारण और निदान
दिल्‍ली पुलिस और टीम अन्‍ना के बीच शर्तों का खेल जारी
भाजपा के 'शत्रु'हन सिन्हा का एलान- पटना साहिब से ही लड़ेगें चुनाव
राष्ट्रपति ने राजीव गांधी के हत्यारों की दया याचिका खारिज करने में 5 वर्ष लगाए !
दैनिक प्रभात खबर प्रवक्ता को विधायक बना डाला
जस्टिस मुरलीधर के तबादले पर महिला आयोग का कड़ा एतराज
...और जार्ज साहब बन गए यूं डाइनामाइट लीडर
मामला रियल रिट्रीट होटल काः पूल पार्टी या नशा-सेक्स कारोबार ?
घाटी का आतंकी फिदायीन जैश का 'अफजल गुरू स्क्वॉड'
मुझे माफ करना अन्ना,मैं इन दलालों पर शर्मिंदा हूं.....
रेलवे सफर में ये आपके हैं अधिकार
लंदन से लौटकर 4 वीआईपी पार्टियों में डांस की थीं कनिका
शिबू सोरेन के समर्थन मे 81 सदस्यीय विधानसभा मे 44 विधायको ने राज्यपाल के सामने दावा ठोंका
समूचे देश में सजा है बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ के नाम पर ठगी का बाजार
जबरन खाना दिया तो अन्ना हजारे पानी भी न पीय़ेंगें
बिहार,झारखंड,यूपी,पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों में कोरोना से अधिक स्वाइन-बर्ड फ्लू महामारी का खतरा
बजट सत्र के बाद बदल जाएगा देश की उपरी सदन राज्यसभा का रंग
संजय यादव : विधायक नहीं,1नं.गुंडा है
...और खून से लथपथ इंदिरा जी का सिर अपनी गोद में रख सोनिया चल पड़ी अस्पताल
केट अपटन की हॉट कातिल अदाएं
गरजे तेजस्वी- ‘मेरे अंदर लालू जी का खून, मैं किसी से डरने वाला नहीं’
देश के निकम्मे सांसदो को भी चाहिए अब लालबती
पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की थी रोहित शेखर तिवारी की गला दबा हत्या
झारखण्ड: कौन बनेगा सीएम? आदिवासी या सदान?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
error: Content is protected ! india news reporter