बिहार के विश्व प्रसिद्ध व्यवसायी सम्प्रदा सिंह का निधन

Share Button

पढ़-लिखकर खेती करने आए संप्रदा सिंह को देख गांव के लोग कहते थे ‘पढ़े फारसी बेचे तेल, देखो रे संप्रदा का खेल।’ खेती में नाकाम रहने के बाद संप्रदा सिंह एक लाख रुपए पूंजी लेकर मुंबई गए और दवा कंपनी शुरू की…..…”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। एल्केम ग्रुप ऑफ कम्पनीज के मालिक सम्प्रदा सिंह का निधन हो गया है। इनके निधन से उद्योग जगत में शोक की लहर व्याप्त है। मुम्बई में ही नहीं, बिहार में भी शोक की लहर दौड़ गई है।

1925 में बिहार के जहानाबाद में मोदनगंज प्रखंड के ओकरी गांव में संप्रदा सिंह का जन्‍म हुआ था। उनके पिता एक साधारण किसान थे। उन्‍होंने पटना यूनिवर्सिटी से बीकॉम की पढ़ाई की।

इसके बाद उन्‍होंने पॉलिटिकल साइंस में पोस्‍ट ग्रेजुएशन भी किया। पटना यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करने के बाद संप्रदा सिंह खेती करना चाहते थे।

पढ़-लिखकर खेती करने आए संप्रदा सिंह को देख गांव के लोग कहते थे ‘पढ़े फारसी बेचे तेल, देखो रे संप्रदा का खेल।’ संप्रदा सिंह के पिता के पास करीब 25 बीघा जमीन थी। खेती में नाकाम रहने के बाद संप्रदा सिंह एक लाख रुपए पूंजी लेकर मुंबई गए और दवा कंपनी शुरू की।

उन्होंने अल्‍केम लैबोरोटरीज नाम की कंपनी बनाई और दूसरे की दवा फैक्ट्री में अपनी दवा बनवाई। दवा की मांग बढ़ने पर संप्रदा सिंह ने अपनी दवा फैक्ट्री शुरू कर दी। उसके बाद उनकी कंपनी चल पड़ी।

फोर्ब्‍स ने दुनिया के अरबपतियों की 2018 की लिस्‍ट जारी की थी। उस लिस्‍ट में अल्‍केम लैबोरेटरीज के चेयरमैन इमेरिटस संप्रदा सिंह 1867 पायदान पर थे।

फोर्ब्स की ‘द वर्ल्ड बिलियनेयर्स लिस्ट 2018’में संप्रदा सिंह 1.2 अरब डॉलर की दौलत के साथ 1,867वें पायदान पर रहे। सिंह ने 45 साल पहले फार्मा कंपनी अल्‍केम की स्थापना की थी।

अपनी मेहनत और काबिलियत के बल पर 26 हजार करोड़ रुपए से ज्‍यादा की वैल्‍यूएशन वाली कंपनी खड़ी करने वाले संप्रदा सिंह कभी एक केमिस्‍ट शॉप पर नौकरी किया करते थे।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

बिहारः पुलिस तंत्र पर भारी बालू माफिया, मुठभेढ़ में DSP समेत कई जख्मी, एक ग्रामीण की मौत
कैसे हो रहा है ICSE बोर्ड का संचालन? DSE से लेकर PMO तक नहीं है जानकारी!
JNU में नकाबपोश गुंडो का हमला,आइशी घोष समेत करीब 150 छात्र जख्मी, कई गंभीर
बिहारः लापता 34 सरकारी दफ्तरों की तलाश जारी, अभी कोई सुराग नहीं
जानिएः कौन है चंदन सिंह, जिसने केन्द्रीय मंत्री गिरीराज सिंह को लगाया ठिकाना
बिहार की ये तिकड़ी संभालेगें इन राज्यों की कमान, शिक्षा माफियाओं के दवाब में हटाए गए मल्लिक?
BSNL देगी यूजर्स को फ्री 1जीबी डेटा
शिक्षा को संभालने में नीतिश सबसे असफल सीएम
JUJ के पत्रकारों को सुरक्षा और न्याय के संदर्भ में झारखंड DGP ने दिये कई टिप्स
IIMC तक पहुंची JNU की आंच, महंगी फीस का विरोध
राजनीतिक दोस्तों के भी रियल 'शत्रु' हैं बिहारी बाबू !
‘2020,हटाओ नीतीश’ वनाम ‘2020,फिर से नीतीश’
समझिए समय की मांग, त्यागिए सरकारी नौकरी का मोह, जरुरी है यह
राम ही खुद तय करेगें अयोध्या में मंदिर निर्माण की तारीखः योगी आदित्यनाथ
कुख्यात मीडियाई दरिंदा ब्रजेश ठाकुर समेत 19 लोग दोषी करार, 28 को मिलेगी सजा
पटना के GV मॉल में लगी भीषण आग, यूं हुआ करोड़ो की संपति स्वाहा
सिद्धांतहीन नीतीश की इस बार अंतिम पलटीः लालू यादव
दैनिक भास्कर रोहतक के एडीटोरियल हेड जितेंद्र श्रीवास्तव ने ट्रेन से कटकर की आत्महत्या
नालंदा में गजब हो गया, अंतिम सुनवाई के दिन लोशिनिका से रेकर्ड गायब, मामला राजगीर मलमास मेला सैरात भू...
राजगीर वाइल्ड लाइफ सफारी पार्क निर्माण पर रोक
शिवसेना सांसद का बड़ा सवाल- ‘16 अगस्त को ही हुआ था वाजपेयी का निधन?’
देश के इन 112 विभूतियों को मिले हैं पद्म पुरस्कार
एक इंटरनेशनल गोल्ड मेडलिस्ट खिलाड़ी, जो दूसरों की खेत में चला रहा हल-कुदाल
विशेष श्रद्धांजलिः ...तब जहानाबाद में 12 किलोमीटर पैदल चले थे कुलदीप नैयर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter