» हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार   » प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !   » गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद   » इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरें  

बीजेपी दफ्तर को बम उड़ाया, पीएम मोदी की मेढ़क से तुलना, नीतीश पर भी प्रहार

Share Button

“नक्सलियों की चिट्ठी में पीएम नरेंद्र मोदी की तुलना मेंढक से की है और उसमें मुजफ्फरपुर बालिका गृह का भी जिक्र किया गया है…”

INR. 17वीं लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करते हुए झारखंड के पलामू में नक्सलियों ने भारतीय जनता पार्टी के चुनावी कार्यालय को बम से उड़ा दिया है। बीजेपी कार्यालय के पास नक्सलियों ने फायरिंग भी की।

बीजेपी का यह कार्यालय थाने से कुछ ही दूरी पर था। नक्सलियों ने घटनास्थल पर एक चिट्ठी भी छोड़ी है। जिसमे जनता से चुनाव बहिष्कार करने की अपील की गयी है।

नक्सलियों ने पत्र के माध्यम से जनता की नई जनवादी सत्ता स्थापित करने की बात की है।

नक्सलियों की ओर से छोड़ी गई इस चिट्ठी में चुनावों के प्रति आक्रोश व्यक्त किया गया है। इस चिट्ठी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना मेंढक से की है।

चिट्ठी में दावा किया गया है कि जब चुनाव आते हैं तभी नेताओं को जनता का दुख-दर्द, भुखमरी, बेरोजगारी, विस्थापन, भ्रष्टाचार, गरीबी और कुपोषण का ध्यान आता है।

बिहार की नीतीश सरकार पर भी इस चिट्ठी के जरिए सवाल उठाए गए हैं। मुजफ्फरपुर बालिका गृह का भी जिक्र किया गया है।

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास का जिक्र करते हुए इस चिट्ठी में लिखा है कि सरकार ने वनवासियों, आदिवासियों को जंगली-पहाड़ी क्षेत्रों से विस्थापित कर प्राकृतिक संसाधनों व खनिज संपदाओं को लूटने के लिए कॉरपोरेट को सौंप दिया है।

इस चिट्ठी में राफेल सौदा घोटाला, विजय माल्या, नीरव मोदी और नोटबंदी का भी जिक्र किया है।

राज्य और केंद्र सरकार पर पहाड़ों और मूलवासियों को विस्थापित करके प्राकृतिक संसाधनों व खनिज संपदाओं को कॉरपोरेट घरनों को सौंपने का भी आरोप लगाया है।

इस हमले में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Share Button

Related News:

यूं टूट रहा है ब्रजेश ठाकुर का 'पाप घर'
भारत बंद:  समूचे देश में हुआ सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में हिंसक प्रदर्शन
‘सीएम नीतीश का माफिया कनेक्शन किया उजागर, अब पूर्व IPS को जान का खतरा’
यूं गेंहू काटने वाली 'बंसती' को जिताने 'वीरू' पहुंचे मथुरा, बोले- मैं  किसान हूं
न भूलेंगे, न माफ करेंगे, बदला लेंगे :CRPF
प्रसिद्ध हास्य कवि प्रदीप चौबे की कैंसर से मौत
एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की 'आपातकाल' की पृष्ठभूमि
विदेश सचिव का बयान- सिर्फ आतंकी थे टारगेट, 300 मारे गए   
यहां तो गूंगे बहरे बसते है, खुदा जाने कहां जलसा हुआ होगा ?
हत्यारोपी BJP MLA संजीव सिंह की जेल में रोजाना सजते दरबार और लालू पर कसे शिकंजे को लेकर उठे सबाल
आयुष्मान योजना की सौगात के साथ पीएम मोदी ने कही ये खास बातें
पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की थी रोहित शेखर तिवारी की गला दबा हत्या
राजगृह के वैभारगिरी पहाड़ी पर हुई थी बौद्ध ग्रंथ त्रिपिटक की पहली संगीति
ममता की रैली में शामिल हुए भाजपा के 'शत्रु', पार्टी ने दिए कार्रवाई के संकेत
घर के शेर विदेश में ढेर, 2 टेस्ट और 4 पारियां, 803 रन भी नहीं बना पाई टीम इंडिया
बिहारी बाबू का फिर छलका दर्द ‘अब भाजपा में घुट रहा है दम’
3 स्टेट पुलिस के यूं संघर्ष से फिरौती के 40 लाख संग धराये 5 अपहर्ता, अपहृत भी मुक्त
यूं फुटपाथ पर जूता सिल जिंदा है आगरा का राष्ट्रपति जीवन रक्षा पदक विजेता
यहां टेंडर मैनेज कराने वाले सीएम क्या रोकेगें भ्रष्टाचार : बाबू लाल मरांडी
'द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर' को लेकर हाई कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल
नीतीश ने सबसे अधिक किसानों,युवाओं और गरीबों को पहुंचाई तकलीफः अखिलेश यादव
ढींढोर पीटने वाले, फौजियों के इस गांव में कहां पहुंचा विकास
बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !
कमिश्नर के घर जाने वाली CBI टीम को कोलकाता पुलिस ने हिरासत में लिया

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter